यदि बाल झड़ने की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये खानपान

एक रिसर्च के मुताबिक ज्यादा बाल झड़ने की समस्या तब आती है जब शरीर में आयरन की कमी होती है। आयरन बालों को मजबूती के साथ मुलायाम भी बनाता है। बालों का लगातार झड़ना आयरन की कमी की ओर इशारा करता है। जब शरीर में किसी चीज की कमी होती है तो शरीर उन चीजों की देखभाल पहले करता है जो ज्यादा जरूरी है। जैसे कि दिल और दिमाग का ठीक से काम करना, बालों की देखभाल से अधिक महत्वपूर्ण है। इसलिए शरीर बालों की देखभाल बंद कर देता है और बाल झड़ने लगते हैं।

शरीर में अगर आयरन की कमी हो तो उसे पहचानना कोई कठिन काम नहीं है क्योंकि उसके लक्षण आसानी से दिख जाते हैं। मल्टीटासिंग होने की वजह से अक्सर महिलाओं में जल्द थकान और शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी होने लगती है। अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और स्वस्थ रहने के लिए ये जरूरी है कि आप अपने भोजन में उन खाघ पदार्थों का इस्तेमाल करें जिनमें आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती हो। डाइट और लाइफस्टाइल में कुछ जरूरी बदलाव करके थोड़े ही दिनों में लंबे बाल पा सकते हैं | अच्छी बात ये है कि ये सभी चीजें आसानी से उपलब्ध होती है | तो आइये जानते है बाल झड़ने की समस्या के दौरान लाभकारी खाद्य पदार्थ | Foods Diet That Stop Hair Loss hair fall |

स्वस्थ बालों तथा बाल झड़ने से बचाने के लिए क्या खाना चाहिए

baal jhadna rokne ke liye khana diet यदि बाल झड़ने की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये खानपान

Diet to stop hair fall

  • सिर की त्वचा को पोषण देता है गाजर का विटामिन ए : गाजर में विटामिन ए और बीटा कैरोटीन होता है। बीटा कैरोटीन कोशिकाओं को बूढ़ा होने से बचाते हैं। विटामिन “ए” एक ऐसी चीज है, जो केवल आंखों के लिए ही जरूरी नहीं है, बल्कि यह सिर की त्वचा को भी पोषण प्रदान करती है। सिर की स्वस्थ त्वचा ही चमकीले, घने और जानदार बालों का कारण बनती है।
  • सिर के संपूर्ण पोषण का काम करता है आंवला : विटामिन सी सिर की त्वचा में रक्त के सुचारू संचरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। रोमछिद्रों को पोषण देने वाली बारीक रक्त वाहिकाओं को भी विटामिन सी का समर्थन मिलता है। आवले में संतरे से भी ज्यादा विटामिन सी होता है, इसलिए यह न केवल शरीर को जबरदस्त रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है, बल्कि बालों का स्वास्थ्य भी सुनिश्चित करता है। विटामिन सी की कमी से बाल झड़ने लगते हैं। लिहाजा स्वस्थ बालों के लिए आंवले का सेवन बहुत लाभकारी है। विटामिन सी को हम कीवी फल, टमाटर, नींबू, संतरे, ब्लू बेरी, स्ट्रॉबेरी से भी हासिल कर सकते हैं।
  • बहुत लाभदायक हैं शकरकंद के विटामिन ए और ई : शकरकंद में विटामिन बी-6, भरपूर पोटेशियम, विटामिन ए, बीटा कैरोटीन, विटामिन सी और ई होते हैं। शरीर की हर कोशिका को ठीक से काम करने के लिए विटामिन ए की जरूरत पड़ती है, इसलिए शकरकंद का विटामिन ए सिर की कोशिकाओं के लिए मददगार है। विटामिन ए की कमी से बालों में रूसी और खुजली की भी समस्या होती है जो बाल झड़ने की समस्या को भी जन्म दे देती है। इसमें विटामिन सी और ई होने से भी यह बालों के लिए लाभकारी है। विटामिन ए और बीटा कैरोटीन को हम गाजर, खरबूजा, आम, कद्दू और खुबानी से भी अच्छी मात्रा में हासिल कर सकते हैं।
  • मछली से लें या अन्य से, ओमेगा-3 फैट्स जरूर लें : मछली में प्रोटीन और विटामिन डी भरपूर होता है, जो स्वस्थ बालों के लिए जरूरी पोषक तत्व हैं। साथ ही मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं। ये अच्छे फैट बालों के विकास के लिए बहुत जरूरी होते हैं। बालों के शैफ्ट का 3 फीसदी हिस्सा इसी फैटी एसिड से बना होता है। सिर की त्वचा की कोशिकाओं की झिल्ली में भी यही फैटी एसिड मौजूद रहता है, जो सिर की त्वचा और बालों में नमी बनाए रखता है। सालमन, सारडाइन, मैक्केरेल, हेरिंग जैसी मछलियों में यह विशेष रूप से पाया जाता है। मछली से आयरन भी हासिल होता है, जो स्वस्थ बालों का मददगार है और बाल झड़ने से भी रोकता है।
  • खास बात : अगर आप मांसाहारी नहीं हैं तो इस ओमेगा-3 फैटी एसिड की प्राप्ति एवोकैडो, कद्दू के बीज, अखरोट, बादाम, मूंगफली जैसे नट्स, अलसी के बीज और तेल, सोया व सरसों के तेल से हासिल कर सकते हैं |
  • सिर पर स्वस्थ बाल पसंद करता है अखरोट : प्रोटीन, एंटी ऑक्सीडेंट, विटामिन, मिनरल्स और ओमेगा-3 फैट्स के भंडार अखरोट बालों के लिए एक उपहार की तरह हैं। वैसे तो ये तत्व बादाम, मूंगफली समेत सभी नट्स में होते हैं, पर जहां तक बालों का संबंध है तो अखरोट का महत्व कुछ ज्यादा है। इनमें मौजूद विटामिन ई और बायोटीन कोशिकाओं को डीएनए डैमेज से बचाते हैं, इसलिए ये बालों के लिए बहुत काम की चीज हैं। अखरोट में कॉपर भी होता है, जो बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होता है। अखरोट में जिंक, आयरन और विटामिन बी के तीन प्रकार (बी-1, बी-6 और बी-9) भी होते है, जो बालों के लिए जरूरी पोषक तत्व हैं। अखरोट में ओमेगा-6 फैटी एसिड भी होते हैं, जो बालों के विकास के लिए अच्छे माने जाते हैं। थोड़ी सावधानी : अखरोट में सेलेनियम नामक तत्व भी होता है, जिसकी विशेषता यह है कि इसकी कमी भी बाल झड़ने का कारण बनती है और यदि यह शरीर में ज्यादा हो जाए तो भी बाल को नुकसान होता है। इसलिए अखरोट या अन्य नट्स का सेवन नियंत्रित मात्रा में ही करना चाहिए।
  • सी फूड खा सकते हैं तो ओएस्टर और झींगा हैं उत्तम : यदि आप सी फूड खा सकते हैं तो ओएस्टर बालों के लिए बहुत अच्छा भोजन है। इनमें प्रोटीन का भंडार तो है ही, भरपूर जिंक भी होता है। जिंक की कमी से बाल झड़ने लगते हैं और सिर की त्वचा सूखी हो जाती है। इसी तरह बालों के लिए प्रोटीन भी बहुत जरूरी है। बालों का 97 फीसदी अंश प्रोटीन ही होता है। सी फूड में दूसरा नाम झींगा का है। इनमें भी प्रोटीन, विटामिन बी-12, आयरन, जिंक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। सामान्य मांस के जरिए भी हमें बालों के लिए प्रोटीन और अन्य सभी जरूरी पोषक तत्व हासिल होते हैं।
  • बालों के काम की हर चीज मौजूद है अंडे में : अंडे में कैरोटिनॉयड, प्रोटीन और बहुत काम के अमीनो एसिड होते हैं। अंडे विटामिन डी के बहुत बढ़िया भंडार हैं। इनमें विटामिन बी-12 भी पाया जाता है। साथ में ओमेगा-6 फैटी एसिड भी हैं। प्रोटीन बालों के लिए बहुत जरूरी है। इसी के साथ जिंक, सेलेनियम, सल्फर और आयरन के धनी होने से भी अंडे स्वस्थ बालों के अच्छे दोस्त हैं। आयरन ऑक्सीजन को बालों के रोमछिद्र तक ले जाने में मदद करता है। आयरन की कमी से बाल झड़ने लगते हैं। अंडे में विटामिन बी-7 (बायोटीन) भी मौजूद है। कुल मिलाकर अंडे में वे सब चीजें हैं, जिनकी शरीर में कमी होने पर बालों पर सीधा असर पड़ता है।
  • शाकाहारियों के लिए दूध-दही है बहुत ही बढ़िया : लो फैट वाला दूध और इसके उत्पाद (दही, पनीर आदि) बालों के लिए बेहतरीन भोजन है। दही से बालों के लिए जरूरी प्रोटीन तो मिलता ही है, विटामिन बी-5 भी हासिल होता है। विटामिन बी-5 को पैंटोथेनिक एसिड भी कहते हैं, जो ज्यादातर बालों की देखभाल करने वाले बाजार में बिकने वाले उत्पादों में इस्तेमाल होता है। दही में विटामिन डी भी होता है, जिसकी बालों के पोषण में अहम भूमिका मानी जाती है। इसमें कैल्शियम भी होता है, जो बालों के विकास के लिए एक और जरूरी तत्व है।
  • पालक और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियां हैं बालों के लिए अच्छी डाइट – पालक में आयरन, बीटा कैरोटीन, फोलेट और विटामिन सी विशेष रूप से पाया जाता है। ये सभी तत्व स्वस्थ बालों के निर्माण में सहयोग देते हैं। पालक के जैसी अन्य हरी पत्तेदार सब्जियां भी बालों के लिए पालक जितनी ही लाभकारी होती हैं।
  • दालों में भी स्वस्थ बालों के कई चीजे हैं मौजूद : मूंग, मसूर जैसी दालों में प्रोटीन, आयरन, जिंक, बायोटीन जैसे बालों के सभी मित्र पदार्थ पाए जाते हैं। सोयाबीन और राजमा में भी यह तत्व होते हैं। कुल मिलाकर स्वस्थ बालों और बाल झड़ने की बीमारी से बचने के लिए दालें जरूरी होती हैं।
  • बालों को बेजान नहीं रहने देता आलू बुखारा : यदि बाल सूखे, कड़े व बेजान रहते हैं तो बाल झड़ने लगते हैं तो उनमें आयरन की कमी हो सकती है। आलूबुखारा में आयरन का अच्छा भंडार होता है, लिहाजा आलूबुखारा का सेवन भी बालों की समस्या में लाभकारी होता है।
  • ओट्स भी देते हैं स्वस्थ बालों की गारंटी : ओट्स यानी जौ और अन्य साबुत अनाजों के दलिया में जिंक, आयरन और ओमेगा-6 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। बालों के संबंध में जिंक और आयरन के गुण तो हम पढ़ ही चुके हैं, जहां तक ओमेगा-6 फैटी एसिड की बात है तो ये एसिड त्वचा, बाल और सामान्य विकास में अहम भूमिका निभाते हैं। इसीलिए स्वस्थ बालों के लिए अपने नाश्ते में ओटमील को जरूर शामिल करें।
  • हरी मटर हर तरह से फायदेमंद है : हरी मटर में बालों के मददगार आयरन और जिक जैसे तत्व होते हैं। साथ में विटामिन बी भी होता है, जो बाल झड़ने की समस्या को रोकने के लिए जरूरी होता है।
  • बालों के लिए जरूरी अनेक चीजें हैं अलसी में : यह ओमेगा-3 फैट्स, डायटरी फाइबर, पोटेशियम और अन्य अनेक पोषक तत्वों का घर है। ओमेगा-3 फैट्स चूंकि हमारे शरीर की सभी कोशिकाओं के जरूरी तत्व होते हैं, इसलिए अलसी का बीज और तेल एक तरह से हमें संपूर्ण स्वास्थ्य देने का काम करता है। यह बालों का भी दोस्त है।
  • बाल झड़ने से रोकता है लहसुन का एलिसिन : लहसुन गजब का एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बायोटिक पदार्थ है। इसमें मौजूद एलिसिन नाम का तत्व बालों की झड़ने से रोकता है। लहसुन में एंटी फंगस गुण भी हैं, जिससे सिर में फंगस इन्फेक्शन को दूर करता है।
  • बालों को सफेद होने से बचा सकती है लौकी : लौकी प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और मिनरल से भरपूर होती है। यह पित्त को बाहर निकालती है और शरीर में तनाव को कम करती है। इसमें विटामिन बी और सी के अलावा आयरन, सोडियम और पोटेशियम भी होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, इसका जूस बालों को सफेद होने से बचाता है।
  • बालों के सभी मित्र विटामिन हैं शिमला मिर्च में : शिमला मिर्च विटामिन ए, ई, बी और सी से भरपूर होती है यानी सख्त रोग प्रतिरोधी और बालों के लिए बढ़िया।

बाल झड़ने की समस्या होने पर इन चीजो से रखे परहेज

  • ज्यादा चीनी हर तरह से बालों के लिए है हानिकारक होती है | चीनी की ज्यादा मात्रा शरीर में जाकर बालों को समय से पहले सफेद करती है और बाल झड़ने का कारण भी बनती है। कुल मिलाकर ज्यादा चीनी बालों के लिए बहुत हानिकारक है। इसका यह अर्थ नहीं है कि हम मीठा खाएं ही नहीं। इसका अर्थ है कि हम शरीर में जाने वाली शुगर की ज्यादा मात्रा भोजन में बाहर से डाली गई चीनी के बजाय प्राकृतिक पदार्थों (फल, सब्जी आदि) से लें।
  • सोडियम यानी नमक शरीर के लिए जरूरी है, लेकिन एक तय मात्रा में ही। सामान्य अवस्था में रोजाना 2,300 मिलीग्राम से कम नमक शरीर को चाहिए। बीमारी (हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी की बीमारी) या 50 साल से ऊपर की आयु में नमक की रोजाना की मात्रा 1,500 मिलीग्राम से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। यदि इससे ज्यादा नमक नियमित रूप से शरीर में जाता है तो न सिर्फ शरीर को नुकसान पहुंचाता है, बल्कि बाल झड़ने का कारण भी बनता है।
  • प्रोसेस फूड में होता है स्वस्थ बालों का विरोधी एमएसजी एक पदार्थ होता है मोनोसोडियम ग्लूटैमेट। इसका संक्षिप्त नाम एमएसजी है। एमएसजी या इसी से मिलता-जुलता डिब्बाबंद भोज्य पदार्थों में। एमएसजी से स्वास्थ्य संबंधी कई तरह की समस्याएं पैदा होती हैं, जिनमें से एक बाल झड़ने की समस्या भी है। इसलिए हमें स्वस्थ बाल पाने के लिए इस तरह के खान-पान से दूर रहना चाहिए।
  • कृत्रिम मीठा और कृत्रिम रंग से मुरझा जाते हैं बाल जिन खाने की चीजों में कृत्रिम मीठा डाला जाता है, उनसे एलर्जी, माइग्रेन, पीएमएस (प्री मैन्सटुअल सिंड्रोम) जैसी समस्याओं के अलावा बालों के गिरने की समस्या भी पैदा होती है। इसी तरह कई भोज्य पदार्थों में डाले जाने वाले कृत्रिम रंग भी हमारे बालों को काफी नुकसान पहुंचाते हैं और बाल झड़ने का कारण बनती है ।
  • ब्लीच किया गेहूं का आटा भी कर सकता है नुकसान सफेद रंग देने के लिए गेहूं के आटे को ब्लीच कर दिया जाता है। सामान्य आटे के मुकाबले ऐसे आटे में पोषक तत्वों की बहुत कमी होती है। इसके लिए ऐसे आटे को फिर से पोषक तत्वों से समृद्ध करने की कोशिश की जाती है, मगर विशेषज्ञों के अनुसार इस प्रयास में ये पोषक तत्व (जैसे आयरन) फायदे की जगह नुकसानदायक हो जाते हैं और शरीर के साथ ही बालों को नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए बाल झड़ने की समस्या में इस प्रकार के आटे से दूर ही रहना चाहिए।
  • सोडा ड्रिंक में भी हैं बालों के कई दुश्मन सोडा ड्रिक में बालों की दुश्मन शुगर तो होती ही है, साथ ही इसमें कॉर्न सीरप, कृत्रिम मीठा, कृत्रिम रंग भी होते हैं। इस प्रकार के ड्रिंक के ज्यादा उपयोग से ये शरीर को डिहाइड्रेट करते हैं, जिससे बालों में भी रूखेपन और बाल झड़ने की समस्या आ जाती है।

बाल झड़ने रोकने के लिए घरेलू नुस्खे

  • नारियल दूध और नींबू को मिलाकर मालिश करने से बाल झड़ने की समस्या से राहत मिलती है।
  • मेथीदाना का पेस्ट भी बाल झड़ने से रोकता है। (2-3 घंटे लगाएं)
  • केला, अंडा और शहद का पेस्ट बालों को घना करता है। (तीन घंटे लगाएं)
  • नारियल के दूध और तेल के साथ जैतून के तेल का थोड़ा-सा गर्म मिश्रण रात भर लगा रहने से बालों में नई जान आ जाती है और बाल झड़ने की समस्या से भी राहत मिलती है ।
  • अंडे की सफेदी बालों में लगाकर आधा-एक घंटे बाद शेंपू किया जाए तो डेंड्रफ खत्म होगा और बाल चमकेंगे।
  • शेंपू करने के बाद बालों को नींबू रस वाले पानी से धोने पर भी बालों को बहुत फायदा होता है।

बाल झड़ने की समस्या से बचने के लिए इन बातों का भी रखे ख्याल

  • बाल झड़ने से बचने के लिए तनाव न पालें। यह बालों के क्षरण को प्रोत्साहित करता है।
  • हेयर स्प्रे, हेयर जैल और स्टाइलिंग क्रीम का उपयोग न करें। इन चीजों में बहुत ही तीव्र रसायन होते हैं, जो स्केल्प को सुखा देते हैं और सिर की त्वचा पर पपड़ी बनने का कारण बनते हैं।
  • बालों को चुंघराले बनाने की कोशिश और उनमें डाई लगाने से भी बालों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
  • बाल झड़ने की समस्या से बचने के लिए बार-बार अपना शैम्पू न बदलें। एक अच्छे सौम्य तरीके से बालों की सफाई करने वाले शैपू का चयन करें और छह महीने तक उसी का इस्तेमाल करें।
  • बालों के ज्यादा धूप, प्रदूषण, बारिश के पानी और धूल के संपर्क में आने से भी बाल सूखे, खस्ता और बेजान हो जाते हैं।

अन्य सम्बंधित पोस्ट

Comments

  1. Reply

  2. By arti maurya

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *