जानिए किस बीमारी में कौन सा योग करना चाहिए – विभिन्न प्रकार के योगासन

स्वस्थ शरीर व शांत मन सभी की चाहत होती है। और यह चाहत विभिन्न योग आसनों की सहायता से पूरी की जा सकती है। यह तथ्य तो हजारों वर्षों से प्रमाणित होता आ रहा है कि योग हमें स्वस्थ तन और स्वस्थ मन देता है। इसलिए आज सारा विश्व योगमय होता जा रहा है। रोग

पालतू जानवरों से सावधान क्योंकि आपको लग सकती है कई बीमारियाँ

लंबे समय तक साथ रहने के कारण पालतू जानवरों, पक्षियों से लोगो को काफी लगाव हो जाता है और ये जानवर भी घर के सदस्य जैसे ही बन जाते हैं। क्या बच्चे, क्या जवान या बूढ़े सभी इन्हें बच्चों की तरह हाथ में उठाते हैं, खिलाते हैं, उनके साथ खेलते हैं, उनकी देखभाल करते है,

पपीता खाने के फायदे तथा गुणकारी औषधीय गुण -Papaya Fruit

पेट से सम्बंधित रोगों में पपीता (Papaya) एक गुणकारी औषधि के रूप में लाभ पहुंचाता हैं। पपीता खाने से पाचन क्रिया तेज होती है और भूख अधिक लगती है। पपीते के पौष्टिक तत्त्व शरीर में शक्ति और स्फूर्ति पैदा करते हैं। कब्ज को ठीक करने के लिए पपीता सबसे गुणकारी फल है। पपीता की तासीर

एनीमिया (रक्ताल्पता) का घरेलू तथा आयुर्वेदिक इलाज के उपाय

एनीमिया (रक्ताल्पता या खून की कमी ) जब शरीर में रक्त का अधिक अभाव होता है तो एनीमिया का रोग होता है इसके कई कारण होते है। खून की ज्यादा कमी में रोगी कुछ भी काम करने में असमर्थ हो जाता है। इस रोग के उपचार में ज्यादा देर करने से जानलेवा स्थिति बन जाती

सिर चकराना का इलाज तथा चक्कर के लिए घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे

सिर चकराना (Giddiness)-अपने आसपास की वस्तु जब चारों ओर घूमती हुई दिखाई दें तो समझ लें यह सिर चकराने के कारण हुआ है जो मानसिक कमजोरी के लक्षण हैं। अधिक गर्म वातावरण में काम करने व धूप में देर तक चलने-फिरने से कुछ लोग अचानक चकराकर गिर पड़ते है। कभी-कभी स्त्रियां भी देर तक रसोईघर

जानिए मुँहासे क्यों होते है तथा मुँहासे ठीक के घरेलू आयुर्वेदिक उपाय

मुँहासे टीनएज की एक ऐसी समस्या है जिससे प्राय: सबको जूझना पड़ता है | जब युवक-युवतियां किशोरावस्था से युवावस्था की ओर बढ़ते हैं तो उनके चेहरे पर कील-मुंहासों की उत्पत्ति होने लगती है। मुंहासों में तेज खुजली होने पर जब जोर से खुजलाते हैं तो मुंहासों के छिल जाने से जख्म बन जाते हैं। मुंहासों

पुराने, गंदे, जले बर्तनों को चमकदार बनाने के टिप्स -kitchen utensils care

गंदे, फूटे और टेढ़े-मेढ़े बर्तन आपके किचन की खूबसूरती खराब कर सकते है | किचन में चमकते हुए बर्तनों से रसोई घर की खूबसूरती दोगुनी हो जाती है तथा यह सेहत की दृष्टि से भी बहुत जरुरी है | पिछले पोस्ट में हमने आपको इस बारे में अवगत करवाया था की बर्तन भी आपकी सेहत

प्राणायाम के विभिन्न प्रकार, स्वास्थ्य लाभ तथा षट्कर्म की क्रियाएं

(गतिविच्छेदः) अर्थात गति का रुक जाना या रोक देना अथवा अन्तर डाल देना (प्राणायामः) प्राणायाम कहा जाता है। प्राणायाम का अर्थ है प्राण का विस्तार। प्राणायाम के लिए आसन का सिद्ध होना आवश्यक है। वास्तव में यम-नियम योग के साक्षात् अंग हैं। योग-मार्ग पर चलते हुए प्रत्येक दशा में इनका पालन आवश्यक है। परन्तु आसन

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले फल तथा सब्जियां -Immune Power Booster

रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि (immune system) हमें कई बीमारियों से कुदरती तौर पर सुरक्षित रखती है प्रतिरोधक शक्ति मतलब विरोध करने की शक्ति । विरोध का मतलब है सामना करना, मुकाबला करना। छोटी-मोटी ऐसी कई बीमारियां होती है जिनसे हमारा शरीर अपने आप ठीक कर लेता है | रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने पर

सौंफ के फायदे तथा बेहतरीन औषधीय गुण – Fennel Seeds

खाने के बाद माउथ फ्रेशनर के तौर पर खाया जाने वाला सौंफ सेहत की दृष्टि से बहुत ही लाभदायक है | सौंफ के अनेक लाभ तथा कई कामयाब घरेलू नुस्खे है | सौंफ की तासीर ठंडी होती है जो लोग सौंफ की चाय पीते हैं, उनका स्वास्थ्य अच्छा रहता है | यह कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम,

चेहरे के दाग धब्बे हटाने तथा त्वचा खूबसूरत बनाने के लिए आसान घरेलू नुस्खे

चेहरे के दाग चाहे जैसे भी हों, सौंदर्य पर एक धब्बे की तरह ही होते है। इसलिए सभी इनसे पीछा छुड़ाने की कोशिश में लगे रहते है| चेहरे पर दाग कई प्रकार के होते हैं, जैसे कि आँखों के नीचे काले गड्ढे होना, ब्लैक हेड्स, तिल, सफेद दाग और चेचक के दाग। आँखों के नीचे

प्राथमिक चिकित्सा का महत्त्व तथा फर्स्ट ऐड बॉक्स में क्या-क्या होना चाहिए

सभी के लिए प्राथमिक चिकित्सा (first aid) की जानकारी बहुत जरुरी होती है, क्योंकि हमारे जीवन में अचानक दुर्घटनाएँ होती रहती हैं। कब क्या हो जाए, इसका हमें पता नहीं होता है। जिनके विषय में हम सोच नहीं पाते वे घटनाएँ हमारे साथ हो जाती हैं। जैसे कहीं सही-सलामत जा रहे हैं, अचानक दुर्घटना हो

कुष्ठ रोग के कारण, पहचान, बचाव के उपाय तथा एम.डी.टी इलाज

आधुनिक चिकित्साशास्त्र ने इतनी प्रगति कर ली है कि कुष्ठ रोग या कोढ़ (Leprosy) का इलाज कई वर्ष पहले ही संभव हो गया था और अब तो इस रोग की मल्टी ड्रग थेरैपी (M.D.T.) उपलब्ध है। सन् 2004 तक एम.डी.टी. द्वारा भारत में एक करोड़ बारह लाख रोगियों को कामयाब इलाज द्वारा कुष्ठ रोग से