जानिये पौष्टिक गुणों से भरपूर दलिया खाने के 11 फायदे

गेहूं को रिफाइंड करके तैयार किए जाने वाले खाद्य पदार्थों में दलिया भी शामिल है, दलिया खाने में स्वादिष्ट होने के साथ स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर दलिया अपने आप में संपूर्ण आहार है। आहार-विशेषज्ञ ओट्स को सुपरफूड की श्रेणी में रखते हैं और नियमित दलिया खाने की सलाह देते हैं। इसे 5 से 70 साल तक, हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद माना जाता है। इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण यह आसानी से पच जाता है। एक स्वस्थ व्यक्ति दिन में एक कटोरी दलिया खा सकता है। बेहतर होगा कि नमकीन दलिया बनाते समय एक मुट्ठी मूंग धुली दाल और एक कटोरी पसंदीदा मिक्स सब्जियां डालकर पकाएं। इससे प्रोटीन और विटामिन प्रचुर मात्रा में मिलेंगे। नमकीन दलिया के साथ दही का सेवन ज्यादा फायदेमंद है। मीठे दलिया में दूध, ड्राई फ्रूट्स और पसंदीदा फल मिलाकर खाने से इसकी पौष्टिकता बढ़ जाती है।

कई गंभीर बीमारियों में कारगर और पोषण से भरपूर दलिया के बारे में आज हम आपको  जानकारी दे रहे हैं |

दलिया खाने के लाभ

दलिया खाने के फायदे

जानिये दलिया खाने के फायदे

  • दलिया में मौजूद फाइबर, कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट और मैग्नीशियम से डायबिटीज टाइप-2 के मरीजों में ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। ये तत्व ऐसे एंजाइम बनाते हैं, जिनकी वजह से भोजन धीरे-धीरे पचता है। इससे ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। यह रक्त में ग्लूकोज को कम मात्रा में रिलीज करता है और इंसुलिन के स्तर को नियंत्रित रखता है।
  • फैट फ्री या लो कैलरी वाला दलिया ऊर्जा का अच्छा स्रोत है। दलिया में मौजूद प्रोटीन और विटामिन पूरे दिन आपको ऊर्जावान बनाए रखने में मदद करते हैं। इसलिए आहार विशेषज्ञ नाश्ते में एक कटोरी दलिया के सेवन को सेहत के लिहाज से फायदेमंद मानते हैं।
  • प्रतिरोधक क्षमता सुधारे – दलिया में मौजूद फाइबर आसानी से अवशोषित हो जाता है, जो व्हाइट ब्लड सेल्स को मजबूत बनाता है। इससे प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती है। दलिया से मिलने वाले मैग्नीशियम, सेलिनियम और जिंक शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। सुपाच्य गुणों के कारण मरीजों को दलिया खाने की सलाह दी जाती है।
  • वजन को रखे नियंत्रित – वसा रहित व कम कैलरी वाला होने के कारण दलिया वजन को नियंत्रित रखता है। गेहूं से बना दलिया फाइबर, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। नियमित रूप से दलिया का सेवन करने से पेट देर तक भरे होने का एहसास कराता है।
  • दांतों को दे मजबूती- दलिया में कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो हमारी हड्डियों और दांतों के स्वास्थ्य के लिए मददगार साबित होते हैं। नियमित रूप से दलिया खाने से शरीर को भरपूर पोषण मिलता है। बढ़ती उम्र में हड्डियों की कमजोरी और जोड़ों में दर्द होने की आशंका बढ़ जाती है, जिसे नियंत्रित रखने के लिए दलिये का सेवन कर सकते हैं।
  • एनीमिया से बचाए- इसमें मौजूद प्रोटीन, आयरन, मैग्नीशियम शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बनाए रखते हैं। इससे शरीर में खून की कमी यानी एनीमिया की आशंका नहीं रहती।
  • बॉडी बिल्डिंग में सहायक- दूध मिलाकर बनाया गया मीठा दलिया प्रोटीन से भरपूर होता है, जो बॉडी बिल्डिंग के शौकीनों के लिए फायदेमंद होता है। प्रोटीन शरीर के विकास और मसल्स के निर्माण के अलावा शरीर को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है।
  • त्वचा को बनाए खूबसूरत- दलिया में मौजूद विटामिन बी मेटाबॉलिज्म को ठीक रखने में मदद करता है। यह त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाता है। इसे दूध में मिलाकर त्वचा पर स्क्रब करने से रूखी या बेजान त्वचा में चमक आ जाती है। इसका फेसपैक लगाने से त्वचा मुलायम और खूबसूरत होती है।
  • दलिए में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट तत्व शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करते हैं, जिससे शरीर के सभी कार्य सुचारू रूप से चलते हैं और इससे मेटाबॉलिज्म भी तेज होता है, जो वेट लूज के लिए बहुत जरूर है।
  • रोजाना दलिया खाने से कॉर्डियोवैस्कुलर बीमारियां दूर रहती हैं। साथ ही इसमें घुलनशीन और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करते हैं। इसके अलावा दलिया धमनियों को ब्लॉक होने से बचाता है और रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाता है।
  • आयरन की मात्रा कम होने से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर भी कम हो जाता है। मगर रोजाना 1 कटोरी दलिया खाने से शरीर में आयरन की कमी नहीं होती। इसके अलावा दलिया खाने से शरीर का तापमान भी मेंटेन रहता है।

कब और कैसे करें दलिया का सेवन?

  • सुबह के समय दलिया खाने से सारा दिन शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है, इसे अलावा शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए नाश्ते में खाया गया दलिया बहुत फायदेमंद साबित होता है। नमकीन दल‍िया को सब्जियों के साथ बनाया जाता है तो कुछ लोग इसे मीठा भी पसंद करते हैं। वैसे चीनी की जगह दल‍िया को स‍िर्फ दूध के साथ भी लिया जा सकता है।

Leave a Reply