मेकअप का सामान -मेकअप किट लिस्ट

सजने संवरने के लिए विभिन्न cosmetics का प्रयोग बहुत पुराने समय से होता आ रहा है, किंतु आधुनिक युग में इनकी संख्या बहुत बढ़ गई है। देसी व विदेशी दोनों प्रकार के प्रसाधनों की विभिन्न किस्में इन दिनों प्रचलन में हैं। त्वचा के हिसाब से सही और मेकअप का सामान का प्रयोग ही ठीक रहता है। इसके लिए यह जरूरी है कि बाजार में उपलब्ध विभिन्न मेकअप के सामान की उचित जानकारी व प्रयोग विधि की जानकारी हो नहीं तो गलत सामग्री का चयन या अनुचित प्रयोग आपकी सुंदरता को खराब कर सकता है। इस संबंध में एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि हमेशा विदेशी सामग्री को अच्छी समझना एक भूल हो सकती है, क्योंकि विदेश के प्रति आपकी इस ललक का अधिकांश दुकानदार अनुचित लाभ उठाकर विदेशी लेबल लगा घटिया (डुप्लीकेट) सामान थमा देते हैं, क्योंकि इससे उन्हें ज्यादा मुनाफा मिलता है। इसके अलावा आयात किये हुए सौंदर्य प्रसाधन भारतीय मौसम व शरीर के अनुकूल नहीं होते। इसलिए त्वचा से पूरी तरह संयोजित नहीं रहते। इसलिए अच्छी कंपनियों द्वारा बनाए हुए देसी प्रसाधनों का चुनाव ही ठीक रहता है। क्योंकि उनके प्रोडक्ट्स यंहा के मौसम, पानी और लोगो की त्वचा को ध्यान में रखकर बनाये जाते है |

श्रृंगार आपकी सुन्दरता में चार चाँद लगा देता है। सौन्दर्य-प्रसाधन आपके व्यक्तित्व को पूर्ण आकर्षक बना कर समाज में आपको प्रतिष्ठित बनाते हैं और आत्म-विकास का पूर्ण अवसर प्रदान करते हैं। लेकिन श्रृंगार केवल उतना ही करें, जिससे शालीनता प्रकट हो। चेहरे को ढेर सारे श्रृंगार-प्रसाधनों से थोप लेने से प्राकृतिक सुन्दरता खराब हो जाती है। कुछ स्त्रियाँ देखने में विशेष आकर्षक नहीं होती, लेकिन सही श्रृंगार द्वारा वे अनेक सुन्दर स्त्रियो के बीच आकर्षण का केन्द्र बन जाती हैं।

स्त्रियों को श्रृंगार के बारे में एक विशेष स्टाइल अपनाना चाहिए, जिससे वे आकर्षण का केन्द्र बन सके। इसके लिए श्रृंगार करने की बारीकियों और बाजार में उपलब्ध प्रसाधनों की जानकारी जरूरी है। हाथ, गले और चेहरे का मेकअप करने से पहले फाउण्डेशन या लोशन लगाना अच्छा होता है ताकि त्वचा समतल एवं समान रंग की प्रतीत हो। इसी प्रकार गालों पर पाउडर तथा क्रीम लगाने से चेहरे को ग्लो देती है। रूज की सहायता से गालों की नेचुरल लालिमा उभर उठती है। त्वचा के रंग को निखारने के लिए कई प्रकार के फेस पैक मिलते हैं, जिन्हें उबटन के रूप में प्रयोग किया जाता है। आँखों के श्रृंगार के लिए भी अनेक तरह के प्रसाधन उपलब्ध हैं। चूँकि आँखें चेहरे की सुन्दरता की मुख्य निशानी होती हैं और उनकी कमियों को छिपा कर निखरा हुआ प्रस्तुत करना हर महिला का लक्ष्य होना चाहिए। भौहें, पलकें, कोरें और ऑखों के किनारे कलात्मक ढंग से सजाइए। सौन्दर्य-प्रसाधनों की जानकारी और इस्तेमाल करने का ढंग हर स्त्री के लिए जानना जरूरी है। इसीलिए हम इस पोस्ट में मेकअप का सामान कैसे चुने और कैसे उसका सही उपयोग करे यह बतायेंगे | अगले पोस्ट में हम विभिन्न क्रीम और फाउंडेशन की जानकरी देंगें | देखें यह पोस्ट – मेकअप किट – क्रीम, रूज और फाउंडेशन की जानकारी

आँखों के लिए मेकअप का सामान :

मेकअप का सामान / Essential Makeup Accessories List

Essential Makeup Accessories List

  • काजल : यह एक ऐसा प्रसाधन है, जिसका प्रयोग लंबे समय से होता आ रहा है। यह आँखों को स्वस्थ व आकर्षण प्रदान करता है। इससे ऑंखें बड़ी-बड़ी प्रतीत होती हैं। काजल सूखा व क्रीम दोनों रूपों में उपलब्ध होता है। आजकल स्टिक की शक्ल में भी मिलने लगा है। काजल का प्रयोग विशेषत: रात को सोने से पहले करते हैं। भूरी या नीली आंखों वाली स्त्रियों के लिए काजल और अधिक जरूरी है। आँखों को उभारने के लिये आवश्यक है।
  • आई ब्रो पेंसिल : भौंहों को सही आकार प्रदान करने तथा हल्की भौंहों को घना दिखाने के लिए इस पेंसिल का प्रयोग किया जाता है। कभी-कभी इसे आई लाइनर के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।
  • आई लाइनर : यह तरल व सूखे दोनों रूपों में मिलता है तथा आई लिड के सिरों पर बहुत सावधानीपूर्वक लगाना होता है, जिसके लिए अभ्यास आवश्यक है। तरल लाइनर को ब्रश की सहायता से त्वचा को चौड़ाते हुए लगाना चाहिए। आई लाइनर कई रंगों में उपलब्ध हैं। ब्राउन व ग्रे रंग का लाइनर दिन के लिए उपयुक्त रहता है। शाम के समय के लिए अन्य रंग सही रहते हैं |
  • आई शैडो : यह आंखों के श्रृंगार में उल्लेखनीय भूमिका निभाता है। पलकों के बीच वाले स्थान पर इसे लगाने से भौंहें ऊंची प्रतीत होती है। यह विभिन्न रंगों में मिलता है तथा तरल व सूखा दोनों रूपों में लगाने के लिए ब्रश का प्रयोग करना चाहिए। आई शैडो को आई लैशिज के पास से लगाना आरंभ करके पलकों के बीच तक फैलाते हैं। इसको कपड़ों के रंगों के आधार पर चयन करना चाहिए।
  • मस्कारा : आंखों की बरौनियों को घना व आकर्षक दिखाने के लिए इसे प्रयोग करते हैं। यह तरल व सूखा दोनों रूपों में मिलता है। तरल मस्कारा को लोकेटर की मदद से तथा सूखे को ब्रश से लगाते हैं। मस्कारा कई रंगों में मिलता है। इसके कई कोट लगाने होते हैं।
  • आई मेकअप रिमूवर : जैसा कि नाम से स्पष्ट है। आंखों के मेकअप को हटाने के लिए इसे प्रयोग करते हैं। विशेषकर सोने से पहले नहीं तो मेकअप आंखों पर खराब प्रभाव डाल सकता है।
  • आई लेशेज : इन्हें आर्टीफ़िशिअल बरौनियों के रूप में जाना जाता है। जिन महिलाओं की बरौनियां हल्की या छितरी बिखरी सी हों, वे इन्हें प्रयोग कर आँखों का आकर्षण बढ़ा सकती हैं। ये लेशेज विभिन्न आकारों व रंगों में मिलती हैं। इन्हें अपने आप ही लगाया जा सकता है।
  • बरौनी को धुंघराला बनानेवाला (आई लैश कलर) : अपनी आंखों को चौड़ी खुली दिखाने का सबसे आसान तरीका। इस्तेमाल करने में सिर्फ एक क्षण लगता है और बहुत लाभ होता है।
  • केक या रोल-ओन मसकारा : आंखें बड़ी नज़र आने और बरौनियों को मोटी और लंबी बनाने के लिए। लंबे समय तक रखने से मसकारा सूख जाता है। नया मसकारा ख़रीदने से पहले पुराने मसकारा को ख़त्म कर देने की बात याद रखें।
  • आई शैडोज़ : दो पसंदीदा रंगों की आई शैडोज़ रखनी जरूरी है। जाड़े के लिए क्रीम बेहतर है, जबकि गर्मियों में पाउडर से ताज़गी नज़र आती है। चमकते रंगों का इस्तेमाल न करें क्योंकि वे चेहरे के साथ अच्छी तरह मेल नहीं खाते। मंद और उदास मटमैले, नीले या भूरे रंग का लें।
  • एक जोड़ी अच्छी, असरदार चिमटी (ट्वीज़र) : खरीदने से पहले हमेशा ही चिमटी को परख लें। काम के लायक चिमटी की पकड़ अच्छी होनी ज़रूरी है। याद रखें कि भौंह की नेचुरल आकृति में बदलाव न करें। भौंहों के ऊपर की बजाय नीचे वाले बालों को चिमटी से हलके से उखाड़ें। Read More – आईब्रो को घना बनाने के उपाय |

नाखूनों की सुंदरता के लिए मेकअप का सामान :

  • नेल पॉलिश या इनैमल : विभिन्न रंगों में उपलब्ध इस तरल प्रसाधन का उपयोग नाखूनों को चमक व रंग प्रदान करते हेतु किया जाता है। इसे ब्रश की मदद से लगाना होता है। एक कोट के सूखने पर दूसरा कोट लगाया जाता है।
  • नेल पालिश रिमूवर : इसका प्रयोग नाखूनों से पुरानी नेल पालिश हटाने के लिए किया जाता है। नेल पालिश को पतला बनाने के लिए भी थिनर की तरह इसे इस्तेमाल करते हैं। जानें गर्मी में मेकअप करने के विधि-Summer Makeup
  • कृत्रिम नाखून : जिन महिलाओं के नाखून बढ़ते न हों या खराब हो गए हों, वे कृत्रिम नाखून अपना सकती हैं। ये विभिन्न आकार व लंबाई में मिलते हैं तथा नाखूनों पर फिट होकर शोभा बढ़ाते हैं।
  • एमरिबोर्ड या रेगमाल : धातु की रेती नाखून को घिसकर उन्हें सही शेप देता हैं |
  • नेल पालिश रिमूवर : जो औरतें चाहती हैं कि उनकी पैर और हाथ की उगलियां बहुत अच्छी लगें उनके लिए आवश्यक। आधी उखड़ी, छिली या फीकी पड़ती नेल पालिश का दिखना खूबसूरती को खराब करता है।
  • नेल पालिश : हाथ-पैर में नाखून का रंग तुरंत अच्छा लगने लगता है। कम-से-कम अपने दो पसंदीदा रंग रखें। गर्मी में काले, चटकीला लाल और बैंगनी रंगों से बचें। गहरे शोख रंगों के लिए जाड़ा अच्छा है। हरे, नीले और काले रंगों के बेतुके असर से बचें।
  • क्यूटिकल रिमूवर : नाखूनों को खूब साफ़ और बेहतरीन शक्ल में रखने के लिए रुई से लिपटे औरेंज स्टिक के सिरे से क्यूटिकल को पीछे करें। याद रखें कि बेहतरीन चीजें सबसे छोटे पैकेज में आती हैं। मेक-अप और सौंदर्य प्रसाधन-खासतौर से लिपस्टिक, आई शैडो और परफ्यूम समय बीतने के साथ खराब हो जाते हैं इसलिए इन्हें इतना ही खरीदें कि उनका दो-तीन महीने में इस्तेमाल हो जाए।

बालों के लिए मेकअप का सामान :

  • ब्रश : जितना पैसा आप खर्च कर सकती हैं, उससे अच्छी सी ब्रश जरुर खरीदें। यह पक्के तौर पर देखें कि उसके दांत नाइलन के हों और उनके सिरे अच्छी तरह से गोलाकार हों। नोकदार सिरेवाले ब्रश आपके सिर की त्वचा में चुभ सकते हैं। आपके ब्रश को सूखे बालों में फिसलना चाहिए, ठीक उसी तरह जैसे आप चौड़ी दांतवाली कंघी बालों पर फेरती हैं।
  • कंघी : इसमें चौड़े और पतले दोनों किस्म के दांत होने चाहिए।
  • हेयर ड्रायर : अच्छा ड्रायर खरीदें, भले इसमें अधिक खर्च करना पड़े।
  • रोलर : फ़ोम से ढके रोलर बेहतर होंगे, अगर आपको ऐसे रोलर मिल सकें। आपको यह तय करना होगा कि कितने रोलरों की आपको ज़रूरत है। कोई समस्या आती है, तो अपने हेयर ड्रेसर की राय लें।
  • शैम्पू : वैसा शैम्पू लें जो आपकी तरह के बालों की वर्तमान स्थिति के अनुरूप हों। कई तरह के शैम्पू बाज़ार में उपलब्ध हैं। उनमें से जो भी आप चुनें इसका इत्मीनान कर लें कि वह ‘माइल्ड” (नरम) हो और उसमें तेज़ प्रक्षालक (डिटर्जेंट) न हों।
  • कडिशनर : बाज़ारों में कडिशनर चुनने की उतनी गुंजाइश नहीं। फिर भी, जो कुछ उपलब्ध है, वह सही है। कितु किस्मों के अभाव में कडिशनर के इस्तेमाल में रुकावट न आने दें। Read More –कंडीशनर का उपयोग कैसे करे
  • हेयर पिन या क्लिप : केश को अपनी जगह पर रखने या बस अपने चेहरे से अलग रखने के लिए एक साइड क्लिप भी कभी-कभी शाम को बहुत आकर्षक लगते है।

आपके चेहरे और होंठो के लिए मेकअप का सामान :

  • लिपस्टिक ब्रश : ताकि अपने मुंह को अच्छी तरह से खूबसूरत बनाएं।
  • लिपस्टिक : कम-से-कम अपने दो पसंदीदा रंगों के। नारंगी और भारतीय गुलाबी रंग को छोडें दें क्योंकि वे औसत गेहुए रंग के भारतीय रूप पर अच्छे नहीं लगते। सर्दियों के लिए गहरे भूरे और लाल रंग की लें और गर्मी में हल्के रंग की लें।
  • लिप-पेंट्स या कलर्स : लिप पेंसिल लिपस्टिक व लिप ग्लॉस आदि का इस्तेमाल होठों के श्रृंगार हेतु किया जाता है। पहले लिप पेंसिल से आउट लाइन बनाई जाती है, फिर उस आउट लाइन के अंदर-अंदर लिपस्टिक लगाते हैं तथा बाद में लिप ग्लॉस का लेप चढ़ाते हैं। लिप ग्लॉस तरल व क्रीमी दोनों रूपों में मिलता है।
  • लिप-बैरियर : होठों को फटने से बचाने के लिए तथा कोमलता बनाए रखने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। यह होठों को नमी भी देता है।
  • लिप ग्लॉस : इसे लिपस्टिक के ऊपर लगाया जाता है, ताकि होंठ अधिक पसंदीदा लिपस्टिक के ऊपर लगाने से उसका रंग भी नहीं बदलता, सिर्फ उसे अधिक रसभरे बनाता है।
  • लिक्विड (तरल) फाउंडेशन : त्वचा की खराबियों को छिपाने और काम करने के लिए चिकना आधार तैयार करने। अपने चेहरे को हमेशा फाउंडेशन से पूरी तरह ढक देने की बात याद रखें, यहां तक कि पलकों और कानों के पीछे भी।
  • फ़ाउंडेशन का रंग आपकी त्वचा के रंग पर निर्भर करता है। गलत रंग का फ़ाउंडेशन चाहे बहुत हल्का हो या बहुत गहरा-काफ़ी ख़राब लग सकता है। फ़ाउंडेशन की जानकारी “मेकअप का सामान भाग 2” में विस्तार से दी गई है |
  • ब्लशर या लालिमा लानेवाला : यह पाउडर या तरल हो सकता है। यह निहायत ज़रूरी है। इसे अगर अच्छी तरह से लगाया जाए तो आपको सुंदर बनाने में कमाल करता है। गर्मी या बरसात के मौसम में पाउडर ब्लश का इस्तेमाल करना सही है क्योंकि यह चेहरे को तैलीय, चिकनाई भरे होने से रोकता है। तरल रूज सर्दियों के लिए अच्छा है।
  • स्किन टोनर (त्वचा में रंगत लाना) : अगर आपकी त्वचा सूखी है, तो टोनर का इस्तेमाल करना अच्छा खयाल है, अगर उसे नियमित रूप से लगाया जाए। बेहतरीन परिणामों के लिए अपने चेहरे को धोने के तुरंत बाद इसे लगाएं। टोनर रक्त संचार को सुधारकर त्वचा में रंगत लाता है।
  • अस्ट्रिजट : इसका प्रयोग तभी करें जब आपकी त्वचा तैलीय हो। अगर आपकी सूखी त्वचा हो तो यह निश्चित रूप से बाहर निकल जाता है, क्योंकि यह सूखापन को बढ़ाता है। अस्ट्रिजंट गर्मियों में वास्तविक रूप से ताज़गी दे सकता है। त्वचा की सतह पर मौजूद रंध्रों को बंद करने में मदद करता है और तैलीयता नहीं आने देता। गर्मियों में अपने अस्ट्रिजंट को फ्रिज़ में डालकर रख दें। ठंडा अस्ट्रिजंट सामान्य तापमान पर रखे अस्ट्रिजट की अपेक्षा कई गुना अधिक ताज़गी लाता है। मॉइश्चराइज़र या आद्रता लानेवाला : बेबी लोशन लगाकर देखें। गर्मियों में इस्तेमाल किया जानेवाला यह सबसे हलका मॉइश्चराइज़र है। सर्दियों में गाढ़े, जैसे बादाम तेल का इस्तेमाल करें क्योंकि ठंड त्वचा का सूखापन बढ़ाती है। हर तरह की त्वचा के लिए मॉइश्चराइज़र आवश्यक है। अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो इसे लगाना कभी न भूलें। तैलीयता से नमी का कोई संबंध नहीं है।
  • हाथ-पैर के लिए हाथ का लोशन या क्रीम : हाथ-पैर को मुलायम रखने के लिए। हर बार धोने के तुरंत बाद अपने हाथ के लोशन या क्रीम का इस्तेमाल करें। चेहरे की त्वचा की तरह ही आपके हाथ-पैर की त्वचा भी सूख जाती है और उसे पोषण की ज़रूरत होती है, खासतौर से जब आप उन पर साबुन लगाती हैं।
  • कैलामाइन लोशन : हल्का गुलाबी या बादामी रंग व औषधि युक्त यह तरल पदार्थ धूप से झुलसी त्वचा के लिए लाभकारी सिद्ध होता है। यह त्वचा का सूखापन व खारिश में भी प्रयोग किया जा सकता है।

शारीरिक फिटनेस के लिए आइटम :

  • वेट स्केल या वज़न का पैमाना : ताकि आप अपने वज़न पर तीखी दृष्टि रखें। वज़न लेने का सबसे अच्छा और आरामदेह समय होता है जब आप नहाकर तुरंत बाहर निकलती हैं (उस वक्त आपका वज़न सबसे कम होता है)। खैर, अपना वज़न लेने का जो समय भी चुनें, यह एहतियात बरतें कि हर बार करीब-करीब उसी समय पर वज़न लेती रहें।
  • पूरी लंबाई का आईना : ताकि आप खुद को सिर से पैर तक आलोचनात्मक दृष्टि से देखें, अपनी आकृति पर नज़र रखें | ख़रीदने से पहले देखें कि आईने में छवि खराब न आती हो।
  • कूदने वाली रस्सी : रस्सी कूद पूरे शरीर के लिए एक श्रेष्ठ कसरत है। तनाव दूर करने के लिए भी यह बहुत अच्छी है।
  • नापनेवाला फीता (टेप) : ताकि कमर और हिप्स के फैलाव पर नजर रख सकें।

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें

Email this to someonePin on PinterestShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *