चेहरे के लिए नीम के लाभ तथा 9 बेहतरीन घरेलू उबटन

नीम के पेड़ का उपयोग न सिर्फ आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धती में बल्कि दुनिया भर की अन्य चिकित्सा प्रणालियों में किया जाता है | इसको स्वास्थ्य और सुंदरता दोनों के लिए प्रयोग किया जाता है चेहरे पर नीम लगाने के भी कई फायदे है जो इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक बताये गए है | आज के इस आधुनिक युग में जहां दवाइयों-रसायनों आदि का प्रयोग दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है| नीम का पेड़ आधुनिक युग में भी हमारे लिए एक वरदान से कम नहीं है। बल्कि आजकल इसका उपयोग बहुत सारी देसी और विदेशी कम्पनिया अपने उत्पादों में बहुत बड़ी मात्रा में कर रही है |  नीम का स्वाद पहले कड़वा बाद में मीठा अर्थात् गुणकारी होता है। यूनानी चिकित्सा पद्धति में इसका प्रयोग किया गया है।

बहुत सारे लोग अपने शरीर को स्वस्थ, सुडौल और आकर्षक कैसे बनाए रखने के लिए ब्यूटी पार्लर या रसायनयुक्त प्रसाधनों का सहारा लेते हैं, लेकिन दोनों ही रास्ते भरोसेमंद नहीं होते है | रसायनयुक्त प्रसाधन सामग्रियां कई बार फायदा पहुंचाने के बजाय नुकसान ही पहुंचाते हैं। किसी नकली या घटिया गुणवत्ता वाले प्रोडक्ट से तो कई स्त्री पुरुषो का रहा-सहा प्राकृतिक सौंदर्य भी जाता रहता है, लेकिन नीम के पेड़ से बने विभिन्न उपायों के प्रयोग से जहां धन और समय की बचत होती है वहीं आप अपने शरीर को भी प्राकृतिक रूप से स्वस्थ रख पाएँगे वो भी बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के,  तो आइये देखते है नीम के उपयोग से बने कुछ घरेलू नुस्खे जो आपके चेहरे की त्वचा तथा बालों का ख्याल रखने में सहायक सिद्ध होंगे | Neem Benefits For face, hairs & Skin.

नीम के फायदे चेहरे के लिए

चेहरे पर नीम लगाने के फायदे neem ke fayde face balo skin ke liye

नीम के फायदे चेहरे के लिए

  • नीम चेहरे की त्वचा को टाइट और टोन करता है। यह आमतौर पर त्वचा पर होने वाले क्रैक्स और फ्रेकल्स (चित्ती) को भरता है। नीम का पानी त्वचा पर आई झुर्रियों को हटा उसे टोन करता है। नीम की पत्ती के पाउडर और पिसी हुई गुलाब की पंखुड़ी को नीबू के रस के साथ मिलाकर लगाने से त्वचा में ग्लो आता है और त्वचा टाइट होती है।
  • चेहरे पर होने वाली सारी परेशानियों का इलाज है नीम। यह त्वचा पर होनेवाले ब्लैक स्पॉट और ब्लैक हेड्स के लिए रामबाण इलाज है। इसे फेस पैक में मिलाकर लगाने या इसके पानी से फेस वॉश करने से ब्लैक स्पॉट आसानी से कम हो जाते हैं।
  • नीम के पानी (पानी में नीम के पत्तों को डालकर गरम करना) में कई एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्त्व होते हैं। यह बढ़ते-घटते टेम्परेचर की वजह से त्वचा पर होनेवाली इंफ्लेशन (सूजन और जलन) को दूर रखने में मदद करता है। इंफ्लेमेटरी बीमारियों में अर्थराइटिस, हेपाटाइटिस, अल्जाइमर, अस्थमा आदि रोग आते हैं।
  • नीम एंटी-बैक्टीरियल तत्त्वों से भरा हुआ है। इन्हीं तत्त्वों की वजह से यह त्वचा से एंकेज को दूर रखता है। यह चेहरे से काले सूखे मुंहासों को खत्मकर देता है। इसीलिए इसे दूध या शहद या फिर फेस पैक में डालकर लगाना चाहिए।
  • नीम में पाए जानेवाले न्यूट्रीएंट्स त्वचा को क्लिन और टॉक्सिन फ्री रखते हैं। यह त्वचा को हमेशा साफ और पिंपल, रिंकल से दूर रखने में मदद करता है। जिससे त्वचा खूबसूरत और खिली हुई लगती है। साथ ही यह उन टॉक्सिन और जर्स को भी दूर रखता है जो त्वचा को बूढ़ा करने के जिम्मेदार होते हैं।
  • नीम के इस फेस पैक से लाए कोमलता : 3 टी स्पून धुली मूंग की दाल में 1 टी स्पून मेथी के पत्ते, 1 टी स्पून संतरे के सूखे छिलके और 1 टी स्पून नीम पाउडर को एक साथ मिलाकर पीस लें। फिर इसमें 1 चम्मच ऑलिव ऑयल, आमंड ऑयल या गुलाबजल मिलाकर त्वचा पर 10 मिनट तक लगाएं तथा कुछ देर बाद मलते हुए हटाएं, अंत में सादे पानी से धो लें। यह मृत त्वचा हटाकर नए कोशों को विकसित करता है और त्वचा पर चमक लाता है।
  • नीम की पत्ती उबाल कर छान लें । ठंडा हो जाने पर उसमें 3-4 बूंद कागजी नींबू का रस थोड़ा-सा चन्दन का चूर्ण और मुल्तानी मिट्टी मिला दें । इस लेप को चेहरे पर घंटा भर लगाएं फिर ठंडे पानी से धो डालें । चेहरे में ताजगी आ जाएगी ।
  • नीम की पत्ती पीस कर इसके लेप को चेहरे पर लगाने से धूप के कारण झुलसी हुई त्वचा में आराम मिलता है । कम-से-कम 4-5 दिन तक यह क्रिया जारी रखनी चाहिए ।
  • नीम से बना घरेलू फेस पैक भी बहुत उपयोगी साबित होता है। नीम के पत्ते तथा दही और बेसन का पेस्ट बनाकर चेहरे पर फेस पैक की तरह लगाये । इससे जहां चेहरे का रंग खिल उठता है, वहीं चेहरे के दाग, मुंहासे भी खत्म होते हैं।
  • पिम्पल्स दूर करने के लिए नीम के पत्तो और तुलसी के पत्तो को गुलाब जल में मिलाकर बारीक पीस लें फिर इस पेस्ट को फेस पैक की तरह लगाये यह एक बेहतरीन फेस पैक होता है |
  • चेहरे पर होने वाले दाने, फोड़े, फुंसी को ठीक करने के लिए नीम के पत्तो को पानी हरा होने तक उबाल लें इस पानी से चेहरे को धोएं या चाहे तो नहा भी सकते है |
  • आधा कपनीम की पत्तियों का पेस्ट, एक चम्मच आटे का चौकर, दो चम्मच दही यह भी चेहरे की त्वचा के लिए बेहतरीन घरेलू उबटन है।
  • नीमका इस्तेमाल त्वचा को संक्रमण से बचाता है और त्वचा को स्वस्थ एवं संतुलित बनाता है। इससे कीलों को बनना रूक जाता हैं |
  • तैलीय त्वचा के लिए नीम फेस पैक – दो चमम्च नीम पाउडर लेकर उसमे आधा चमम्च नींबू का रस और थोड़ी सी दही मिलाकर त्वचा पर लगाये , यह अतिरिक्त त्वचा का तेल यानि सीबम को कम कर देता है जिससे तैलीय त्वचा ड्राई हो जाती है |
  • यदि मुंह पर कील-मुहांसे हैं और रंग भी सांवला है तो उसमें निखार लाने के लिए नीम की पत्तियों को सुखाकर उन्हें बारीक पीस लें। फिर उसमे मुल्तानी मिट्टी, नीम की पत्तियों का पाउडर, तीन-चार बूंद गुलाबजल डालकर पानी में घोलकर पेस्ट बना लें |अब इस पैक को प्रतिदिन नहाने से पहले चेहरे पर लगाएं तो कील-मुहांसे तो हटते ही हैं, साथ ही रंग भी साफ हो जाता है और चेहरे पर चमक भी आती है। यह भी जरुर पढ़ें – Neem के फायदे  (तेल, पत्ते, रस तथा छाल के 44 औषधीय गुण )
  • नीम का तेल चेहरे पर लगाने से काले दाग धब्बे झाइयाँ दूर हो जाते है |
  • Neem पाउडर और ग्रेप सीड तेल को मिलाकर फेस पैक बनाकर लगायें यह सूखी त्वचा के लिए बहुत लाभकारी है। यह सूखी त्वचा को फटने से रोकता है।

नीम के फायदे त्वचा तथा बालों के लिए

  • नीम की पत्तियां एंटी-बायोटिक, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-एलर्जिक होती हैं। इसी कारण यह सिर और बालों में होने वाली तकलीफों को भी दूर करता है। इसके लिए नीम की सूखी पत्तियों को पीसकर मेहंदी, आंवला, रीठा, शिकाकाई में मिलाकर बालों में एक घंटा लगाकर धोने से बाल काले व मुलायम होते हैं और डेंड्रफ भी दूर होता है।
  • बालों का झड़ना, उनका सफेद होना, बालों में रूसी होना एक आम समस्या है। यदि नाक में दो बूंद Neem का तेल डाला जाए तो बालों के झड़ने तथा उनके सफेद होने को रोका जा सकता है।
  • रूसी से छुटकारा पाने के लिए रात में नीम के तेल की मालिश सिर में करनी चाहिए। सुबह बालों को Neem के पानी से धो दें। यह नुस्खा हफ्ते में दो बार तीन माह तक करना चाहिए।
  • नीम के तेल का इस्तेमाल साबुन बनाने हेतु भरपूर होता है, इसलिए Neem से बने हर्बल साबुन इस्तेमाल करना चाहिए।
  • मौसम के बदलने पर Neem की पत्तियों को पीसकर उसका पानी निकालकर सेवन किया जाए तो खून साफ होता है व अनेक रोग दूर होते हैं।
  • नीम की छाल (उपरी छिलका ) निकालकर किसी पत्थर पर घिस कर उस पर Neem पेस्ट को फुंसियो पर लगाया जा सकता है इससे जल्द ही आराम मिलता है |
  • नीम की पत्तियों को तेल में भूनकर गुनगुना होने पर फोड़े, फुंसीव चोट लगे स्थान पर लगाएं, तुरंत आराम मिलेगा।
  • नीम की छाल को चंदन की तरह घिसकर बनाए गए लेप से घाव भर जाते हैं; कील-मुहाँसे, फोड़ा-फुंसी ठीक हो जाते हैं।

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

Leave a Reply