खसखस के फायदे तथा खसखस खाने का तरीका -पोस्ता दाना लाभ

आजकल हर रोज नई-नई बीमारियां सुनने को मिल रही है। गलत खान-पान के कारण हर दूसरा इंसान किसी न किसी बीमारी से ग्रसित है। आज के समय में स्वस्थ रहने के लिए सही आहार और कुछ घरेलू उपाय बहुत जरूरी है। इसलिए डाइट में कोई ऐसी चीज जरुर लेनी चाहिए जिसे खाने के बाद कई बीमारियों से बचा जा सकें। अगर आप दूध के साथ खसखस लेते हैं तो आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। खसखस यानि पोस्त के दाने में ओमेगा-3 और ओमेगा-6, फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, थायमिन, कैल्शियम और मैंगनीज आदि पोषक तत्व काफी मात्रा में पाए जाते हैं जो शरीर को फिट रखने में मदद करते हैं। खसखस को डाइट में शामिल करने के लिए 1 गिलास दूध में इसका 1 चम्मच उबाल कर सुबह या रात को पीएं। पौष्ट‍िकता से भरपूर खसखस का इस्तेमाल सब्जी की ग्रेवी बनाने और सर्दी के दिनों में स्वादिष्ट हलवा बनाने के लिए किया जाता है। यह स्वाद और सेहत से भरपूर है, इसलिए स्वास्थ्य समस्याओं का उपचार करने के लिए भी इसे दवा के रूप में प्रयोग करते हैं।

खसखस अफीम के फल में से निकलने वाले सफेद रंग के बीज होते हैं इसकी तासीर ठंडी होती है । ये स्वादिष्ट होने के साथ ही स्वस्थ्य वर्धक भी होते हैं। रसोई में इसका उपयोग हलवा बनाने और सब्जियों की ग्रेवी को गाढ़ा करने में किया जाता है। लेकिन इसके कई दूसरे इस्तमाल भी हैं जिन्हें लोग नहीं जानते। आइए जानते हैं, पोस्त के दानों के बेहतरीन औषधीय गुणों के बारे में |

खसखस के बेहतरीन औषधीय गुणों की जानकारी : Poppy Seeds Health Benefits

खसखस है हमारे लिए फायदेमंद, जानिए कैसे khaskhas fayde nuksan gun kaise khaye खसखस के फायदे तथा खसखस खाने का तरीका

खसखस

  • गर्मियों में शरीर को ठंडक देने के लिए खसखस के बीज खाने चाहिए यह शरीर के तापमान को कम करते हैं और शरीर को गर्मी से बचाते हैं। यदि गर्मियों में आपको बहुत प्यास लगती है और पेट में जलन रहती है तो खसखस से आराम मिल सकता है। खसखस प्यास बुझाने के साथ ही बुखार, सूजन से भी राहत दिलाता है |
  • गर्मी या कब्ज की वजह से अक्सर मुंह में छाले हो जाते है इसको ठीक करने के लिए खसखस (पोस्त के दाने ) का शर्बत पियें यह बहुत लाभकारी होता है |
  • वजन घटाने के लिए खसखस के बीज बहुत फायदेमंद है क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो वजन कम करने में मदद करता है। इसके लिए रोजाना कुछ दाने खाएं।
  • इसे लंबे समय तक लेने से सांस संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा यह सर्दी-जुकाम को कम कर ने में भी मदद करता है।
  • रात को सोने से पहले पोस्त के दानों को गर्म दूध में मिला कर पीने से अनिंद्रा की समस्या से राहत मिलती है और खूब नींद आती है। खसखस खाने का सबसे अच्छा तरीका दूध में मिलाकर पीना होता है |
  • खसखस में फाइबर काफी मात्रा में होता है जो कब्ज की समस्या नहीं होने देता।
  • ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए खसखस का सेवन काफी फायदेमंद है। इसमें मौजूद पोटैशियम बीपी को कंट्रोल करने में मदद करता है।
  • इसके सेवन से डिप्रेशन से राहत मिलती है।
  • इसे दूध के साथ लेने से शरीर में खून की कमी दूर होती है और एनीमिया से बचा जा सकता है।
  • पोस्त के दानों मे पाया जाने वाले एल्कलॉइड शरीर में मौजूद अतिरिक्त कैल्शियम को सोख कर किडनी स्टोन बनने से रोकता है।
  • यदि आपको हड्डियों से जुडी कोई बीमारी है जैसे हड्डियों का कमजोर होना या गठिया तो नियमित रूप से खसखस को दूध के साथ लें |
  • पोस्त के दानों को दर्द निवारक के रूप में प्रयोग किया जाता है। इसमें पाया जाने वाला ओपियम एल्कलॉइड्स सभी प्रकार के दर्द को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खास तौर से इसका प्रयोग मांसपेशियों के दर्द में किया जाता है। खसखस का तेल भी बाजार में उपलब्ध होता है, जिसका प्रयोग दर्द वाले स्थान पर किया जाता है।
  • कमर दर्द की बीमारी में समान मात्रा में खस-खस और मिश्री पीसकर दो-दो चम्मच सुबह शाम रोजाना फाँक कर गर्म दूध पियें। इससे कमर दर्द में लाभ होगा।
  • पोस्त के दाने दिल के लिए भी बहुत लाभकारी होते है इसके सेवन से उच्च रक्तचाप कंट्रोल होता है |
  • सांस संबंधी तकलीफ होने पर भी पोस्त के दाने काफी फायदेमंद होता है। इसके साथ ही यह खांसी को कम कर सांस संबंधी समस्याओं में लंबे समय तक आराम दिलाने में भी मदद करता है।
  • अगर आप नींद न आने की समस्या से परेशान हैं, तो सोने से पहले खसखस का गर्म दूध पीना आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। यह अनिद्रा की समस्या को दूर करता है।
  • गुर्दे की पथरी में इलाज के तौर पर भी खसखस को सेवन किया जाता है। इसमें पाया जाने वाला ओक्सलेट्स, शरीर में मौजूद अतिरिक्त कैल्शियम को कम करके गुर्दे में पथरी बनने से रोकता है।
  • खसखस में आयरन होता है जो एनीमिया से बचाता है। इसके अलावा खसखस में फास्फोरस होता है जिससे दांत मजबूत होते हैं और यह मसूड़ों की समस्‍याओं से भी बचाता है।
  • खसखस त्वचा को नमी भी देता है। यह त्‍वचा की जलन व खुजली को कम करने के साथ ही एक्जिमा जैसी समस्याओं से त्वचा को बचाता है।
  • त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए पोस्त के दानों का इस्तेमाल दूध में पीसकर फेसपैक के रूप में किया जा सकता है। यह त्वचा को नमी देने के साथ ही प्राकृतिक चमक भी लाता है।
  • पौरुष शक्ति बढ़ाने के लिए खसखस का यह नुस्खा आजमायें – खसखस 8 चम्मच, भुने चने 6 चम्मच देसी खांड या पिसी मिश्री दस चम्मच पीस कर मिलाकर इसमें से सात चम्मच पाउडर लेकर 2 पंखुड़ी केसर मिलाकर खायें और दूध पियें। इससे शारीरिक ताकत और वीर्य वृद्धि होगी जिन व्यक्तियों को बाँझपन की समस्या है उनके लिए यह बेहतरीन उपाय है |
  • खसखस से नुकसान हो सकता है यदि आप इसे अधिक मात्रा में लेंगे तो | दरअसल खसखस एक नशीले पौधे (अफीम ) के बीज होते है | इससे आपको दिल घबराना, चक्कर आना, या सिर भारी होना जैसे साइड इफ़ेक्ट महसूस हो सकते है | किसी भी हर्ब का अधिक मात्रा में सेवन करने से वह नुकसान पहुंचा सकती है यह हम आपको हमेशा बताते है |

Leave a Reply