गहरी नींद के लिए आजमाए ये 26 टिप्स

{गहरी नींद और स्वास्थ्य} चिकित्सा के क्षेत्र में चल रहे शोध से यह सिद्ध हो चुका है कि भरपूर नींद (Deep Sleep) शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य तथा सुंदरता के लिए बहुत ही आवश्यक है। यह प्रकृति की एक महान् पौष्टिक औषधि है। नींद हमें अपनी ऊर्जा को फिर से हासिल करने, हमारे दिमाग को तरोताज़ा रखने और शारीरिक संसाधनों के अधिकतम इस्तेमाल करने में मदद करती है। अच्छे स्वास्थ्य और नींद के बीच एक बहुत ही गहरा संबंध है। आजकल लोग स्वास्थ्य और सुंदरता की तलाश में तरह-तरह के उपाय अपना रहे हैं और बेहद पैसा खर्च कर रहे हैं। कोई योग के द्वारा तो कोई मेडिटेशन और कोई व्यायाम के जरिए सुंदर बनना चाहता है। नि:संदेह ये सभी चीजें सुंदरता में सहायक हैं, लेकिन इनमें से कोई भी रात की नींद का विकल्प नहीं बन सकता । रात की भरपूर गहरी नींद केवल चिंता दूर भगाने में ही सहायक नहीं है, बल्कि आपके पूरे शरीर को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण योगदान देती है।

गहरी नींद पाने के लिए टिप्स / Mantra For Good Sleep

  • आरामदेह और तरोताज़ा कर देनेवाली नींद के लिए यह ज़रूरी है कि आपका बिस्तर आरामदेह हो । इसलिए मध्यम श्रेणी के मुलायम गद्दे पर सोने का बहुत अधिक महत्व है। ज्यादा मुलायम गद्दे पर सोने से पीठ में दर्द और कमर के दर्द की दूसरी समस्याएं तो हो ही सकती हैं। ज्यादा मुलायम या ज्यादा कड़ा कठोर गद्दा आपकी रीढ़ के लिए ख़राब होता है। यह अधिक असुविधाजनक भी होता है क्योंकि इस पर धंसी हुई स्थिति में सोना पडता है।
  • तकियों के ढेर (एक से ज्यादा तकियों )पर सिर को ऊंचा रखकर सोने से आपकी गर्दन में दर्द और ठोढ़ी दोहरी हो जाएगी और आप खर्राटे भी लेने लगेंगे। याद रखें केवल एक चौड़े तकिए का ही इस्तेमाल करें।
  • यदि संभव हो तो गद्दे के निचले हिस्से को उठाएं (पैरवाले सिरे को) ताकि आपके पैर सिर के तल से छह इंच या एक फुट ऊपर उठे रहें। यह सोने के लिए एक आदर्श स्थिति है क्योंकि इसमें खून का बहाव पीछे की ओर यानि पैर से दूर हृदय की ओर होता है।
  • जब आपके परिवार के लोग सो रहे हों और आपको नींद नहीं आ रही हो तो इस समय का इस्तेमाल करें। कुछ पढ़ें या मधुर संगीत सुनें या बस ध्यान करें। धीरे-धीरे जैसे ही आप आराम करने लगेंगे आपको नींद आने लगेगी।
गहरी नींद get-deep-good-sleep-hindi

गहरी नींद के लिए टिप्स

  • गहरी नींद पाने के लिए आप ब्रेन वेव थेरपी के अंतर्गत आने वाली (Theta Brain waves 3 TO 8 HZ ) को भी सुन सकते है इस बैंड विड्थ पर दिमाग पूरी तरह शांत और एकाग्र हो जाता है जो अच्छी नींद के लिए बहुत जरुरी होता है| ज्यादा जानकारी के लिए देखें हमारा ये लेख – जाने क्या है ब्रेन वेव थेरेपी जो बढ़ाये मानसिक शांति और शक्ति?
  • अगर नींद आने में दिक्कत हो तो नींद की गोली न लेने का प्रयास करें। इन गोलियों से आरामदेह और प्राकृतिक नींद नहीं आती। अप्राकृतिक और ज़बर्दस्ती की नींद लाने से आप ताज़गी महसूस नहीं करेंगे और सिरदर्द होता रहेगा। इसके अलावा आपकी सेहत भी बिगड़ जाएगी। आप चाहे तो कुछ प्राकृतिक और आयुर्वेदिक उपायों के जरिये अच्छी और गहरी नींद पा सकते जिनका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होता है | इसके लिए 13 घरेलू नुस्खे हम आपको अगले पोस्ट में बताएँगे |
  • आपको अपने सोने का समय निश्चित कर लेना चाहिए और उसी समय पर सोने की कोशिश करनी चाहिए। गहरी नींद के लिए प्रतिदिन थोड़ी देर व्यायाम करना भी जरूरी है।
  • सुबह अलार्म की सहायता से उठने के बजाय अपने आप उठने का प्रयास करे ऐसा आप तभी कर पाएंगे जब आपका सोने और उठने का समय निश्चित और अनुशाषित होगा |
  • आप जिस कमरे में सोते हों, कोशिश करें कि उसको केवल सोने का कमरा ही रखा जाए, उसको स्टडी या टी.वी. रूम न बनाया जाए।
  • कमरे का तापमान मौसम के अनुकूल रखिये और सोने का कमरा शांत हो तथा उसमे धीमी रोशनी हो |खिडकियों पर गहरे रंग के पर्दे हो ताकि बाहर की रोशनी अंदर न आये |
  • चावल और आलू जैसी गरिष्ठ चीजों को शाम के समय खाने से बचना चाहिए। मैग्नीशियम से भरपूर भोजन ले यह नींद लाने में सहायक होते है |
  • अपने भोजन या नाश्ते में कुछ विशेष तरह के कार्बोहाइड्रेट और फाइबर वाली चीजें, जैसे गेहूं, पास्ता, अंकुरित चना व मूंग की दालें आदि शामिल करें। यह सेरोटॉनिन नामक तत्व उत्पन्न करता है, जिससे नींद भी गहरी आती है।
  • रात को सोते समय संतुलित भोजन करना चाहिए यानि न ज्यादा खाना खाए न ही कम |और खाली पेट बिल्कुल न सोये |
  • सोने से एक घंटे पहले ज्यादा पानी ना पिए क्योंकि इससे आपको बार बार बाथरूम जाना पड़ सकता है और आप गहरी नींद नहीं ले पाएंगे |अगर आपको खांसी या कफ की शिकायत है तो जल्द ही इसका इलाज करवा ले क्योंकि इससे भी नींद में बाधा उत्पन्न होती है |
  • प्रातः जल्दी उठने का प्रयास करें और प्रतिदिन मॉर्निग वॉक करें।
  • शाम के समय अपना मनपसंद आउटडोर खेल खेलें इससे मनोरंजन के साथ- साथ अच्छा खासा व्यायाम भी हो जाता है |
  • पैर के तलवो पर हल्के गर्म सरसों के तेल की मालिश भी गहरी नींद आने में मदद करती है |
  • सोते समय चाय, कॉफी या शराब का सेवन बिल्कुल न करें। मादक द्रव्य आपकी नींद को दो घंटे पीछे धकेल देते हैं।और आप गहरी नींद नहीं ले पाते हैं |इसके विकल्प के तौर पर सोने से 30 मिनट पहले Chamomile Tea ले सकते है
  • शाम को 7 या 8 बजे तक रात्रि भोजन कर लेने से भोजन को पचने का वक्त मिल जाता है और आप शरीर को हल्का महसूस करते हैं। सोने से दो तीन घंटे पहले खाना खा लेने चाहिए |
  • अगर आपको अनिंद्रा (Insomnia) की समस्या है तो दिन में नींद की झपकी बिल्कुल न लें |
  • अपने मस्तिक्ष को सोने के लिए तैयार करें इसके लिए आप सोने से पहले ध्यान केन्द्रित करने वाला कार्य करें जैसे किताब पढना या योग मैडिटेशन करना या हल्का संगीत सुनना |सोने से पहले किसी भी प्रकार का तनाव ,उधेड़बुन ,चिंता , हिसाब -किताब ,आवेश ,और उत्साह (excitement) से बचें |
  • सोते समय सभी उपकरण बंद कर दे जैसे मोबाइल फ़ोन , लैंड लाइन आदि |इससे नींद के दौरान किसी प्रकार की व्यवधान उत्पन्न नहीं होगा जो गहरी नींद की पहली शर्त होती है |
  • आपके सोने के दौरान आपका शरीर अपने वज़न के हिसाब से प्रति पाउंड प्रति घंटा आधा कैलरी जलाता है।
  • अपनी छाती पर जो एक्युप्रेशर प्वाइंट है, उस पर थोड़ी मालिश करें। इससे गहरी नींद तो आयेगी ही साथ ही तनाव भी मुक्ति मिलेगी और पाचन शक्ति भी बढ़ेगी।
  • अपने पालतू जानवरों (Pets) को अपनी नींद में बाधा न बनने दे |
  • ज्यादा शारीरक मेहनत और कम तनाव ही गहरी नींद की अचूक प्राकृतिक दवा है |

गहरी नींद क्यों है जरुरी ?/ Deep Sleep Benefits

 

  • जैसे ही आपको नींद आती है, आपके शरीर की मशीन काम करना कम कर देती है। सभी अंग शिथिल पड़ जाते हैं, इसलिए जब आप सोकर उठते हैं तो तरोताजा महसूस करते हैं।
  • सोते समय ही नई कोशिकाएं जन्म लेती हैं और एंटी बॉडीज उत्पन्न होते हैं।
  • अक्सर लोगों की आँखों के नीचे गहरे रंग के धब्बे हो जाते हैं जो आंखों के साथ-साथ चेहरे की सुंदरता को भी कम कर देते हैं। ये धब्बे तभी पड़ते हैं, जब आंखों से ज्यादा काम लिया जाए और उनकी भरपूर विश्राम न मिले। इनको मिटाने के लिए भरपूर नींद बेहद जरूरी है। मानसिक तनाव के कारण और लक्षण-Stress Causes |
  • नींद पूरी न होने से त्वचा पर भी दुष्प्रभाव पड़ता है। धीरे-धीरे त्वचा ढीली, रूखी और निस्तेज हो जाती है। कांतिमय त्वचा के लिए सोना बहुत जरूरी है।
  • आपको पर्याप्त मात्रा में गहरी नींद नहीं आती तो आपकी त्वचा इस बात को जता देगी। वह रूखी, दागदार और निर्जीव लगेगी।
  • हर एक की नींद की जरूरत अलग-अलग होती है। आपको एक दिन में कितने घंटे की नींद चाहिए इसका कोई सही नुस्खा नहीं है यह व्यक्ति विशेष की शारीरिक अवस्था और उसकी उर्जा की जरूरतों पर निर्भर करता है |औसतन स्वस्थ व्यक्ति को एक दिन में कोई आठ घंटे सोना चाहिए | किंतु कुछ लोग चार से छह घंटे सो लेने के बाद जागने पर भी ताज़ा हो सकते हैं। जबकि कुछ लोगों को 10 घंटे की नींद की ज़रूरत होती है। अधिकतर शिशु और बच्चे रोज़ाना औसतन 12 से 14 घंटे सोते हैं। मानसिक रूप से परेशान और डिप्रेशन के मरीजो को ज्यादा नींद की जरूरत होती है। यह भी पढ़ें – शारीरिक थकान के कारण और दूर करने के उपाय
  • इस बात का ख्याल रखें कि कभी-कभी नींद की इच्छा इसलिए भी नहीं होती कि उस समय आपके शरीर को सोने की ज़रूरत नहीं होती।
  • लंबे समय तक पर्याप्त नींद न लेते रहने से आपकी याद्दाश्त तो प्रभावित होती है| अनिंद्रा होने से मेमोरी लोस या शोर्ट टर्म मेमोरी, उच्च रक्त चाप जैसी गंभीर समस्याए हो सकती है |

अन्य सम्बंधित लेख 

 

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें

Email this to someonePin on PinterestShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *