खूबसूरत आंखों के लिए आजमाए ये टिप्स

दुनिया की तमाम रंगीनियां, रौनक और खूबसूरती तभी तक है, जब तक कि ये आंखें सलामत हैं, इसलिए आंखों को स्वास्थ्य और सौंदर्य का आईना माना गया है। खूबसूरत आंखों को पाने के लिए लापरवाही से बचना होगा और इनकी सुरक्षा करनी होगी। आप अपनी आंखों की सही प्रकार से देखभाल करें और आंखों के मेकअप के सही तरीके की जानें तो आप खुद महसूस करने लगेंगी कि आपकी आंखों को नया जीवन मिल गया है | हमारी आंखों की कार्यविधि और संरचना काफी जटिल है। आंखों के मामले में हमें लापरवाही और प्रयोग से बचना चाहिए, क्योंकि जरा-सी चूक बड़ी परेशानी का कारण बन सकती है। हम हमेशा आपको हर्बल, आयुर्वेदिक और घरेलू कास्मेटिक के प्रयोग करने के लिए सलाह देते है लेकिन कई लोगो के पास इन्हें बनाने और उपयोग करने में लगने वाले समय की कमी होती है इसलिए वो कुछ रेडिमेड समाधान ढूंढते है इस पोस्ट में खूबसूरत आंखों के लिए इन्हीं सब बातो को ध्यान में रखकर जानकारियां दी गई है |

कई स्त्रियाँ खूबसूरत आंखों के लिए दोस्तों के कहने पर या कॉस्मेटिक बेचने वाले के कहने पर आई मेकअप प्रोड्क्ट्स खरीद लेती है जिनके इस्तेमाल से कुछ समय के लिए तो आंखें खूबसूरत दिखने लगती है, लेकिन इसके प्रभाव से आंखों से सम्बन्धित कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आंखें अनमोल हैं, इनके मामले में दाम देखकर समझौता नहीं करना चाहिए, थोड़े अधिक पैसे लग भी जाएं तो इसकी परवाह न करें। खूबसूरत आंखों के लिए हमेशा अच्छी किस्म के कॉस्मेटिक ही खरीदें। अच्छा होगा कि इन उत्पादों के विषय में कॉस्मेटिक्स विशेषज्ञ की सलाह ले लें अथवा ऐसी जगह से कॉस्मेटिक खरीदें, जिस पर आपको यकीन और पक्का भरोसा हो ।

जैसा की आपको अंदाजा होगा की आंखों में एक लेंस होता है। लेंस के नीचे-ऊपर पलकें होती हैं, जो झपक-झपककर तस्वीरों को कैद भी करती हैं और आंखों को सुरक्षा प्रदान भी करती हैं। इन पलकों पर बरौनियां होती हैं। बोलती खूबसूरत आंखों के लिए इन्हें ही मेकअप से सजाया संवारा जाता हैं। मेकअप संबंधी समस्याएं और उनके समाधान में आंखों का मेकअप किस प्रकार से करना चाहिए, इस विषय के संबंध में आप हमारे पुराने पोस्ट पढ़ सकती है जिनमे काफी विस्तार से बताया गया है।

आंखों से संबंधित कई समस्याएं हैं, जिनमें से एक है डार्क सर्कल यानी काले घेरे। ये समस्या कई कारणों से हो सकती है, जैसे शरीर में किसी विटामिन या अन्य किसी पोषक तत्व की कमी का होना, नींद न आना, मानसिक तनाव या फिर किसी को आनुवांशिक कारण भी हो सकता है। देखा जाए तो पिछले कई सालों में यह समस्या बेहद आम हो गई है, क्योंकि आज की इस भागदौड़ वाली जिंदगी में कंप्यूटर स्मार्ट फ़ोन टी वी. हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन चुका है। हमारा अधिकांश समय इसी के साथ गुजरता है। कंप्यूटर से निकलने वाली रोशनी से हमारी आंखों पर काफी असर होता है, जिस कारण आंखों के नीचे काले घेरे की समस्या उत्पन्न होती है। इन काले घेरों की वजह से व्यक्ति थका हुआ और उम्रदराज भी नज़र आता है। इसके अलावा बढ़ती उम्र में होने वाले बदलाव भी खूबसूरत आंखों के लिए परेशानी का कारण बन जाते है। परंतु आप खूबसूरत आंखों  पाने और इनकी सेहत को हमेशा बरकरार रखने के लिए आप निम्न उपाय आजमा सकती हैं। #Best #Eye #Creams #cosmetics, Eye #Beauty #Treatments, #tips for #beautiful #eyes

खूबसूरत आंखों के लिए उपाय :

ankho ko sundar banana eye beauty tips खूबसूरत आंखों के लिए आजमाए ये टिप्स

Beauty Tips for Eyes

  • ए.एच.ए. क्रीम – ए.एच.ए. यानी अल्फा हाईड्रॉक्सी एसिड क्रीम, जो फलों से निकाले गए एसिड होते हैं और त्वचा में कोलाजन तेजी से बनाकर उस पर झुर्रियां पड़ने से बचाते हैं तथा आंखों के नीचे का कालापन दूर करने में भी मदद करते हैं। इसके इस्तेमाल से एक्सफोलिएशन और नई कोशिकाएं बनने की प्रक्रिया तेज होती है, जिससे त्वचा में नवीनीकरण दिखाई देता है। रोज रात को चेहरा साफ करने के बाद अपनी अनामिका अंगुली में थोड़ी-सी ए.एच.ए. क्रीम लेकर आंखों के चारों तरफ गोल-गोल मालिश कीजिए। इस क्रीम के रोजाना इस्तेमाल से उम्र के निशान कम होंगे, साथ ही त्वचा निखरी व जवां नज़र आएगी। खूबसूरत आंखों के लिए इस क्रीम का प्रयोग करें लेकिन ध्यान रहें कि क्रीम के अंश अीखों के अंदर न जाएं। घरेलू उपाय जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल –आँखों के नीचे Dark Circles से बचने के लिए उपाय
  • कोलाजन सीरम – उम्र बढ़ने के साथ-साथ त्वचा में कोलाजन बनना कम हो जाता है, जिस कारण आंखों के नीचे झुर्रियां, बारीक लकीरें आदि समस्याएं उत्पन्न होने लग जाती हैं जो खूबसूरत आंखों के ऊपर एक दाग की तरह दिखते है। कोलाजन सीरम का दैनिक इस्तेमाल आपकी त्वचा को फिर से बना कर उसे सुरक्षित व हाईड्रेट करेगा, साथ ही उम्र के निशानों को भी दूर करेगा । कोलाजन सीरम कॉन्सेंट्रेटिव फॉर्म में होता है, इसलिए बहुत कम मात्रा में लगाया जाता है। कोलाजन सीरम का इस्तेमाल सुबह चेहरा साफ करने के बाद या हो सके तो हल्का स्क्रब करने के बाद ही करें। घरेलू उपाय जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल – एलोवेरा से हटाएं चेहरे की झुर्रियाँ, पिम्पल
  • बायोप्ट्रान ट्रीटमेंट – यह एक तरह की येलो लेज़र है, जो दोनों आंखों पर 8-10 मिनट के लिए दी जाती है। आमतौर पर लेज़र आंखों के लिए सुरक्षित नहीं होती, पर यह लेज़र आंखों के लिए सुरक्षित है। इस लेज़र के प्रभाव से त्वचा दुबारा बनती है। इसके अलावा इससे रक्त संचार भी बढ़ता है, जिसकी वजह से आंखों के आस-पास छायी पफनेस कम होती है, साथ ही डार्कनेस के कम होने से काले घेरे भी हल्के नज़र आने लगते हैं जो खूबसूरत आंखों के लिए बहुत जरुरी है । इतना ही नहीं, इस उपचार से झुर्रियां भी बहुत हद तक कम हो जाती हैं।
  • अंडर-आई पीलिंग ट्रीटमेंट – जैसा की आप जानती हैं काले घेरे खासतौर से खूबसूरत आंखों को बदसूरत बना देते है इसलिए Under-Eye Peeling Treatment डार्क सर्कल को कम करने के लिए ये सबसे असरदायक आधुनिक उपचार है। इस उपचार के अंतर्गत माइल्ड केमिकल पीलिंग की जाती है। सबसे पहले इसमें आंखों के आस-पास आर.जी. पील करते हैं, इसके बाद 10 मिनट रुककर उसे न्यूट्रॉलाइज़र से न्यूट्रॉलाइज़ कर देते हैं। हर 10 दिन के अंतराल पर इस उपचार की 6 सिटिंग्स दी जाती हैं, जिससे काले घेरे बेहद हल्के हो जाते हैं। डार्क सर्कल को दूर करने के लिए 15 घरेलू नुस्खे
  • ऑरेंज ऑयल – विटामिन-सी युक्त ऑरेंज ऑयल त्वचा के क्षतिग्रस्त सेल्स को फिर से बना के उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को बढ़ने से रोकता है। इसके साथ ही आधा चम्मच बादाम का तेल और 5 बूंदें ऑरेंज ऑयल को मिलाकर लें। इससे आंखों के चारों ओर हल्के-हल्के से गोलाई में मालिश करें, ऐसा करने से काले घेरे भी हल्के ही जाते हैं।
  • कोलाजन मास्क – कोलाजन मास्क त्वचा में कसाव लाता है और त्वचा को बढ़ती उम्र के निशानों से काफी हद तक बचाये रखता है। यह मास्क आप किसी भी अच्छे कॉस्मेटिक क्लीनिक से लगवा सकती हैं। वैसे लेज़र के साथ इस मास्क का प्रयोग करने से बेहतरीन परिणाम निकलते हैं। लेज़र से त्वचा के नीचे डेड सेल्स में नई जान आती है और मास्क में 95 प्रतिशत कोलाजन होने के कारण त्वचा की आवश्यक खुराक मिलती है। खूबसूरत आंखों पाने और आंखों के काले घेरों और झुर्रियों को दूर करने में इससे बेहतर अन्य कोई उपचार नहीं है।
  • सनग्लॉसेज – मानसिक तनाव के अलावा सूर्य की हानिकारक किरणें यानी यूएवी और यूवीबी किरणें भी आंखों की बहुत बड़ी दुश्मन हैं। आंखों को धूप से सुरक्षित रखना उतना ही जरूरी है जितना कि अपनी त्वचा को बचाना, क्योंकि धूप से केवल आपकी त्वचा टैंड ही नहीं होती, बल्कि आंखों के नीचे झुर्रियां भी पड़ने लग जाती हैं। ऐसे में स्टाइलिश गॉगल्स लगाने से आपकी आंखों की सुरक्षा भी होती है और आप बेहद खूबसूरत व फैशनेबल नज़र आते हैं। कुछ लोगों को चश्मा लगाने के कारण अलग से सनग्लासेज को कैरी करना एक झंझट लगता है, ऐसे में फोटोकैमेटिक लेकिन स्टाइलिश लेंस लगवा लेने से आपके दोनों काम आसानी से बन सकते हैं।
  • योग – खूबसूरत आंखों के लिए योग और व्यायाम की भूमिका को बिलकुल भी नजरअंदाज ना करें नहीं तो वो खूबसूरती स्थाई नहीं रहेगी | आखों पर से तनाव को कम करने के लिए योग भी एक बेहतर उपचार है। ऐसा करने से आंखों के आस-पास की मांसपेशियां मजबूत रहती है, साथ ही लचीलापन भी बरकरार रहता है। इसके अलावा योग के नियमित अभ्यास से आंखों की रोशनी भी बढ़ती है। आप रोजाना काम के बीच ही कुछ बातों का ख्याल रखकर अपनी आंखों को स्वस्थ बना सकते हैं। जैसे गर्दन को सीधा रखकर आंखों की पुतलियों को पहले 4-6 बार ऊपर नीचे और फिर दाएं-बाएं घुमाएं। इसके बाद इस क्रिया को गोलाई में क्लॉकवाइज और एंटी-क्लॉकवाइज घुमाइए। आंखों को घुमाते वक्त बीच-बीच में हथेलियों के मध्य भाग से आंखों को कुछ देर तक ढककर रखें, इससे आंखों की मांसपेशियां मजबूत बनी रहेंगी। आँखों की रोशनी बढ़ाने वाले योगासन
  • घरेलू उपचार – बढ़ती उम्र की आम समस्या यानी झुर्रियां, आमतौर पर त्वचा रूखी होने के कारण होती हैं। ऐसे में अपनी आंखों को घर पर पोषण देने के लिए ब्रेड क्रम्स को गुनगुने दूध में फूलाएं। अब इसमें बादाम के तेल और एलोवेरा एक्सट्रैक्ट की कुछ बूंदें मिला लें। इस पेस्ट को किसी जालीदार कपड़े में लपेटें और बंद आंखों के ऊपर 15 मिनट रखें। यह प्रक्रिया हफ्ते में कम-से-कम तीन बार करने से कुछ ही दिनों में झुर्रियां कम हो जाएंगी।
  • संतुलित आहार- खूबसूरत आंखों के लिए और अपनी आंखों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए अपने आहार चार्ट पर नज़र जरूर डालें। ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन-ए, सी व ई युक्त आहार जैसे पालक, सॉल्मन मछली, अखरोट, संतरे व बादाम आदि की मात्रा को अपने आहार में जरुर शामिल कीजिए। विटामिन-ए के सेवन से आंखों की चमक व रोशनी बढ़ती है, विटामिन-सी से कालापन कम होता है, विटामिन-ई से आंखों को पोषण मिलता है जो झुर्रियों को दूर करने में मदद करता है और ओमेगा-3 फैटी एसिड से त्वचा की लचीलता बरकरार रहती है।
  • खूबसूरत आंखों को होना केवल सौंदर्य का ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य का भी प्रतीक होता है। इसलिए आपको कई स्तरों पर प्रयास करने पड़ेंगे |

कैसे रख सकते हैं आंखों का ख्याल, जानते हैं 

  • सप्ताह में एक या दो बार आंखों को आई लोशन, त्रिफला या गुलाबजल से साफ कीजिए। इनसे आंखों में पड़ी धूल-मिट्टी व कीटाणु तो साफ होंगे ही, साथ ही आंखों की चमक भी बढ़ेगी।
  • खूबसूरत आंखों के लिए धूप में जाते समय चश्मा जरूर पहन लें और हो सके तो छतरी का भी प्रयोग करें।
  • टी.वी. बहुत देर तक नहीं देखें और हमेशा दूर से बैठ कर ही देखें। यदि कंप्यूटर पर कार्य करते हैं, तो एंटी ग्लैयर चश्मे का प्रयोग जरूर कीजिए।
  • देर रात तक जागने और सुबह देर तक सोते रहने का भी आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए समय पर सोएं और 6-8 घंटे की नींद जस्टर लें।  आंखों की आम समस्याओं के लिए कुछ आसान उपाय
  • खूबसूरत आंखों को बनाए रखने के लिए लगातार काम न करें। बीच-बीच में आंखों को बंद करके उन पर दोनों हाथों की हथेलियां रखकर कुछ मिनट तक विश्राम देते रहें।
  • खीरे को कद्दूकस कर आखों पर रखें एवं आराम से लेट जाएं। कुछ ही देर में आंखों की थकान कम महसूस होगी।
  • कच्चे आलू के रस में रुई भिगोकर लगाने से आंखों के नीचे का कालापन दूर हो जाता है।
  • सुबह के समय हरी घास पर नंगे पांव चलने व हरियाली देखने से भी आंखों को बहुत आराम पहुंचता है।

ये तमाम बातें आपसे इसलिए कह रही हूं कि हमारी सुंदरता में हमारी आंखों का काफी अहम रोल होता है। आंखें कुदरत के दिए वे दो नगीने हैं, जिनसे हमारी खूबसूरती को एक आयाम मिलता है।

अन्य सम्बंधित लेख 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *