शुगर कम करने के उपाय -Diabetes Control Tips

Diabetes एक ऐसा रोग है, जो एक बार हो जाए तो फिर जीवन भर के लिए हो जाता है। यह रोग स्वास्थ्य पर कई साइड इफेक्ट्स भी छोड़ता है। आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के अनुसार Diabetes पूरी तरह ठीक नहीं हो सकता हैं हालांकि लेकिन इलाज के द्वारा इसका सफलता से नियंत्रण जरुर किया जा सकता है। रक्त में शुगर कम करने के लिए सही खानपान, व्यायाम, और दवाइयों का नियमित सेवन करना जरुरी होता हैं |

आज के आधुनिक युग में जहां हमने दवाइयों से कई जटिल बीमारियों को ठीक करने में सफलता पाई है, वहीं इनके साइड इफेक्ट के कारण कई नई बीमारियों भी शरीर को घेर लेती हैं। हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के स्वास्थ्य लाभ कर सकें। इसके अलावा भोजन और जीवन-शैली में जरुरी परिवर्तन तथा औषधियों के उपयोग से Diabetes को नियंत्रण में रखा जा सकता है।

रक्त में शुगर कम करने के लिए टिप्स : Tips for Lower Blood Sugar Levels Naturally.

जानिए ब्लड शुगर कम करने के उपाय - Diabetes Control Tips

Tips For Sugar Control

शुगर कम करने में शारीरिक व्यायाम का महत्त्व :

  • इससे रक्त ग्लूकोज़ कम होता हैं |
  • इससे रक्तचाप में कमी आती है।
  • वजन को कम करना या उसे बनाए रखने में मदद मिलती हैं ।
  • स्वयं को बेहतर महसूस करने में मददगार।
  • व्यायाम से तनाव या दबाव से राहत मिलती हैं ।
  • व्यायाम हृदय और फेफड़ों के कार्यों में सुधार आता हैं ।
  • यह मांसपेशियों के गठन में सुधार करता है ।

मधुमेह के रोगियों को इन बातों का भी ख्याल रखना चाहिए  :

  • शरीर पर कोई छोटा सा भी घाव हो तो उसकी अनदेखी कतई ना करें खासकर पैरो पर अगर कोई चोट लग गई है तो तुरंत उसका उपचार करें |
  • नंगे पांव ना घूमे हमेशा चप्पल या जूते पहन कर ही घूमे |
  • अपने पास हमेशा शुगर कैंडी और बिस्किट जरुर रखें अगर रक्त में शुगर 70 से नीचे आ जाता हैं तो कुछ ग्लूकोज बिस्किट खाएं |
  • कोलेस्ट्रोल और अन्य तेल युक्त खाने पीने की चीजो पर नियंत्रण रखें जिससे कि दिल का दौरा और उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी से बच सकें।
  • नहाते समय शरीर की नियमित जाँच करें किसी प्रकार का सूजन ,लाल दाने, फुंसी, रूखापन, त्वचा पर कोई फफोला हो गया है तो तुरंत इसका इलाज करवाएं ये सब समस्याए अक्सर बगल में ,पीठ पर एडी या टांगो के बीच जॉइंट्स पर होती है |
  • यदि आप अपने Diabetes को नियंत्रित रखना चाहते हैं तो अपनी देखभाल की जिम्मेदारी स्वयं संभाल लें, इससे आप Diabetes से जुड़ी जटिलताओं की शुरुआत को देर तक रोके रख सकते हैं, और यहां तक कि उन्हें होने से रोक भी सकते हैं।

मधुमेह रोगी को इन विशेषज्ञों से नियमित परामर्श करते रहना चाहिए  : –

  • अंत:स्राव विशेषज्ञ (Endocrinologist) के पास, – Diabetes नियंत्रण और जटिलताओं की जांच के लिए।
  • दंत विशेषज्ञ (Dentist): -छ: महीने में एक बार
  • आँखों के विशेषज्ञ (Eye Specialists)- (एक या दो साल में )

मधुमेह रोगी को निम्न जांच भी करा लेनी चाहिए :

  • Lipid Profile : मधुमेह रोगियों में Cholesterol और Triglyceride का स्तर जानने के लिए।
  • Kidney Function Test: : गुर्दे की कार्य प्रणाली की जांच के लिए रक्त में प्रोटीन क्रिएटिन तथा यूरिया की जांच की जाती है।
  • X-Ray : छाती में संक्रमण की जांच के लिए किया जाता है।
  • टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज के कारण, लक्षण
  • ECG : समय-समय पर कार्डियक जांच का होना जरूरी है।

ब्लड शुगर का लक्ष्य :

  • डाइबिटीज़ के विभिन्न संगठनों द्वारा खून में चीनी (Blood Sugar) के सही लेवल के बारे में बताया गया है। हालंकि सबने भले ही अलग-अलग लेवल को सही बताया है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप और आपका डॉक्टर के साथ मिलकर किसी एक लक्ष्य को निर्धारित करके अपने खून में चीनी का स्तर (ब्लड शुगर) नियंत्रित करने की कोशिश करें। यह भी पढ़ें – डायबिटीज का घरेलू उपचार – 25 आयुर्वेदिक नुस्खे |

ब्लड शुगर की मात्रा (मिली ग्राम प्रति डेसीलीटर) का लक्ष्य होता है।

  • खाने से पहले या खाली पेट में ADA 70 से 130 और AACE 110 से कम
  • खाना खाने के 2 घंटे बाद ADA 180 से कम और AACE 140 से कम
  • A1C – ADA 7 से कम और AACE5 से कम
  • यदि आप चाहें तो इस कैलक्युलेटर के अनुसार अपने शुगर लेवल को जाँच कर सकते हैं |

डायबिटीज के साथ जीना भी एक कला है अगर आप यह कला सीख लें तो निश्चित रूप से आप इस बीमारी से जीत सकते हैं | सबसे महत्त्वपूर्ण है Discipline (अनुशासन) और दूसरा निरंतरता क्योंकि इन्ही दोनों के सहारे आप जीवन भर मधुमेह की रोकथाम से जुड़े उपायों का पालन कर पाएंगे

इससे सम्बंधित अन्य पोस्ट 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*