असमय बाल सफेद होने के कारण और बचाव के उपाय -White Hair Solution

असमय बाल सफेद होने के बहुत सारे कारण होते है -दरअसल बालों का सफेद होना, बालों की कई समस्याओं में से एक है। बढ़ती उम्र के साथ बालों का सफेद होना स्वाभाविक है। लेकिन कम उम्र में ही बाल सफेद होने से पूरे व्यक्तित्व का आकर्षण खत्म हो जाता है। बालों की जड़ों में पाई जाने वाली सेबेक्वस ग्रंथियो मे Sebum नाम का तैलीय तत्व निकलता है, जिससे बालों का रंग निर्धारित होता है। यही तत्व बालों को पोषण भी देता है। सेबेक्वस ग्रंथियों की सक्रियता कम हो जाने से बाल सफेद होने लगते हैं । अधिकांश पुरुषों के बाल 35 से 40 वर्ष की उम्र में कानों के आसपास सफेद होने लगते हैं और 50 की उम्र तक ज्यादातर बाल सफेद हो जाते हैं। इसलिए चालीस वर्ष की उम्र के बाद बाल सफेद होना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। लेकिन कम उम्र में बालों का सफेद होना एक बीमारी है | जिसके कारणों को नीचे बताया गया है |

असमय बाल सफेद होने के प्रमुख कारण / What Causes Hair To Go White? Let’s Know The Main Reasons.

  • असमय बाल सफेद होने के प्रमुख कारण है – बालों में तेल न लगाना, खराब गुणवत्ता और अधिक केमिकल युक्त साबुन , Hair Color, Hair Dyes ,या शैम्पू का इस्तेमाल करना |
  • काफी लोगो में असमय बाल सफेद होने की समस्या अनुवांशिक (Genetically) होती है | अगर किसी के परिवार में पीढ़ी दर पीढ़ी बाल उड़ने या सफ़ेद होने की बीमारी है तो यह भी एक मुख्य कारण होता है बाल सफ़ेद होने का और इसका इलाज भी मुश्किल होता है
  • अधिक समय तक जुकाम रहना, या थायरायड (Thyroid) ग्रंथि से स्त्राव से असमय बाल सफेद होने लगते है |
  • पौष्टिक आहार न लेना, अधिक मात्रा में फास्ट फूड खाना भी असमय बाल सफेद होने के कारणों में से एक हैं |
  • अलग-अलग ब्रांड के कॉस्मेटिक्स जैसे शैम्पू , जेल का इस्तेमाल करने से भी असमय बाल सफेद होने की वजह बन सकती है |
  • असमय बाल सफेद होने के शारीरिक कारणों में आता है – कुपोषण, अनीमिया, शरीर में आयरन, विटामिन 12 की कमी होना, असंतुलित हार्मोन, हमेशा बीमार रहना, नियमित रूप से दवाओं का इस्तेमाल करना, अधिक चिंता करना, मानसिक तनाव, नींद की कमी, उच्च रक्त चाप, निराशा, बालों में डेंड्रफ होना आदि भी असमय बाल सफेद होने का कारण बनते है |
  • बालो के साथ विभिन्न प्रयोग करने से भी बाल सफ़ेद होते है, क्योंकि विभिन्न फेशन के हेयर स्टाइल बनाने के लिए बालो को काफी केमिकल ट्रीटमेंट (Chemical hair styling) और उच्च तापमान से गुजरना पड़ता है जो असमय बाल सफेद होने का कारण बनता है |
  • क्लोरिन युक्त पानी (chlorinated water) या खारे पानी से नहाने से भी अक्सर असमय बाल सफेद होने लगते है |
  • खाने के प्रति की जानेवाली लापरवाही, जैसे ज्यादा मिर्च मसालेदार चटपटा आहार का अधिक सेवन, पापड़, अचार आदि का सेवन, शरीर में पानी की कमी, स्निग्ध पदार्थ जैसे शुद्ध घी का भोजन में बिलकुल प्रयोग न करना, गर्भावस्था में संतुलित आहार के अभाव में बालों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। शरीर में विटामिन्स के अभाव में बालों को हानि पहुँचती है।
  • आहार के अलावा ज्यादा परिश्रम, डायटिंग, बालों की उचित देखभाल न करना, कुछ औषधियाँ जैसे पेन किलर दवाइयों का लंबे समय तक प्रयोग, कुछ बीमारियाँ जैसे सफेद कुष्ट, मानसिक तनाव, श्वेतप्रदर रोग, क्रोध, शोक, चिंता, जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण, कुछ रसायनों के संपर्क में बालों का आना, किसी चीज से एलर्जी होना भी ऐसे कारण हैं जिससे असमय बाल सफेद होने लगते हैं।
  • बालों के सफ़ेद होने का एक कारण शरीर में मेलेनिन की कमी होता है। जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हमारे शरीर में मेलेनिन की मात्रा कम होने लगती है मेलेनिन का उत्पादन पोषण और प्रोटीन पर भी निर्भर करता है। इनकी कमी से भी मेलेनिन की भी कमी हो जाती है।
  • सफ़ेद दांतों के लिए टूथपेस्ट whiteners मिलाये जाते है एक स्टडी के मुताबिक इसमें पाए जाने वाला हाइड्रोजन पेरोक्साइड की एक छोटी खुराक, मेलानोसाइट खत्म कर सकते हैं यही तत्व बालों को उसका प्राक्रतिक रंग प्रदान करता है इसकी कमी असमय बाल सफेद होने का कारण बन सकती है ऐसा मानना है Dr Batras का जो बालों से जुडी बिमारियों के उपचार के लिए काफी मशहूर है (
  • यदि आपके बाल कहीं कहीं से गुच्छो या धब्बो के रूप में सफेद हो गए है तो इसका कारण Vitiligo यानि सफ़ेद दाग ही बीमारी भी हो सकती है |

इतने सारे कारणों को देखकर आप घबराइए नहीं इनमे से केवल एक या दो कारणों से ही आपके बाल असमय सफेद हो रहे है तथा बाल सफेद होने के कारण सब लोगो में अलग-अलग हो सकते है आपको सिर्फ अपने बाल सफेद करने वाले कारण को ढूंडकर उसको दूर करना है |

असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए इन बातों का ध्यान रखें 

White Hair Problem Solution

white hair causes and prevention /असमय बाल सफेद होने के कारण और रोकने के उपाय

white hair causes and prevention Tips

  • बालों को सफेद होने से बचाने के लिए नियमित दिनचर्या, बालों की उचित सफाई, संतुलित आहार, व्यायाम, अच्छी नींद की आवश्यकता होती है।
  • असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए अधिक समय जुकाम न रहने दें व तुरन्त उपचार करायें
  • प्राकृतिक (Hair Dyes) का इस्तेमाल करें जैसे- मेंहदी, चायपत्ती का पानी, और चुकंदर का रस |
  • बालों को अधिक गर्म पानी से न धोएं।
  • एक-दो बाल सफेद होने पर उन बालों को तोड़े नहीं। ऐसा करने से बाल अधिक सफेद होने लगते हैं।
  • थोड़े बाल सफेद होने पर डाई न करवाएं। इससे काले बालों पर भी प्रभाव पड़ता है। बाल और ज्यादा तेजी से सफेद होने लगते हैं।
  • असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए बालों को धोने के लिए साबुन या शैम्पू की अपेक्षा प्राकृतिक सामग्री रीठा, शिकाकाई, बेसन, आंवला  दही आदि का इस्तेमाल करें।
  • अत्यधिक मोठी चीजें, तेल, मसालेदार भोजन, धुम्रपान, शराब व नशीली वस्तुओं का सेवन न करें।
  • बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का इस्तेमाल न करें। बालों पर स्प्रे भी न करें।
  • अधिक चिंता, मानसिक तनाव, देर रात तक जागने से बचें।
  • तेज खुशबूदार साबुन और तेल बालों में न लगाएं। इनसे भी बाल सफेद होने लगते हैं।
  • बालों की देखभाल व साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें। नियमित रूप से सिर की मालिश करें व भाप दें। इससे आप असमय बाल सफेद होने की समस्या से बचें रहेंगे |
  • बालों को तेज धूप में ढककर चलें क्योंकि सूर्य से निकली अल्ट्रा वायलेट किरणें बालों को सफेद बना सकती हैं।
  • बालों की समस्या पर विशेष ध्यान दें। बालों की सफाई न होने के कारण बालों की जड़ों में जमी पपड़ी की वजह से बालों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन तथा उचित पोषण नहीं मिल पाता है, जिसकी वजह से बाल अनाकर्षक हो जाते हैं और बालों का उड़ना, असमय बाल सफेद होने, डेंड्रफ आदि कई बिमारियों को पैदा कर सकता हैं।
  • किसी दूसरे व्यक्ति का कंधा, टॉवेल, तकिया, हेयर बैंड आदि का इस्तेमाल न करें। इससे डेंड्रफ का इंफेक्शन एक-दूसरे में फैल जाता है।

असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए खानपान सम्बंधी सुझाव/ Best Foods Tips To Avoid Premature White Hair.

  • अपने भोजन में दही को आवश्यक रूप से शामिल करें। दही बालों को काला बनाये रखने में बहुत उपयोगी है। दही से सवारें त्वचा और बालों को 22 टिप्स |
  • असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए और बालों को काला बनाए रखने के लिए शरीर में प्रोटीन, विटामिन ‘ए’, ‘बी-काम्पलेकस’, ‘सी’, ‘डी’, ‘ई”, कैलि्शयम, आयोडीन, फास्फोरस, ऑयरन, कॉपर आदि तत्वों की पूरी मात्रा की आवश्यकता होती है।
  • शरीर को उक्त सभी तत्व मिलते रहें, इसके लिए अपने आहार में दूध, मक्खन, पनीर, पालक, चौलाई, नींबू (Lemon), आंवला, खजूर, अंगूर, सेब, संतरा, मौसमी, हरी सब्जी, ताजे फल, अंकुरित खाद्यान्न, चोकर वाला आटा, बिना पालिश किया हुआ चावल आदि शामिल करें।
  • सर्दियों के मौसम में यदि प्रतिदिन एक पत्तागोभी खाई जाए तो एक महीने में ही आपको बालों में फर्क नजर आ जाएगा।
  • आयरन का सबसे बेहतरीन स्रोत है “बथुआ” सर्दियों में कम से कम एक समय इसको जरुर खाएं चाहे तो सब्जी, रायता, परांठा या अन्य किसी व्यंजन के रूप में ऐसा करने से आप केवल एक ही सीजन में फर्क महसूस करने लगेंगे |
  • गेहूं के पौधे का रस पीने से भी बाल सफेद होने से रोका जा सकता है| फलों के रस के सेवन से शीघ्र लाभ होता है।
  • फल-सब्जियों के विटामिन शरीर में अधिक मेलानिन की उत्पत्ति करते हैं, जिसके कारण बाल काले बने रहते हैं।
  • सब्जियों का सेवन सलाद या सूप के रूप में करना चाहिए।
  • नारियल की गिरी खाने और नारियल का पानी पीने से बाल लंबे और काले रहते हैं।
  • पानी का सेवन खूब करें दिन में कम से कम आठ से दस गिलास पानी जरुर पीयें |
  • गेंहू के पौधे का रस पीने से सफेद बाल काले होने लगते हैं।
  • बालों को काला करने तथा उन्हें झड़ने से रोकने में मछली का तेल भी बहुत लाभदायक है। यदि आप मांसाहारी हैं असमय बाल सफेद होने से बचाने के लिए मछली का सेवन अधिक करें।
  • ऑयली हेयर (तैलीय बालों) के लिए उपाय तथा हर्बल शैम्पू बनाने की विधि
  • आप चाहें तो सफेद बालों के इलाज के लिए Homeopathy Treatment grey hairs भी ले सकते है साइड इफ़ेक्ट रहित ये उपचार आपको इस बीमारी से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है |

अन्य सम्बंधित लेख 

15 Comments

  1. Noty Chauhan
  2. nabin kumar soren
  3. BIPIN RAWAT
  4. chetan kumar
  5. Shubham singh
  6. Mayank yadav
  7. Rishi kant mishra
  8. Kuldip singh

Leave a Reply