मेकअप किट – क्रीम, रूज और फाउंडेशन की जानकारी

मेकअप का सामान भाग -1 में हमने आँखों, बालों, चेहरे,होंठ और नाखूनों के मेकअप में उपयोग होने वाले प्रसाधनो की जानकारी दी थी | इस पोस्ट में मेकअप किट बनाने के लिए क्रीम, रूज और फाउंडेशन के बारे में विस्तार से जानेगें | चेहरे की त्वचा को सुन्दर और स्वस्थ बनाने के लिए कोल्ड क्रीम, वैनेशिंग क्रीम, नरिशिंग क्रीम, क्लीजिंग क्रीम, एस्ट्रिजेण्ट लोशन, केलामाइन लोशन, फाउण्डेशन क्रीम और फेस पाउडर मुख्य प्रसाधन हैं। कोल्ड क्रीम त्वचा को मौसम के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए कोल्ड क्रीम प्रयोग में लायी जाती है। चेहरे की त्वचा पर से धूल और मैल को साफ करने के लिए इसे क्लीजिंग क्रीम के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। यह मधुमोम, बादाम रोगन, बोरेक्स पाउडर, गुलाब जल और गुलाब अर्क के मिश्रण से बनायी जाती है। कोल्ड क्रीम पूरे साल प्रयोग में लायी जा सकती है। सर्दियों में यह सूखी सर्द हवा से त्वचा की रक्षा करती है। बरसात व गरमियों में ‘ऑल परपज़’ क्रीम इस्तेमाल की जाती है। चार्म्स, पौण्ड्स, लक्मे, नीविया, मैक्स–फैक्टर, पियर्स, अफगान स्नो, इमामी और जॉनसन कुछ लोकप्रिय नाम हैं।

नीचे दी गई मेकअप किट लिस्ट को पढ़ें और देखें किआपके पास पहले से कौन-सी चीजें मौजूद हैं। इसके बाद पास की किसी अच्छी मेकअप सामान की शॉप में जाकर अपनी त्वचा की ज़रूरत के अनुसार प्रसाधन खरीद लें।

मेकअप किट के लिए क्रीम के विभिन्न विकल्प :

makeup kit items list in hindi मेकअप किट – क्रीम रूज और फाउंडेशन की जानकारी

मेकअप किट

  • क्लीजिंग मिल्क : दूधिया रंग का यह तरल प्रसाधन मेकअप से पहले व रात को सोने से पहले चेहरे की त्वचा की सफाई के लिए प्रयोग में लिया जाता है। इसके प्रयोग से त्वचा पर जमी मैल, धूल व मेकअप के कण साफ हो जाते हैं तथा त्वचा के रोमकूप खुल जाते हैं। हर प्रकार की त्वचा पर इसे रुई के फाए की मदद से इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ब्लीचिंग क्रीम : अनचाहे बालों का भद्दापन दूर करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। इससे बालों का रंग हल्का पड़ जाता है और त्वचा के रंग से मिल जाता है। वे आसानी से दिखाई नहीं पड़ते। चेहरे के बालों के लिए यह विशेष लाभकारी है। मेकअप किट में यह भी जरुर होना चाहिए
  • ब्यूटी मास्क या फेस मास्क : चेहरे की त्वचा के निखार के लिए इसे इस्तेमाल किया जाता है त्वचा को स्वस्थ रखने में सहायक होता है। चेहरे को अच्छी तरह साफ करके तथा आंखों पर गुलाबजल में भीगे रुई के फाए रखकर मुंह, आंखों, भौंहों को छोड़ते हुए चेहरे पर इसे लेप के रूप में लगाया जाता है। इससे त्वचा कोमल, चमकदार व साफ़ दिखने लगती है।
  • एस्ट्रीजेंट लोशन : तैलीय त्वचा की चिकनाई पर नियंत्रण पाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। मेकअप से पहले व बाद में भी इसे लगाने से मेकअप देर तक टिकता है। इसका इस्तेमाल मुख्यत: चेहरे पर ही करना होता है। यह खुले रोम कूपों को बंद करता है।
  • वैनिशिंग क्रीम : मौसमी उतार-चढ़ाव त्वचा को प्रभावित करते हैं। इससे बचने के लिए त्वचा में नमी आवश्यक होती है और इस लिहाज से वैनिशिंग क्रीम गुणकारी रहती है। सामान्य व तैलीय त्वचा के लिए विशेष लाभदायक सिद्ध होती है। चेहरे के श्रृंगार से पहले इसे लगाने से श्रृंगार देर तक रुकता है। आपकी मेकअप किट में यह भी जरुर होना चाहिए |
  • नॉरिशिंग क्रीम : त्वचा को पौष्टिकता, कोमलता, ताजगी व आकर्षण प्रदान करने के लिए इस क्रीम का प्रयोग उपयोगी रहता है।
  • कोल्ड क्रीम : जैसा कि नाम से संकेत मिलता है, यह क्रीम सर्दियों में मुख्य रूप से प्रयोग की जाती है। इसे क्लीनजिंग क्रीम के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सर्दियों में यह सर्द हवा से त्वचा की रक्षा करती है। आपकी मेकअप किट में यह भी होना चाहिए |
  • क्यूटिकल क्रीम : नाखूनों की जड़ों और क्यूटिकल्स को मजबूती प्रदान करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। इससे क्यूटिकल्स बने रहते हैं तथा नाखूनों से अलग रहकर नाखूनों को बड़ा आकार प्रदान करते हैं। फलस्वरूप वे अधिक सुंदर प्रतीत होते हैं।
  • हैंड क्रीम : हाथों की त्वचा को घनी बनाने के लिए इस क्रीम का प्रयोग किया जाता है। यह क्रीम हाथों पर असमय झुर्रियां न पड़ने देने में भी सहायक है।
  • टोनर : क्लींजर के प्रयोग से त्वचा के जो छिद्र खुले रह जाते हैं, उन्हें बंद करने के लिए तथा त्वचा को स्वाभाविक सौंदर्य प्रदान करने के लिए हल्के टोनर का प्रयोग करना चाहिए। इसका प्रयोग मॉइश्चराइजर की तरह किया जाता है। त्वचा को नयी शक्ति प्रदान करती है। आपकी मेकअप किट में यह भी होना चाहिए |
  • मॉइश्चराइजर : मौसम के सूखेपन के कारण त्वचा की प्राकृतिक नमी कम हो जाती है। मॉइश्चराइजर त्वचा को स्वाभाविक नमी प्रदान करता है।

मेकअप किट के लिए फाउंडेशन की जानकारी :

  • फेस फाउंडेशन : चेहरे का मेकअप फाउंडेशन के अभाव में अधूरा समझना चाहिए। इससे त्वचा को नया रंग व रूप मिलता है। यह कई रंगों व रूपों में मिलता है, ताकि हर रंग व उम्र की त्वचा से मेल खा सके।
  • तरल फाउंडेशन : यह साधारण त्वचा के लिए उपयुक्त रहता है, क्योंकि इसमें चिकनाई युक्त पदार्थ मिला होता है, जिससे चेहरे की चमक उभरती है। (इससे आप चेहरे की बहुत सारी कमियों को छुपा सकते हैं।)
  • क्रीम फाउंडेशन : यह सामान्य त्वचा की कमियों को छिपाकर प्राकृतिक छटा प्रदान करता है। । फाउंडेशन के रंग के चुनाव के लिए थोड़ा-सा फाउंडेशन अपनी हथेली पर फैलाकर सूखने दें। यदि रंग त्वचा के रंग से मेल खाए, तो ठीक है। फाउंडेशन को अंगुलियों की मदद से समतल लगाना चाहिए। फालतू फाउंडेशन को टिश्यू पेपर या रुई से साफ कर दें। फाउंडेशन चेहरे के अतिरिक्त गर्दन पर भी लगाएं, ताकि वह अलग न दिखे। चेहरे को लंबा कम व चौड़ा ज्यादा दिखाने के लिए जबड़ों पर गहरा फाउंडेशन लगाएं। गालों के गडढो पर हल्का तथा आसपास गहरा लगाए इससे गालों के गड्ढे उभरे हुए प्रतीत न होंगे। चौड़े माथे पर फाउंडेशन हल्का लगाएं।
  • कॉम्पैक्ट फेस पाउडर : इसे फाउंडेशन के बाद लगाया जाता है, लेकिन फाउंडेशन के बिना भी प्रयोग किया जा सकता है। इसके मुख्य प्रकार हैं–
  • जमा हुआ पाउडर : यह कम उम्र की युवतियों के लिए उपयुक्त रहता है, इससे चेहरे पर मासूमियत झलकती है।
  • केक पाउडर: यह तैलीय त्वचा पर तथा कम उम्र की स्त्रियों के लिए उपयोगी रहता है।
  • मैटी पाउडर : यह पेस्ट के रूप में मिलता है तथा ट्यूब मे मिलता है। इसे खुला नहीं छोड़ना चाहिए अन्यथा सूख जाएगा। फेस पाउडर का रंग फाउंडेशन व त्वचा के रंग के अनुरूप चुनना चाहिए। इसे सदैव फाउंडेशन सूखने के बाद ही लगाएं। गर्दन से लगाना शुरू करके ऊपर तक जाएं, किंतु बाली पर न लगने पाए। लगाने के लिए पफ का प्रयोग करें। फालतू पाउडर टिश्यू पेपर या रुई से पोंछ डालें। इसे भी आप अपनी मेकअप किट में अवश्य शामिल करें |

मेकअप किट के लिए रूज की जानकारी :

  • रूज : गालो पर लालिमा उभारने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। यह भी कई रंगों व रूपों में मिलता है।
  • केक रूज : यह शुष्क व सामान्य त्वचा के लिए ठीक रहता है।
  • क्रीम रूज : इसे तैलीय त्वचा पर लगाना चाहिए।
  • तरल रूज : – यह हर किस्म की त्वचा पर इस्तेमाल किया जा सकता है। गहरे रंग की रूज भद्दी लगती है। प्राकृतिक रंग सबसे अच्छा रहता है। रूज सावधानी से लगाएं। पहले थोड़ा-सा लगाएं, फिर जरूरत पड़ने पर और लें। अंगुलियों से लगाना ठीक रहता है। रूज एक ही स्थान पर न लगाकर एक साथ फैलाएं। दिन में बहुत हल्का रूज लगाएं। अधिक रूज लग जाने पर रुई से साफ कर दें। इसे भी आप अपनी मेकअप किट में अवश्य शामिल करें |
  • ब्लशर : यह भी रूज के समान है, बल्कि रूज का आधुनिक रूप है। क्रीम, स्टिक पेंसिल व पाउडर की शक्ल में उपलब्ध है।
  • टेल्कम पाउडर : पसीने की दुर्गध को दबाने के लिए ग्रीष्म ऋतु में इसे प्रयोग करते हैं। इसे शरीर के आंतरिक भागों में छिड़कते हैं।
  • तरल बिंदी : माथे के श्रृंगार के लिए सुहाग प्रतीक के रूप में बिंदी का प्रचलन प्राचीनकाल से है। इन दिनों तरल बिंदी का प्रचलन काफी है। यह काफी देर तक माथे पर टिकती है। इसे पसीने से बचाना चाहिए।
  • वैनेशिग क्रीम – त्वचा को मौसम के उतार-चढ़ाव से बचाने के लिए त्वचा में नमी का होना आवश्यक है। वैनेशिंग क्रीम त्वचा को नम रखती है, तैलीय त्वचा और सामान्य त्वचा के लिए यह क्रीम विशेष रूप से लाभदायक होती है। स्टैयरिक एसिड, पोटेशियमहाइड्रो–आॉक्साइड, ग्लिसरीन, डाइ-ग्लाइकोल स्टेयरेट और जल आदि तत्वों द्वारा वैनिशिंग क्रीम बनायी जाती है। चेहरे पर श्रृंगार से पहले वैनिशिंग क्रीम लगाने से त्वचा पर श्रृंगार खूब फबता है। लक्मे, मैक्स-फैक्टर, पौण्ड्स, चामिस आदि कुछ प्रमुख नाम हैं।
  • नरिशिगं क्रीम त्वचा को पौष्टिकता प्रदान करने के लिए चेहरे पर नरिशिंग क्रीम लगायी जाती है। यह त्वचा को नरम व आकर्षक बनाती है। नरिशिंग क्रीम बच्चों की पहुँच से दूर रखें, क्योंकि इसमें मिश्रित लैनोलिन, मोम और तेल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं। Lakme और Max Factor nourishing cream प्रमुख nourishing creams हैं।
  • Cleansing Cream रात को सोने से पहले चेहरे पर से दिन भर का मेकअप और धूल के कण साफ करने के लिए क्लीजिंग क्रीम का प्रयोग किया जाता है। मैल की परत के कारण त्वचा को हवा नहीं मिलती, जिससे त्वचा की कान्ति कम होकर उस पर झुर्रियाँ पड़ने लगती हैं। Cleansing Cream का उत्पादन स्टेयरिक एसिड, खनिज तेल, लैनोलिन, टपीनोल, ट्राई-इथेनोलामाइन, प्रोपायीलीन, ग्लाइकोल और इत्र के मिश्रण से किया जाता है। गाला, Lakme , Anne French और Max Factor बाजार में उपलब्ध क्लीजिंग क्रीमों के कुछ प्रमुख नाम हैं।
  • तैलीय त्वचा की चिकनाई पर नियन्त्रण पाने के लिए Estrogen lotion का प्रयोग किया जाता है। इससे त्वचा के खुले रोम-छिद्र बन्द हो जाते हैं। Estrogen lotion केवल शरीर की बाहरी त्वचा पर ही लगायें। फिटकरी, ग्लिसरीन और जल एस्ट्रिजेण्ट लोशन में मिलाये जाने वाले प्रमुख तत्व होते हैं। मैक्स-फैक्टर, लक्मे और गाला सर्वाधिक बिकने वाले एस्ट्रिजेण्ट लोशन हैं। इसे भी आप अपनी मेकअप किट में अवश्य शामिल करें | इसे पढना ना भूलें – मेकअप किटलिस्ट भाग -1
  • Calamine lotion चेहरे की त्वचा से धब्बे साफ करने और त्वचा को आकर्षक बनाये रखने के लिए केलामाइन लोशन रंग-रूप के अनुसार अनेक शेडों में मिलता है। lakme lacto calamine और vicco turmeric cream विशेष लोकप्रिय हैं।
  • Foundation Cream – मेकअप से पहले फाउण्डेशन क्रीम लगाने से जहाँ चेहरे के धब्बे साफ होते हैं, वहाँ त्वचा पर मेकअप की तह अच्छी तरह जम पाती है। मैक्स फैक्टर की ‘हाई-फी ” फाउण्डेशन क्रीम कई रंगों में मिलती है, जिनका चुनाव त्वचा के रंग के अनुरूप किया जाना चाहिए। लंक्मे द्वारा बनायी गयी ‘ साटिन ग्लो ” तरल फाउण्डेशन हर प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त होती है। गाला द्वारा बनी ‘लुक नेचुरल’ और मैक्स-फैक्टर की ‘शियर जीनियस” फाउण्डेशन अपने आप में पूर्ण श्रृंगार-साधन हैं।
  • Face Powder Foundation लगाने के बाद चेहरे पर फेस पाउडर लगाकर चेहरे की त्वचा की आकर्षक बनाया जाता है। फेस पाउडर अनेक रंगों में मिलता है और इसका चुनाव त्वचा के रंग के अनुसार किया जाता है। फेस पाउडर विभिन्न रसायनों के मिश्रण अर्थात काओलीन, ऑक्साइड, पीला एवं भूरा ऑक्साइड और इत्र द्वारा तैयार होता है। फेस पाउडर मुंह के अन्दर नहीं जाना चाहिए। चूँकि इसमें मिलाये जाने वाले मैग्नीशियम और ऑक्साइड रासायनिक तत्व फेफड़ों को हानि पहुँचाते हैं। इससे कैंसर होने का खतरा भी रहता है। लंक्मे, मैक्स फैक्टर और Ponds प्रमुख फेस पाउडर हैं।

नहाने में उपयोग होने प्रसाधनो की जानकारी :

  • साबुन : ऐसा जो रूखा न हो। नरम साबुन सबसे अधिक सुरक्षित साबित होते हैं। अम्लीय प्रकार के साबुन को पसंद करें। क्षारीय साबुन आपकी त्वचा के ‘अम्ल आवरण’ (एसिड मेंटल) को नष्ट कर देता है, जो स्वस्थ त्वचा के लिए ज़रूरी है।
  • लूफा या वनस्पतिक स्पंज : ये काफ़ी आसानी से उपलब्ध हैं। यहां तक कि इसे आप अपने घर में भी बना सकती हैं, पकी हरी तोरी को धूप में सुखाने के बाद उसके छिलके और बीजों को हटाकर यह खुरदुरा प्राकृतिक स्पंज त्वचा की सतह पर मृत कोशिकाओं को उतार फेकने में मदद करता है। यह रगड़ने में मददगार होता है, जिससे खुरदुरी और मलिन त्वचा भी चमकने लगती है।
  • झांवा पत्थर ( pumice stone ) : यह ज्वालामुखी से निकलता है। कोहनियों, घुटनों और पैरों की सफाई के लिए ज़बर्दस्त रूप से अच्छा है। इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें लेकिन याद रखें-ज़रा नरमी से ही। Read More –कंडीशनर का उपयोग कैसे करे
  • safety razor : यह पक्के तौर पर गलत बात है कि शेविंग करने से मोटे और खुरदरे बाल पैदा होते हैं। शरीर के अनावश्यक बालों से छुटकारा पाने के लिए शेविंग सबसे आसान तरीका है, हालांकि यह सच है कि इसे बार-बार दुहराना पड़ता है बल्कि कहें कि हर दूसरे दिन ही। औरतों के लिए खासतौर से बने छोटे रेज़र ख़रीदें। सामान्यत: उपलब्ध बड़े असरदार भी। जाने 9 प्रकार के फेशियल- चमकता चेहरा पाने के लिए |
  • नहानेवाला ब्रश : यह काफ़ी अच्छा होता है, लेकिन आपके पास लूफ़ा है तो यह कोई ज़रूरी नहीं। चेहरे के लिए आप शिशुओं का मुलायम बालों वाला ब्रश खरीदें। पीठ के लिए आपको लंबी हैंडल वाले ब्रश की ज़रूरत होगी, जिसमें प्राकृतिक कड़े बाल लगे हों।
  • शॉवर केप : फुहारा-स्नान करते हुए यह आपके बालों को सूखा रखता है। शॉवर केप का इस्तेमाल करना बड़ा ही व्यावहारिक है ।
  • बेबी आॉयल या बॉडी लोशन : नहाते वक्त त्वचा की सतह से जो प्राकृतिक तेल निकल जाते हैं उनकी जगह वैकल्पिक व्यवस्था करने में ये शरीर की मदद करते हैं। अच्छी तरह से पोषित त्वचा के लिए आवश्यक तो हैं ही, नहाने के दौरान शरीर द्वारा सोखी गई जितनी भी नमी होती है उसे रोके रखने में तेल या लोशन मददगार होते हैं। अच्छे परिणाम के लिए नहाने के तुरंत बाद इसका इस्तेमाल करें। मेकअप किट के लिए यह भी जरुरी सामान हैं | Read More – आईब्रो को घना बनाने के उपाय |
  • नहाने के तेल : यह काफ़ी आनंददायक तो है लेकिन ज़रूरी नहीं। जाड़े में त्वचा के लिए अच्छा है। इसे अपने सौंदर्य किट का हिस्सा बना लेने की कोशिश करें। इसका इस्तेमाल नियमित रूप से नहीं, तो कभी-कभी या जब आपको अपना शरीर रूखा और खुरदुरा लगे।

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें

Email this to someonePin on PinterestShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *