बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज

बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज – डेंड्रफ (रूसी) सिर की त्वचा की फालतू कोशिकाएं पपड़ियों के रूप में निकलती हैं तो इस अवस्था को डेंड्रफ  कहा जाता है और इसके कई कारण हो सकते हैं। यह सिर की सूखी या चिपचिपी त्वचा दोनों में ही आनुवंशिक, पर्यावरण या आहार किसी भी कारण से हो सकती है।

सिर की सूखी त्वचा में या आहार में प्रोटीन की कमी से हो सकती है। सिर की चिपचिपी त्वचा में सीबम या ‘प्राकृतिक तेल’  के अधिक उत्पादन के कारण पपड़ियां पैदा हो सकती हैं। दरअसल डेंड्रफ  भी त्वचा ही है जो सिर की त्वचा से पपड़ियों के रूप में निकलती है, किंतु किसी वजह से इसका झड़ना बढ़ जाता है। अगर इसका इलाज नहीं किया जाए तो बालों  से यह चेहरे तक भी बढ़ सकती  है। डेंड्रफ  काफ़ी बढ़ जाने से (जिसमें बाल भी झड़ सकते हैं) उसका फौरन इलाज करने की ज़रूरत है। इस सूरत में किसी Trichologist (केश विशेषज्ञ) को दिखाएं। घरेलू उपायों से साधारण और हल्की डेंड्रफ  को ही ठीक से  इलाज हो सकता है।

baalo-ki-samasya-aur-samadhan बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज

baalo-ki-samasya-aur-samadhan

  • डेंड्रफ  हो जाने पर बालों की सफाई निहायत ज़रूरी है। अपने हेयर ब्रश, कंघी, हेयर पिन आदि की नियमित  धुलाई करें वरना हर बार जब उनका इस्तेमाल करेंगे तो आपके सिर की त्वचा संक्रमित होती रहेगी।
  • डेंड्रफ  छूत का रोग है। याद रखें, कभी भी किसी दूसरे का हेयर ब्रश, कंघी, न तो लें, न दें। शैम्पू करने से पहले अच्छी तरह ब्रश कर लें।
  • एक कच्चे अंडे को फोड़कर उसे कड़ा करने के बाद सिर की त्वचा पर मालिश करें। इसे हफ्ते में एक बार लगाएं।  अंडे की ज़र्दी (Egg yolk) में 30 ml Rosemary Perfume, थोड़ा सा गर्म पानी और चुटकी भर Borax मिलाएं। शैम्पू करने से तुरंत पहले सिर पर इसकी मालिश करें।
  • अंतिम ज़रूरी बात यह है कि दवा मिली शैम्पू एंटी डेंड्रफ ही इस्तेमाल करें। बाज़ारों में डेंड्रफ  हटाने वाले अच्छे उत्पादन उपलब्ध हैं।

सफ़ेद बालों की समस्या दूर करने के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे /Ayurvedic Treatment For White Hair To Black Hair

हमारे पिछले लेखो में हमने बाल सफ़ेद होने के प्रमुख कारण , सफ़ेद बाल ना हों इसके लिए खानपान से सम्बंधी टिप्स और सफ़ेद बालों को काला करने के लिए कुछ आसान घरेलू नुस्खे बताये थे जिनको आप सभी ने बहुत सराहा था तथा इसके लिए हम आपका आभार व्यक्त करते है | इस पोस्ट में हम सफ़ेद बालों की समस्या से निपटने के लिए  कुछ बेहतरीन आयुर्वेदिक उपाय बताएँगे जिनसे निश्चित रूप से आपको लाभ होगा |

हम सभी का एक सपना होता है कि हमारे बाल सबसे ज्यादा काले, खूबसूरत, घने एवं लंबे हों। अपने बालों की सुंदरता के लिए तरह-तरह के प्रसाधनों का इस्तेमाल किया जाता हैं, जिसका परिणाम यह होता है कि हानिकारक केमिकल से बने भांति-भांति के आधुनिक कॉस्मेटिक्स बालों को सफेद बना देते हैं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए जरूरी होता है कि बालों के लिए उपयुक्त प्रसाधनों का या घरेलू चीजों का ही उपयोग करें। यह हो सकता हैं की हर्बल, आयुर्वेदिक और घरेलू उपायों से परिणाम थोडा देर से मिले परन्तु इनका मुख्य लाभ यह हैं की इन प्रणालियों के कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होते है |

  • सौ ग्राम आांवला पाउडर, सौ ग्राम रीठा, सौ ग्राम शिकाकाई, सौ ग्राम मुल्तानी मिट्टी , 25 ग्राम हरड़ के पाउडर , 25 ग्राम बहेड़ा के पाउडर को लोहे की कड़ाही में, इतने पानी में भिगोएं कि पेस्ट बन जाए। इसके बाद कड़ाही को धूप में रख दें। बीच-बीच में चम्मच से हिलाते रहें, जिससे पेस्ट सूख जाए। दूसरे दिन पानी डालकर फिर से पेस्ट बना लें। ऐसा कई दिनों तक करने पर पेस्ट काला हो जाएगा। इसे किसी डिब्बे में रख लें। सप्ताह में दो बार बालों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें । यह पेस्ट बालों को सफेद होने से रोकता है तथा बालों को सुंदर व काला बनाता है। आंवला, रीठा, शिकाकाई, हरड़, बहेड़ा में बालों को काला करने वाले आवश्यक तत्व पाए जाते हैं। मुलतानी मिट्टी में पाए जाने वाले तत्व हाइड्रेट सिलिकन तथा आयोडीन बालों को पोषण देते हैं।
  • जटामांसी, तिल, सारिवा, नीलोत्पल, और कूठ को पीसकर दूध में शहद मिलाकर लेप करने से बालों की विकृति मिटती है।
  • दुग्धिका, कनेर की जड़ को दूध के साथ पीसकर बालों की जड़ में मलने से बाल काले हो जाते हैं।
  • नीलकमल के फूल गाय के दूध में पीसकर लोहे के पात्र में बंद कर किसी गडढे में दबा दें। एक माह बाद पात्र निकालकर गाय के दूध में मिलाकर प्रतिदिन बालों में लगाने से बाल तेजी से काले होते हैं।
  • उड़द, कोदो, कोजी, घी आदि को तीन दिन किसी लौहे के बर्तन में डालकर रखें। सूख जाने पर इसका प्रयोग बालों में करने से बाल तेजी से काले होते हैं।
  • लोहे का चूर्ण , भृंगराज ,हरी तकी और काली मिट्टी बराबर मात्रा में कूट-पीसकर गन्ने के रस में डालकर लोहे के पात्र में भरकर, उस पात्र का मुंह बंद करके जमीन में दबा दें। एक महीने बाद उस बर्तन को निकालकर औषधियों के मिश्रण को छानकर लेप बनाकर बालों में लगाने से सफेद बालों से मुक्ति मिलती है।
  • लोध्र, दारुहरिद्रा, यष्टीमधु, नागरमोथा, कपूर कचरी, भांगरा 5–5 ग्राम, आंवला, अरिष्टक, सातला 10–10 ग्राम और 40 ग्राम कृष्ण मृत्तिका लेकर उन्हें पीस व छानकर महीन पाउडर बनाकर रख लें। फिर बालों की आवश्यकता अनुसार इस पाउडर की मात्रा लें फिर इसे पानी में घोलकर पन्द्रह मिनट गलने दें और फिर घोल को फेंटें। इसके बाद घोल को बालों में खूब मलें और अच्छी तरह धो लें। चार हफ्ते लगातार प्रयोग करने से सफेद बाल कम होने शुरू हो जाएंगे। इस बीच बालों में साबुन का प्रयोग न करें।
बालों की ayurvedic remedies for white hairs

Ayurvedic remedies for white hairs

  • बरगद की जटा को पीसकर उसका चूर्ण बना लें। अब इसमें थोड़ा-सा पानी मिलाकर पेस्ट बना लें, करीब एक घंटे तक सिर में लगाने के बाद सिर धो लें। पंद्रह दिन के लगातार प्रयोग से आपके बाल लंबे नजर आएंगे और बालों की मजबूती व चमक भी देखते ही बनेगी |
  • सरसों का औषधियुक्त तेल यदि सिर में लगाया जाए तो भी बाल काले हो सकते हैं। यह तेल धीरे-धीरे बालों की सफेदी कम करता है। इस तेल को घर पर भी तैयार किया जा सकता है। एक लीटर सरसों के तेल में थोड़ी रतनज्योत, 250 ग्राम मेहंदी पत्ते , 250 ग्राम जल भंगरा के पत्ते , 250 ग्राम आम की गुठलियां डालकर उबाल लें। इस तेल को रोजाना सिर में लगाएं।
  • काले बालों के लिए चिरौंजी, यष्टी, जीवनीय द्रव, काले तिल को दूध के साथ पीसकर सिर पर लेप करना चाहिए।

बालों को काला करें इन बेहतरीन आयुर्वेद के नुस्खों से /Ayurvedic Medicine For White Hair 

  • भृंगराज 100 ग्राम, सूखा आंवला, काला तिल, बड़ी हरड़, बहेड़ा प्रत्येक 100-100 ग्राम, सूखी मेहंदी के पत्ते , माजूफल, प्रत्येक 50-50 ग्राम, इन सबको दरदरा करके काढ़ा बनाकर निथार-छानकर बालों की जड़ों में दिन में दो बार लगाकर मालिश करें और 30 मिनट लगाकर छोड़ दें। तब बालों को भलीभांति धो लें। धोने के लिए रीठा, आंवला एवं शिकाकाई के निथरे जल से बालों को धोएं।
  • आंवले का दो चम्मच चूर्ण, सफेद लिली के दस फूल, ताजे गुड़हल के दो फूल, एक गुच्छा मेहंदी के फूल लें। सभी को अच्छी तरह से पीसकर पेस्ट बना लें। इसे बालों की जड़ों में अच्छी तरह लगाएं। दो घंटे बाद बालों को धो लें। आंवला, सफेद लिली के फूल, गुड़हल तथा मेहंदी के फूल में आयोडीन, ऑयरन, फास्फोरस, कापर, सेलीनियम आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं, जो बालों को सफेद होने से रोकते हैं तथा बाल सुंदर, काले व चमकदार बनते हैं।
  • चम्पा की 20-25 पत्तियां, चमेली की 20-25 पत्तियां, जूही की 20-25 पत्तियां लेकर अच्छी प्रकार से पीस लें। इसे एक लीटर तिल के तेल में अच्छी तरह से गर्म कर लें । ठंडा होने पर छान कर शीशी में रख लें। रात में सोते समय बालों में लगाएं। चम्पा, चमेली, जूही की पत्तियों में पाए जाने वाले तत्व बालों की सफेद होने से रोकते हैं तथा बालों को सुंदर व काले बनाते हैं।
  • एक लीटर सरसों का तेल, 100 ग्राम रतनज्योत , 100 ग्राम मेंहदी के पत्ते , 100 ग्राम जल भागरा के पत्तो , 100 ग्राम आम की गुठलियां। इन सभी को पीस कर मोटा पेस्ट बना लें व पानी में भिगों दें। छानकर इसे इतना उबालें कि पानी जल जाऐ । इस तेल का नित्य प्रयोग करने से बाल काले हो जाते है।
  • शुक्तामल, कच्चे चावल, सेंधा नमक और लौह चूर्ण को अम्ल द्रव के साथ आग पर पकाएं। जब गाढ़ा हो जाए तो सिर को साबुन से साफ कर रात में लेप करें। प्रातः त्रिफला मिले जल से सिर साफ करें। कुछ भागों में बाल काले, लंबे होते हैं।
  • भिलावा को नारियल के तेल और काले तिल के तेल (बराबर-बराबर मात्रा में) में पीसकर लें। इसमें आम की गुठली का चूर्ण, रेती से घिसकर प्राप्त लोहे का चूर्ण, बड़ी हरड़ का चूर्ण, में लेकर भृंगराज के स्वरस में डुबोकर तीन घंटे दृढ़ हाथों से मिलाते हुए भलीभांति सुखा लें। इनके कपड़े से छने हुए चूर्ण को रखें और भृंगराज के रस में मिलाकर सफेद बालों पर लगभग 6 महीने नियमित प्रयोग करें। सावधानी रखें कि भिलावा का हाथ से स्पर्श न होने पाए, नहीं तो सूजन आ जाएगी।

 बालों का झड़ना / Hair Fall 

  • अपने भोजन पर निगाह  रखें-क्या आप स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और विटामिन ले रहे हैं? आपके बाल प्रोटीन पर ही पलते हैं, इसलिए जितना अधिक प्रोटीन लेंगे, बेहतर ही होगा।
  • यह देखिए कि आप अधिक मात्रा में बे चरबीवाला मांस (Less fatty meats), Chicken, अंडे, मछली, कड़े छिलकेवाला फल (बादाम) और फलियां आदि आपकी डाइट में शामिल हो !
  • इसके अलावा अपने भोजन में विटामिन B को भी शामिल करें। इसका सर्वोत्तम स्रोत Brewer’s Yeast है। किसी चिकित्सक से सलाह के बाद ! रोज़ाना छह गोलियां तक ले सकते है, Minerals (खनिज), जैसे लौह और कॉपर जो मांस और पत्तेवाली हरी सब्जियों में पाए जाते है तथा आयोडीन, Sea Food (सागर से प्राप्त भोज्य पदार्थ जैसे मछली झींगा) बालों की सेहत के लिए बहुत अच्छे होते है। आयोडीन सिर की त्वचा में Blood Circulation को बेहतर बनाता है।
  • चार दिनों तक केस्टर आयल और  आयोडीन को बारी-बारी से लगाना गिरते बालों का बहुत अच्छा उपचार है।
  • गर्म तौलिए को सिर के चारों ओर बांधकर सिर में भाप दें। फिर शैम्पू करें। इस से जल्द ही परिणाम मिलता है।
  • सिर की त्वचा पर नींबू के रस की मालिश करने से भी बालों का झड़ना रुक जाता है।
  • 200 ग्राम रीठा लेकर चार गिलास पानी में भिगोएं। रात भर के लिए छोड़ दें। अगली सुबह इस मिश्रण को 10 या 15 मिनट तक उबालें। खानेवाले चम्मच से रीठे को दबाएं और पानी को छान लें। इसे बालों में लगाएं।
  • झड़ते बालों की समस्या में Hair Perming and bleaching न ही करवाए तो अच्छा रहेगा !
  • जैसा कि पहले बताया जा चुका है रोज़ 70 से 80 बालों का झड़ना बिलकुल मामूली बात है। तेज़ बुखार या ख़राब सेहत के कारण भी ये काफ़ी संख्या में झड़ सकते हैं। अगर आपको शक है कि आपके बाल सामान्य की अपेक्षा अधिक झड़ रहे हैं तो चिकित्सक को दिखाएं।

धुंघराले बालों की समस्या से ऐसे निपटे / Curly Hair Problem

  • एक सबसे अच्छा तरीका यह हो सकता है कि अपने चुंघराले बालों को छोटा कटवा लें और नियमित रूप से ब्रश करें। बड़े रोलर से अपने बालों को व्यवस्थित करें। कंडीशनर का बराबर इस्तेमाल करें।
  • बालों को सीधा करने के लिए जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए ? रसायन से सीधा करने से बालों का लचीलापन जाता रहता है और कुछ अंशों में उनकी उम्र छोटी हो जाती है। फिर भी इसकी 100 प्रतिशत गारंटी नहीं कि इलाज के बाद वे सीधे हो ही जाएंगे।
  • आप ब्लंट कट करवाएं-अगर सभी उसी लंबाई के हुए तो आपके बाल सीधे नज़र आएंगे।
  • बालों को सुखाने की एक सरल विधि, जो आपके बालों को भी सीधा कर देगी। जब बाल गीले रहें तभी फ़ोम कवर वाले रोलर को सिर के ऊपर रखें। शेष बालों को सिर के चारों ओर, एक ही दिशा में लपेटें। बिखरने न देने के लिए पिन का इस्तेमाल करें। फिर इसे आधे घंटे तक सूखने के लिए छोड़ दें। पिन हटा दे-अब बालों को उलटी दिशा में लपेटें। फिर पिन लगाएं और दस मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें। अब तक आपके बाल सूख ही गए होंगे। पिन हटा दें और अच्छी तरह ब्रश करें।

अन्य सम्बंधित लेख 

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें

Email this to someonePin on PinterestShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on Facebook

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *