दांत दर्द के घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार

दांत दर्द की समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। दांत दर्द की पीड़ा रोगी को बेचैन कर देती है। रातों की नींद उड़ जाती है। कुछ व्यक्तियों का ऐसा मानना है कि रोजाना मंजन व टूथपेस्ट करने से दांतों में दर्द नहीं होता है, लेकिन दांतों में अनेक दूसरे कारणों से दर्द की उत्पत्ति हो सकती है। ज्यादातर दांतों का दर्द बैक्टीरिया, कीड़ो के हमले की वजह से होता है, दांत दर्द की दूसरी वजह दांतों की जड़ो का कमजोर होना या अधिक सेंसिटिव होना होता है | बैक्टीरिया या कीड़ो को दूर करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट प्रधान चीजो का प्रयोग किया जाना चाहिए और मजबूती के लिए नीम आदि का प्रयोग करना चाहिए | इस पोस्ट में दांत के दर्द के प्राकृतिक उपचार और आयुर्वेदिक उपाय बताये गए है | तो आइये सबसे पहले यह जानते है की दांतों में दर्द क्यों होता है | #Toothache #Home #Remedies #Tooth #Pain  #tooth #infection  #tooth #worms #Ayurvedic #Remedies.

 दांत दर्द होने के प्रमुख कारण :

  • कुछ बच्चे या स्त्री-पुरुष बहुत लापरवाही में टूथपेस्ट करते हैं। ऐसे में दांतों के बीच में फंसे अन्न कण नहीं निकल पाते। जब रात को हम सो जाते हैं तो लार के संपर्क से उन अन्न कणों में सड़न होने लगती है। उन अन्न कणों के सड़ने से दांतों की जड़ें खोखली हो जाती हैं। उन खोखली जगहों में भोजन के अंश भर जाने और सड़न होने से दांत दर्द होने लगता है।
  • दांतों की अच्छी तरह सफाई नहीं करने से मसूढ़ों को सबसे ज्यादा हानि पहुंचती है। मसूढ़ों में सूजन हो जाने से मसूढ़े कमजोर हो जाते हैं। मसूढ़ों के कमजोर हो जाने से दांत टूटने लगते हैं।
  • मसूढ़ों पर जीवाणुओं का संक्रमण होता है “पायरिया’ हो जाता हैं। पायरिया से रोगी को बहुत नुक्सान पहुंचाता है।
  • रात को दांत साफ नहीं करने के कारण दांतों में अधिक दर्द की संभवना हो सकती है।
  • बच्चो को खेलते-कूदते गिर-पड़ने से दांतों में चोट लग जाने पर दांत हिलने लगते हैं और फिर उनमें दर्द होने लगता है।
  • गर्भावस्था में दांतों में सड़न की समस्या अधिक होती है। जो आगे चलकर दांत दर्द का कारण बन सकती है |

दांत दर्द के लिए घरेलू उपचार :

dant dard ke gharelu upchar दांत दर्द के घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार

Toothache Or Tooth Pain

  • 3 लौंग पीसकर, इसे नीम्बू के 5 ग्राम रस में मिलाकर दांतों पर मलने और खोखले भाग में लगाने से दांत दर्द ठीक होता है।
  • कपूर और अकरकरा 5-5 ग्राम मात्रा में पीसकर मंजन करें।
  • पके हुए अनन्नास का रस रुई के फाहे से लगाने पर दांत दर्द ठीक होता है।
  • Hydrogen Peroxide – 3 प्रतिशत हाइड्रोजन पेरोक्साइड को इतने ही पानी में मिलाकर कुल्ला (माउथवॉश) करें याद रहे यह पानी पेट के अंदर ना जाने पाए इससे दांतों से हानिकारक जीवाणु नष्ट हो जाते है और दांत दर्द से भी मुक्ति मिलती है |
  • काली मिर्च का 3 ग्राम पाउडर और सेंधा नमक का 3 ग्राम पाउडर सरसों के 3 ग्राम तेल में मिलाकर दांतों पर 5-7 मिनट मलने से दांत दर्द ठीक होता है। मसूढ़ों का सूजन भी ठीक होता है।
  • दांत दर्द से राहत पाने के लिए लहसुन और लोंग का पेस्ट बनाकर दांतों में लगाये |
  • अजवायन पीसकर दांतों पर लगाने से भी दांत दर्द ठीक हो जाता है |
  • एक नींबू के चार टुकड़े करके इन पर नमक बुरक कर, आग पर रखकर गरम कर लें। जिस दांत या दाढ़ में दर्द हो उसके नीचे 1-1 करके चारों टुकड़ों को थोड़ी-थोड़ी देर तक दबाएं दांत दर्द से फौरन आराम मिलेगा।
  • सिरके में नमक और फिटकरी डालकर कुल्ला करने से मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाता है। साथ ही बबूल की छाल से काढ़ा बनाकर माउथवाश करने से मुंह, दांत तथा मसूड़ों के रोग दूर हो जाते हैं।
  • फिटकरी और लौंग बराबर मात्रा में पीसकर दांतों पर मलें। दांत दर्द तुरंत दूर हो जाएगा।
  • हिंग को गर्म करके दर्द वाले दांत पर दबाकर रखें, दांत दर्द गायब हो जाएगा।
  • कपूर को दांतों के बीच में दबाकर रखने से थोड़ी देर में दांत दर्द दूर हो जाएगा।
  • तीन ग्राम सोंठ दिन में एक बार ताजा पानी के साथ फांक लें। तीन-चार दिन यह प्रयोग करने से दांत दर्द एवं मसूड़ों का फूलना भी ठीक होगा ।
  • अंजीर को पानी में उबालकर उसके पानी से कुल्ले करने से मसूढ़ों के रोग और दांत दर्द दूर हो जाता हैं।
  • मसूडो पर नीम का तेल लगाने से मसूढ़ों के सभी रोग मिट जाते हैं।
  • सिरके में नमक और फिटकरी डालकर कुल्ला करने से मसूढ़ों से खून निकलना बंद हो जाता है।
  • जीरे को भूनकर 3 ग्राम मात्रा में पाउडर बनाकर उसमें सेंधा नमक 3 ग्राम बारीक पीसकर मसूढ़ों पर मलने से सूजन और दांतों का दर्द ठीक होता है। यह भी पढ़ें – दांतों का पीलापन दूर करने के बेहतरीन घरेलू उपाय
  • लौंग के तेल को रुई की मदद से लगाने से भी दांत दर्द ठीक होता है।
  • दांत के कीड़े का इलाज – दांतों में कीड़े लगे हों तो प्याज को गरम दांतों पर रख लें और धीरे-धीरे इसे दबाएँ। प्याज का तीखा रस बैक्टीरिया सह नहीं पाएंगे और दांतों का साथ छोड़ देंगे। और दांत दर्द की समस्या नहीं होगी |
  • जायफल के तेल में रूई भिगोकर दांतों की जडो में लगाने से दांतों का दर्द ठीक हो जाता है ।
  • हल्के गर्म पानी में अंकोल का तेल कुछ बूंदें डालकर कुल्ले करने से दांतों का दर्द ठीक होता है।
  • अमरूद के कोमल पत्तो को चबाने से दांत दर्द ठीक होता है।
  • अमरूद के पत्तों को पानी में उबालकर इस पानी में फिटकरी मिलाकर कुल्ले करने से दांत दर्द ठीक होता है।
  • अपामार्ग की ताजी शाखा से दातुन करने पर दांत दर्द होने विकृति और मसूढ़ों से रक्तस्राव बंद होता है।
  • अजमोद को जलाकर बारीक पीसकर इस राख से मंजन करने से दांत दर्द ठीक होता है।
  • कत्था, नीम की छाल, और सेंधा नमक का समान मात्रा में लेकर इसे छानकर मंजन करने से दांतों के हिलने की बीमारी में लाभ होता है।
  • दो चम्मच सरसों का तेल और आधा चम्मच बारीक पिसा हुआ खाने का नमक मिलाकर, मुंह में रखें और इधर-उधर घूमाते रहें। जब मुंह ज्यादा भर जाए तो थोड़ा-सा थूक दें, आधे घटें तक मुंह में रखने के बाद सब थूक दें, आधे घटें तक पानी न पीएं न ही पानी से कुल्ला करें थोड़े ही दिनों में पायरिया रोग और दांत दर्द से राहत मिल जाएगी | सांस की दुर्गंध- कारण , बचाव और 16 घरेलू नुस्खे
  • सरसों का तेल और नमक मिलाकर मसूड़ों पर मलने से दांत मजबूत रहते हैं।

दांत दर्द दूर करने के आयुर्वेदिक नुस्खे

  • दांतों में कृमि (बैक्टीरिया) के कारण दांत दर्द होने पर अकरकरा का बारीक पाउडर मसूढ़ों पर मलने से और खोखले दांतों के जडो में लगाने से दांत के बैक्टीरिया मर जाते है |
  • बायविडंग, खुरासानी अजवायन और अकरकरा तीनों को 10–10 ग्राम मात्रा में लेकर पीसकर पाउडर बनाकर इसे छानकर रखें। इस पाउडर से मंजन करने पर दांत दर्द और मसूढ़ों की पीड़ा ठीक होती है।
  • खुरासानी अजवायन और अकरकरा को 5-5 ग्राम मात्रा में लेकर पानी में उबालकर कुल्ले करने से दांत दर्द ठीक होता है।
  • विजयसार के पत्तो को छाया में सुखाकर पाउडर बना लें। इसमें से 2 ग्राम पाउडर, 5 ग्राम सरसों के तेल में मिलाकर मंजन करने से दांतों का दर्द ठीक होता है। यह भी पढ़ें – Teeth Care-दांतों की देखभाल के लिए 21 टिप्स
  • बायविडंग के पाउडर में थोड़ी-सी हींग मिलाकर दांत की खोखली जगह में रखने से दांत दर्द की समस्या ठीक होती है।
  • तेजबल की छाल को पीसकर बारीक पाउडर बनाकर, उस पाउडर से मंजन करने से दांतों का दर्द ठीक होता है।
  • कांचनार पेड़ की छाल को जलाकर राख बनाकर बारीक पीस लें। इस पाउडर से मंजन करे दांत दर्द की समस्या से निजात मिलेगी |
  • नीम की पत्तियों को साफ करके एक गिलास पानी में खूब उबालें और इस पानी से 8-9 दिन कुल्ला करें व 3-4 पत्तियां चबाकर थूक दें। इसके बाद 8-9 दिन तक नीम की दातुन को दांतों से चबाकर इसका रस थूकते रहें। इससे आपके दांत स्वस्थ बने रहेंगे और बार बार दांत दर्द होने की समस्या से मुक्ति मिलेगी |

अन्य सम्बंधित लेख 

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें

Email this to someonePin on PinterestShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *