यूरिक एसिड में क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए

अपने पिछले आर्टिकल में हमने यूरिक एसिड बीमारी के कारण व लक्षण बताये थे, किसी भी बीमारी को ठीक करने में रोगी का सही भोजन दवाई जितना ही जरुरी है यदि आपकी डाइट ठीक नहीं है तो आप कितनी भी दवाइयां खा ले लेकिन आपको रोग से मुक्ति नहीं मिलेगी, इस आर्टिकल में हम यूरिक ऐसिड के मरीजो अपने भोजन में क्या शामिल करना चाहिए और किस चीज का परहेज रखना चाहिए यह बताएँगे | यूरिक ऐसिड की ज्यादा मात्रा से हार्ट डिजीज, हायपरटेंशन, किडनी स्टोन और गठिया जैसी बीमारियां भी हो सकती है, इसलिए यूरिक ऐसिड की मात्रा को कन्ट्रोल में रखना बेहद जरूरी है और बेशक इस पोस्ट में दी गई जानकारी आपके बहुत काम आएगी | तो आइये जानते है की यूरिक एसिड में मरीज का भोजन कैसा होना चाहिए |

यूरिक एसिड बीमारी में क्या खाएं

यूरिक एसिड में क्या खाना चाहिए क्या नहीं खाना चाहिए uric acid me kya khaye parhej naa khaye

  • शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम करने के लिए आहार में बदलाव ज़रूरी है इसलिए अपनी डायट में चेरी, ब्लूबेरी और स्ट्रोबेरी जैसे फल शामिल करें |
  • सेब का सिरका शरीर से यूरिक ऐसिड को हटाने में मदद करता हैं इसलिए यूरिक एसिड में इसका सेवन भी नियमित रूप से करें |
  • यूरिक एसिड में फल और सब्जियां आलू, मटर, मशरूम,अंगूर, आंवला, प्याज, कच्चा पपीता, इसबगोल, अमरूद, संतरा, चेरी, ब्रोकली, लाल शिमला मिर्च, टमाटर, बैंगन और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें |
  • यूरिक एसिड में मसूर की दाल, बीन्स, सोयाबीन,मक्का, सूखे मेवे और टोफू जैसी सब्जियों का सेवन करें |
  • ओट्स, ब्राउन राइस और जौ को अपनी खुराक में शामिल करें |
  • सिमित मात्रा में कम फैट वाला दूध और डेयरी प्रॉडक्ट्स यूरिक एसिड में लिए जा सकते है |
  • लौकी के जूस, नींबू का रस, नारियल पानी, गाजर और चुकंदर का जूस, एलोवेरा जूस, अजवाइन के बीज का अर्क, ग्रीन टी, ककड़ी का जूस, आंवले का रस पियें |
  • रात को सोने से पहले 2 हरी छोटी इलायची 1 गिलास गुनगुने पानी के साथ खाएं।
  • यूरिक एसिड में मरीज का खाना पकाने के लिए बटर या वेजटेबल आयल के स्थान पर कोल्ड प्रेस्ड जैतून के तेल का इस्तेमाल करें।
  • पानी खूब पीएं – शरीर को हाइड्रेटेड रखकर आप यूरिक एसिड के स्तर को कम कर सकते है | पानी का उचित स्तर सिस्टम से यूरिक एसिड को बाहर निकालने के लिए जरूरी होता है |
  • अजवायन का सेवन अजवायन को सुप्रीम मेडिसिन कहा जाता है, अजवायन शरीर में यूरिक एसिड को कम करने या उसकी मात्रा नियंत्रित करने के लिए एक और प्रभावी तरीक़ा है. दरअसल, अजवायन प्राकृतिक मूत्रवर्द्धक भी है | यह रक्त में एसिड के स्तर को नियंत्रित कर सूजन को कम करने में मदद करती है |
  • यह तो सभी जानते है कि ऑलिव ऑयल यानी जैतून के तेल में बना आहार, शरीर के लिए सबसे ज्यादा लाभदायक होता है, इसमें विटामिन ई की भरपूर मात्रा में मौजूदगी खाने को पोषक तत्वों से भरपूर बनाती है. इसमें बना खाना खाने से शरीर में यूरिक एसिड उतनी ही मात्रा में बनता है, जितनी शरीर की जरुरत होती है, इसलिए ऑलिव ऑयल का सेवन करना चाहिए
  • बेकिंग सोडा मददगार – यूरिक एसिड में एक ग्लास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा मिला लें. इसे अच्छी तरह मिलाकर नियमित रूप से पीएं. बेकिंग सोडा का मिश्रण यूरिक एसिड क्रिस्टल भंग करने और यूरिक एसिड घुलनशीलता को बढ़ाने में मदद करता है, बेकिंग सोडा लेते समय सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि इससे ब्लडप्रेशर बढ़ने का खतरा रहता है |
  • पीएच का संतुलन जब शरीर में ज्यादा एसिड हो जाता है, तब उसे एसिडोसिस कहा जाता है, यह शरीर के यूरिक एसिड के स्तर से सीधा जुड़ा हुआ है. अगर शरीर में पीएच स्तर से नीचे चला जाता है, तो शरीर एसिडिक हो जाता है. इससे बचने के लिए अपने आहार में सेब, चेरी का जूस और नींबू को शामिल करें |
  • एक रिसर्च के मुताबिक़, शरीर में सूजन को कम करना चाहिए. सूजन कम करने में बेरीज़ मदद करती हैं. युरिक एसिड कम करने में अन्य खाद्य पदार्थ भी मददगार होते हैं, अनन्नास में मौजूद पाचक एंजाइम ब्रोमेलाइन में एंटी इफ्लेमेंटरी तत्व सूजन को कम करते हैं. यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए प्यूरिन वाले आहार के सेवन से बचना चाहिए. किडनी की समस्या होने पर प्यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ शरीर के विभिन्न भागों में ज्यादातर यूरिक एसिड को शरीर में जोड़ने लगते है, आहार में बदलाव लाकर ब सही आहार के सेवन से इस रोग से बचा जा सकता है|

यूरिक एसिड में क्या ना खाएं

  • यूरिक एसिड में ओमेगा-३ फैटी एसिड से दूर रहें – टूना, सारडिनेस, मैकीरिल, साइमन जैसी मछलियों में ओमेगा-३ फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है, यूरिक एसिड के बढ़ने पर इन मछलियों को खाने से परहेज़ करना चाहिए |
  • यूरिक एसिड में डिब्‍बा बंद भोजन,बियर शराब, केक, पेस्ट्री, क्रीम, बिस्कुट, कुकी, ब्रेड, बिना छिलके वाली दालें, चावल, अचार, फास्ट फूड, कोल्ड ड्रिंक्स, अंडा, लाल मांस आदि के सेवन का परहेज रखें |
  • फ्रक्टोज़ से बचें प्राकृतिक रूप से यूरिक एसिड को कम करने के लिए फ्रक्टोज़ से भरपूर पेय का सेवन सीमित कर देना चाहिए. एक रिसर्च के अनुसार, जो लोग ज़्यादा मात्रा में फ्रक्टोज़ वाले पेय का सेवन करते हैं, उनमें गठिया होने का ख़तरा दोगुना होता है |
  • वज़न पर कंट्रोल रखें। मोटापे के शिकार लोग अमूमन प्यूरिन से युक्त आहार बहुत ज्यादा लेते हैं, प्यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा देता है. सबसे अहम् यह तेज़ी से वज़न कम होने का एक कारक भी है, अतः हर किसी को क्रैश डायटिंग से जहां तक संभव हो, बचना चाहिए. मोटापे से ग्रस्त लोगों को यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ने से रोकने के लिए अपने वज़न को कम करना चाहिए |
  • यूरिक एसिड में मूंग दाल – छिलके वाली ले सकते है |
  • यूरिक एसिड में दूध पी सकते हैं लेकिन कम फैट वाला बिना क्रीम वाला दूध पियें |
  • यूरिक एसिड में टमाटर भी खा सकते है |

Leave a Reply