वात पित्त कफ का इलाज : त्रिदोष नाशक उपाय

आयुर्वेद के अनुसार प्रत्येक बीमारी त्रिदोष के असंतुलन से पैदा होती है इसलिए आयुर्वेदिक उपचार में मुख्य उद्देश्य वात पित्त कफ के इलाज द्वारा दिमाग तथा शरीर को संतुलित अवस्था में वापस लाना होता है। शरीर की पूरी प्रक्रिया दिमाग द्वारा नियंत्रित होती है | यह निम्नलिखित क्रियाओं को नियंत्रित तथा नियमित करता है- भूख,

बुखार में खानपान : क्या खाएं और क्या ना खाएं

अन्य रोगों की तरह बुखार में भी सही खानपान का चुनाव आपको इस बीमारी से जल्दी ही छुटकारा दिला सकता है | दुनिया में सबसे ज्यादा पाई जाने वाली बीमारी बुखार ही है, जो कभी भी, किसी को भी, किसी भी मौसम में हो सकता है। शरीर का तापमान जब 98.4 डिग्री फारेनहाइट या 36.8

ग्रीन टी पीने के फायदे तथा सावधानियां और बनाने की विधि

हाल के कुछ वर्षों में ग्रीन टी सबसे लोकप्रिय स्वास्थ्य वर्धक ड्रिंक के रूप में उभरी है। कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि ग्रीन टी केवल एक पेय-पदार्थ नहीं है, अगर सही तरीके से इसका सेवन किया जाए तो यह किसी हेल्थ-टॉनिक से कम नहीं है। ग्रीन टी क्या है – ग्रीन-टी

ठंड में इन मसालों और हर्ब्स की सहायता से रहे फिट

सर्दियों के मौसम की शुरुवात हो चुकी है ठंड में अक्सर सर्द हवाओ के चलने से जुकाम, फ्लू, खांसी, गला दर्द, सिरदर्द, बदनदर्द आदि रोगों की शिकायत आम बात है | बदलते मौसम के साथ हमारे शरीर को भी उसी हिसाब से अपने आपको ढालना पड़ता है जो कई बार नहीं हो पाता है और

खूबसूरत व् आकर्षक नाखून पाने के लिए टिप्स

जब भी संपूर्ण सुंदरता की बात की जाती है, तो नख (नाखून) से शिख तक की बात होती है, यानी सिर्फ चेहरे से खूबसूरती का आकलन नहीं किया जाता। खूबसूरती का आकलन करते समय चेहरे और अन्य अंगों के साथ नाखूनों की सुंदरता को भी देखा जाता है। सौंदर्य में नाखूनों के महत्व को इस

एनजाइना रोग के कारण, लक्षण तथा आधुनिक उपचार

असहनीय छाती का दर्द इोलने वाले एनजाइना के मरीजों की रक्त-धमनियों में वसा या कोलेस्टेरॉल जम जाने, उनमें रक्त के थक्के के फंस जाने अथवा उनमें सँकरापन आ जाने के कारण धमनियाँ रूक जाती हैं, जिसके कारण हमेशा धड़कने वाले हृदय को पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं मिल पाता, जिसके कारण सीने के दर्द से

सर्दी जुकाम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

जब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) कमजोर होती है तो विभिन्न बीमारियां होने लगती हैं  खास तौर से सर्दी जुकाम, खांसी, फ्लू जैसी आम बीमारियां बार-बार हो जाती हैं। छोटे-मोटे इन्फेक्शन या चोट भी बड़ी बीमारी का रूप ले लेते हैं। सर्दी जुकाम सभी मौसमो में होता है, लेकिन सर्दियों में सबसे अधिक

पुरुषो को होने वाले रोगों का इलाज पतंजलि आयुर्वेद

जानिए पुरुषो के रोगों के इलाज पतंजलि आयुर्वेद में उपलब्ध औषधियों के बारे में | साथ ही यह जानिए की इन औषधियों का सेवन कैसे करें और क्या परहेज रखें | सन 2006 में पतंजलि आयुर्वेद की स्थापना हुई थी आज पूरी दुनिया भारत के प्राचीन ज्ञान योग एवं आयुर्वेद का लोहा मानती है | वर्तमान में पतंजलि