Author Archive

बुखार में खानपान : क्या खाएं और क्या ना खाएं

अन्य रोगों की तरह बुखार में भी सही खानपान का चुनाव आपको इस बीमारी से जल्दी ही छुटकारा दिला सकता है | दुनिया में सबसे ज्यादा पाई जाने वाली बीमारी बुखार ही है, जो कभी भी, किसी को भी, किसी भी मौसम में हो सकता है। शरीर का तापमान जब 98.4 डिग्री फारेनहाइट या 36.8

एनजाइना रोग के कारण, लक्षण तथा आधुनिक उपचार

असहनीय छाती का दर्द इोलने वाले एनजाइना के मरीजों की रक्त-धमनियों में वसा या कोलेस्टेरॉल जम जाने, उनमें रक्त के थक्के के फंस जाने अथवा उनमें सँकरापन आ जाने के कारण धमनियाँ रूक जाती हैं, जिसके कारण हमेशा धड़कने वाले हृदय को पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं मिल पाता, जिसके कारण सीने के दर्द से

पुरुषो को होने वाले रोगों का इलाज पतंजलि आयुर्वेद

जानिए पुरुषो के रोगों के इलाज पतंजलि आयुर्वेद में उपलब्ध औषधियों के बारे में | साथ ही यह जानिए की इन औषधियों का सेवन कैसे करें और क्या परहेज रखें | सन 2006 में पतंजलि आयुर्वेद की स्थापना हुई थी आज पूरी दुनिया भारत के प्राचीन ज्ञान योग एवं आयुर्वेद का लोहा मानती है | वर्तमान में पतंजलि

कमर दर्द के कारण व घरेलू आयुर्वेदिक उपचार

सर्दियों के मौसम में अकसर कम धूप लगने और ठंडी हवाओ की वजह से बुजुर्ग हो या जवान प्राय: सभी को  कमर दर्द तथा सूजन की समस्या हो जाती है। ज्यादातर सर्दियों में होने वाला पीठ का दर्द जोर से उठता है और ये दर्द देखते-देखते इतना बढ़ जाता है कि पीड़ित व्यक्ति ठीक से

गंजेपन के कारण, बचाव और आयुर्वेदिक उपचार

बालों की समस्याओं में सबसे गम्भीर समस्या बाल झड़ने और गंजेपन की है। हमारे सिर पर लाखों की संख्या में बाल होते हैं। नये बाल उगते रहते हैं और पुराने झड़ते रहते हैं। कुछ बाल झड़ जायें, तो चिन्ता की कोई बात नहीं। यह प्रकृति की स्वाभाविक प्रक्रिया है। हाँ, यदि बालों के गुच्छे के

डायबिटीज के साइड इफेक्ट्स तथा मधुमेह में अन्य बीमारियाँ

डायबिटीज एक जीवन भर चलने वाला रोग है। डायबिटीज रोगी अगर सावधानी से ना रहे तो उसको डायबिटीज के साइड इफेक्ट्स का सामना भी करना पड़ सकता है जो रोगों की एक जटिल श्रंखला होती है, जैसे की एक कहावत है “एक तो करेला ऊपर से नीम चढ़ा” मतलब दोगुना कडवा | खैर, इस पोस्ट

फैटी लीवर में भोजन : क्या खाएं क्या ना खाएं

लीवर के बढ़ जाने की बीमारी ज्यादातर बच्चों में होती है। लीवर के बढ़ने से पेट भी बड़ा हो जाता है | इस रोग में लिवर में चर्बी की मात्रा सामान्य से 5-10% अधिक बढ़ जाती है। लीवर हमारे शरीर में एक छलनी की तरह काम करता है, जो शरीर के बाकि अंगों को सुरक्षित

कफ विकार के कारण और लक्षण – त्रिदोष

आयुर्वेद के अनुसार हमारा शरीर पृथ्वी, जल, सूर्य, वायु तथा आकाश से बना है और इन पांचों के असंतुलन होने से ही दोषों की उत्पति भी होती है। वायु और आकाश से वात, तेज और पित्त तथा पृथ्वी और जल के योग से कफ की उत्पत्ति होती है। वायु, पित्त और कफ भी शरीर को