Author Archive

वात पित्त कफ का इलाज : त्रिदोष नाशक उपाय

आयुर्वेद के अनुसार प्रत्येक बीमारी त्रिदोष के असंतुलन से पैदा होती है इसलिए आयुर्वेदिक उपचार में मुख्य उद्देश्य वात पित्त कफ के इलाज द्वारा दिमाग तथा शरीर को संतुलित अवस्था में वापस लाना होता है। शरीर की पूरी प्रक्रिया दिमाग द्वारा नियंत्रित होती है | यह निम्नलिखित क्रियाओं को नियंत्रित तथा नियमित करता है- भूख,

ग्रीन टी पीने के फायदे तथा सावधानियां और बनाने की विधि

हाल के कुछ वर्षों में ग्रीन टी सबसे लोकप्रिय स्वास्थ्य वर्धक ड्रिंक के रूप में उभरी है। कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि ग्रीन टी केवल एक पेय-पदार्थ नहीं है, अगर सही तरीके से इसका सेवन किया जाए तो यह किसी हेल्थ-टॉनिक से कम नहीं है। ग्रीन टी क्या है – ग्रीन-टी

ठंड में इन मसालों और हर्ब्स की सहायता से रहे फिट

सर्दियों के मौसम की शुरुवात हो चुकी है ठंड में अक्सर सर्द हवाओ के चलने से जुकाम, फ्लू, खांसी, गला दर्द, सिरदर्द, बदनदर्द आदि रोगों की शिकायत आम बात है | बदलते मौसम के साथ हमारे शरीर को भी उसी हिसाब से अपने आपको ढालना पड़ता है जो कई बार नहीं हो पाता है और

सर्दी जुकाम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

जब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) कमजोर होती है तो विभिन्न बीमारियां होने लगती हैं  खास तौर से सर्दी जुकाम, खांसी, फ्लू जैसी आम बीमारियां बार-बार हो जाती हैं। छोटे-मोटे इन्फेक्शन या चोट भी बड़ी बीमारी का रूप ले लेते हैं। सर्दी जुकाम सभी मौसमो में होता है, लेकिन सर्दियों में सबसे अधिक

यूरिन इन्फेक्शन की बीमारी में क्या खाएं क्या ना खाएं

यूरिनरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (UTI) यानि यूरिन इन्फेक्शन, पेशाब में जलन या पीडा (Burning Pain in Urine) एवं गुर्दे संबंधी अनेक रोगों के कारणों से पेशाब में जलन पीड़ा होती है। तुरंत उपचार न किया जाए तो जलन बहुत कष्टकारी होती जाती है। कारण : यूरिन इन्फेक्शन होने के कारणों में मुख्य रूप से सुजाक, मूत्राशय

जौ के औषधीय गुण तथा स्वास्थ्य वर्धक लाभ

भारत में जौ (Barley) की खेती का इतिहास बहुत पुराना है वैदिक लोगो के लिए जौ की खेती ही मुख्य थी | हाल ही में वैज्ञानिकों ने 6000 वर्ष पुराने जौ के दानों के जीन्स का अनुक्रमण करने में सफलता प्राप्त की, इसका अर्थ यह है की जौ की खेती का इतिहास 6000 से 7000 साल पुराना है जो

निमोनिया में क्या खाएं क्या ना खाएं -Pneumonia Diet

निमोनिया (Pneumonia) संक्रमण की वजह से होने वाला फेफड़ों का रोग होता है। इस रोग में फेफड़ों के अंदरूनी हिस्सों में संक्रमण के कारण सूजन आ जाती है और भीतर के कोष्ठकों में द्रव्य इकट्ठा हो जाता है।  हवा में मौजूद बैक्टीरिया और वायरस सांस के माध्यम से फेफड़ों तक पहुंच जाता है। कई बार

हरड़ के फायदे और गुणकारी औषधीय उपयोग

हरड़ के बारे में एक कहावत मशहूर है कि जिस घर में हरड़ होती है वहां डॉक्टर नहीं आते हैं। आयुर्वेद शास्त्र में हरीतकी तथा अभया ही हरड़ के सबसे लोकप्रिय नाम है। रोगों को दूर करने के कारण हरड़ को ‘हरीतकी’ भी कहा जाता है। हरड़ का एक नाम प्रमथा’ भी है। इसका अर्थ