जानिए टमाटर खाने के फायदे तथा टमाटर के औषधीय गुण

टमाटर दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाली एक स्वादिष्ट सब्जी है। टमाटर खाने के कई फायदे है  जिससे अनेक रोगों से रक्षा हो जाती है। पोषण (न्यूट्रीशन वैल्यू) के लिहाज से इसका महत्त्व सेब या संतरे से कम नहीं है सभी खाद्य पदार्थों में यह सबसे अधिक प्रभावी रक्त साफ़ करने वाली सब्जी में से एक है। टमाटर का इतिहास – शुरू-शुरू में लोग टमाटर को विषैला समझते थे और टमाटर खाने से बचते थे | कई लोग इसे एसिड बनाने वाला आहार समझते थे, जो रक्त एवं शरीर की कोशिकाओं की अम्लीयता को बढ़ा देता है। ऐसा समझा जाता था कि इसकी कोई न्यूट्रीशन वैल्यू नहीं है और यह भोजन को केवल रंगदार तथा सजावटी बनाता है। रसायनशास्त्र के नए शोधों ने टमाटर के बारे में इन सब गलत फहमियो को पूरी तरह से दूर कर दिया है। दक्षिणी अमेरिका में कई सौ वर्षों तक इसे केवल बगीचे की शोभा के रूप में लगाया जाता रहा। तब इसे “लव एप्पल” कहा जाता था। सन् 1860 में यह पता चला कि टमाटर भी आहार के रूप में उतना ही अच्छा है जितना अन्य फल या सब्जियाँ। इस खोज के बाद यह धीरे-धीरे सारे संसार में बहुत लोकप्रिय हो गया। अब फलों व साग-सब्जियों में इसका एक खास स्थान है और इसे बड़े पैमाने पर उगाया तथा खाया जाता है।

टमाटर खाने से यह भोजन और औषधि दोनों की ही तरह काम करता है। यदि टमाटर अधिक खट्टा होने की वजह से नहीं खाया जाये तो आप इसमें चीनी मिला कर भी खा सकते है । आजकल टमाटर की सॉस बनाकर बहुत इस्तेमाल की जाती है। टमाटर का सूप बनाकर पीने से भी शरीर को बहुत शक्ति मिलती है। पाचन क्रिया तेज़ होती है। बच्चे टमाटर के सैण्डविच बनाकर खाना पसंद करते हैं।

टमाटर अति उत्तम पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर है। इसमें 3.1 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट है। मुख्यतया यह ‘इन्वर्ट शुगर’ के रूप में है, जो कि कार्बोहाइड्रेट का पहले से ही पचा हुआ रूप है। इसमें स्टार्च बहुत कम मात्रा में पाया जाता है | इसमें 0.1 प्रतिशत प्रोटीन और 0.2 प्रतिशत वसा भी होती है। टमाटर विटामिन ‘ए’, ‘बी’ तथा ‘सी’ और कई उपयोगी अम्लों का अच्छा स्रोत है। खासतौर से इसमें विटामिन ‘ए’ काफी मात्रा में पाया जाता है | सूखा टमाटर भी विटामिन ‘ए’ का अच्छा स्रोत है। विटामिन ‘सी’ भी इसमें पर्याप्त मात्रा में होता है। मध्यम आकार के एक टमाटर में विद्यमान विटामिन ‘सी’ पकने या डिब्बाबंदी करने के बाद भी लगभग पूरी तरह से बचा रहता है।

टमाटर के गुणकारी औषधीय गुण : टमाटर खाने से लाभ 

टमाटर खाने के फायदे tamatar ke fayde gun labh tomato benefits

टमाटर के औषधीय गुण

  • बदहजमी : यह कमजोर लीवर को ताकत देता है तथा बदहजमी में आराम दिलाता है। यह उन लोगों के लिए बहुत उपयोगी है, जो पित्त रोग से ग्रस्त हैं, क्योंकि टमाटर खाने से पित्त के प्रवाह में तेजी आती है।
  • कब्ज-नाशक : भोजन के साथ सलाद के रूप में टमाटर खाने से यह कब्ज से राहत दिलाता है, खासतौर से जब इसे कच्चा खाने से यह कब्ज में उपयोगी है।
  • टमाटर में कॉपर की अधिकता होती हैजो रक्त में मौजूद लाल रक्त कणों को बढ़ाता है। टमाटर में आयरन दूध के मुकाबले लगभग दुगुना होता है जिससे खून में आयरन की कमी दूर हो जाती है जिन लोगो को खून की कमी यानि एनीमिया की बीमारी हो उन्हें गाजर, टमाटर तथा चुकंदर का सेवन भरपूर मात्रा में करना चाहिए इसके बाद आपको किसी टोनिक या दवाई-गोली खाने की जरुरत नहीं पड़ेगी । प्रतिदिन एक बड़ा ताजा लाल टमाटर खाने से व्यक्ति कई रोगों से बचा रहता है। अधिक जानकारी के लिए पढ़ें ये आर्टिकल्स
  • गाजर के फायदे और 20 बेहतरीन औषधीय गुण
  • चुकंदर के फायदे तथा 32 बेहतरीन औषधीय गुण 
  • मधुमेह : इसमें कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में होने से मधुमेह के रोगियों के लिए यह अच्छा आहार है |
  • टमाटर खाने से वजन कम करने में भी सहायता मिलती हैं। कुछ महीनों तक एक या दो टमाटर नाश्ते से पहले सुबह खाने से वजन कम होता है। साथ ही यह स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए शरीर को जरुरी तत्वों की पूर्ति भी करता है।
  • टमाटर डायबिटीज़ मरीज़ों में ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है यह क्रोमियम का अच्छा स्रोत हैं, पेशाब में शुगर पर कंट्रोल पाने के प्रभावशाली गुण के चलते टमाटर डायबिटीज़ के मरीज़ों के लिए अच्छा माना जाता है | मधुमेह के रोगी इसका इस्तेमाल सूप, सब्ज़ी, सलाद या चटनी में कर सकते हैं | कच्चा टमाटर खाने से भी लाभ होगा |
  • कैंसर से लड़ने में सक्षम टमाटर प्राकृतिक रूप से लाइलाज बीमारी कैंसर से लड़ता है | यह हर तरह के कैंसर के खतरे को कम करता है | टमाटर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट यानी विटामिन “ए” और “सी” फ्री रैडिकल्स से लड़ते हैं | इसलिए टमाटर खाने से कैंसर से भी बचाव होता है |
  • लाइकोपिन लाल यह लाल तथा पीले रंग के फलों व सब्जियों में पाया जाता है। टमाटर में लाइकोपिन भरपूर मात्रा में मिलता है। लाइकोपिन ‘फ्री रेडिकल्स’ को खत्म कर देता है। लाइकोपिन बहुत शक्तिशाली एन्टीआक्सीडेंट है जो विटामिन-सी’ से ज्यादा असरदार होता है और गम्भीर बीमारियों, जैसे-कैंसर को रोकता है | लाइकोपिन से फेफड़े, हृदय और पेट की कार्यप्रणाली ठीक से चलती है। लाइकोपिन शरीर की रोग प्रतिरोधक (इम्यून सिस्टम) को तेज करता है और डिजेनरेटिव बीमारियों के पनपने की गति को धीमा करता है। टमाटरों से प्राप्त एंटी आक्सीडेंट्स सीधे रक्त में जाने के लिए टमाटर कच्चे नहीं खायें। टमाटरों को पकाकर खायें। टमाटर के प्रोसेस्ड भोज्य पदार्थ-टोमेटो सॉस, सूप आदि लें। अपने भोजन में रोजाना टमाटर खायें और जानलेवा बीमारियों से बचें। टमाटर हर प्रोस्टेट कैंसर में लाभदायक है।
  • टमाटर खाने से दांत भी मजबूत होते हैं। मसूड़ों से खून निकलना बंद होता है। टमाटर खाने से बच्चों के दांत भी मजबूत होते हैं।
  • टमाटर में अन्य फल-सब्जियों की अपेक्षा कैल्शियम भी अधिक पाया जाता है। कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है। टमाटर खाने से दाँतों एवं हड्डियों की कमजोरी दूर होती हैं।
  • गर्भावस्था में आयरन तत्व की अधिक आवश्यकता होती है। इसलिए गर्भवती महिला को टमाटर का सेवन जरुर करना चाहिए ।
  • टमाटर में विटामिन ‘ए’ भरपूर मात्रा में होने से रतौंधी, कमजोर आँखों और विटामिन ‘ए’ की कमी से आँख में होनेवाली अन्य बीमारियों को रोकने में यह विश्वसनीय रूप से कामयाब सब्जी है।
  • स्कर्वी रोग : विटामिन ‘सी’ काफी मात्रा में होने से टमाटर स्कर्वी में भी उपयोगी है। ताजे टमाटर खाने से भूख बढती हैं।
  • बड़े टमाटर की मोटी-मोटी फांकें काट कर गालों और आंखों के नीचे रखने से झाइयां और आंखों के काले घेरे हमेशा के लिए मिट जाते हैं।
  • टमाटर फेफड़ों की कार्यक्षमता को बढ़ाते हैं। जो लोग दमा (अस्थमा) या अन्य किसी साँस संबंधी रोग से पीड़ित हों, उनके लिए टमाटर एक अच्छी सब्जी हैं।
  • टमाटर खाने से ब्रोंकाइटिस, साँस से जुडी बीमारियाँ और दमे के रोगियों को भी आराम पहुँचाता है। यह किडनी को प्राकृतिक रूप से उत्तेजित करने का कार्य करता है। यह खराब तत्व शरीर से बाहर निकालने में सहायक होता है, जो बीमारियाँ पैदा करते है और शरीर को साफ़ करता है। यह एक अच्छा बॉडी क्लेंजिंग भी है।
  • टमाटर खाने का सबसे अच्छा तरीका इसे सलाद के रूप में लेने का है इसके लिए आप टमाटर, गाजर, मूली, खीरा, प्याज आदि में से जो भी मिले, उन्हें काटकर धनिया, पोदीना, काला नमक, नींबू या नींबू के बदले ताजा दही, मीठा करने के लिए प्याज के स्थान पर कच्चा नारियल, गुड़ या शहद मिलाकर लगभग आधी प्लेट भोजन के साथ खाएं । दोपहर के भोजन में भी यह सलाद खाना चाहिए। इससे गैस, बदहजमी, कब्ज जैसी बिमारियों से राहत मिलेगी |
  • आप टमाटर की चटनीभी बना कर खा सकते है, इसको बनाने के लिए टमाटर, हरे घनिया की पत्ती, दो कली लहसुन तथा नमक मिलाकर पीसकर चटनी बनाकर दिन में लंच या डिनर के समय खाने से भूख अच्छी लगती है, भोजन जल्दी पचता है, आपको कई खनिज लवण और विटामिन मिल जाते हैं। टमाटर खाने से रक्त साफ होता है।
  • बच्चो को अक्सर पेट में कीड़ो की समस्या हो जाती है इसे ठीक करने के लिए आप खाली पेट सुबह-शाम दो बार, 21 दिनों तक लाल टमाटर पर पिसी हुई कालीमिर्च, नमक डालकर खिलाने से पेट के कृमि मर जाते हैं। खाली पेट टमाटर टमाटर खाने से भी लाभ होगा |
  • जिन लोगों की नजर कमजोर हो, रक्त की कमी से आँखों के सामने अँधेरा छाने की तकलीफ हो, उन्हें नियमित रूप से टमाटर खाने से लाभ होता है।
  • एक्जीमा के रोगियों के लिए भी टमाटर का सेवन लाभदायक होता है।

टमाटर खाने में कुछ सावधानियां भी बरते

जानिए टमाटर के गुण तथा टमाटर खाने के फायदे tamatar ke fayde gun labh tomato benefits

टमाटर के गुण

  • टमाटर खाने के बाद पानी न पीएं। टमाटर में एसिड का थोडा सा अंश होता है जो पेट साफ रखता है। टमाटर खाकर पानी पीने से यह एसिड खत्म हो जाता है। यह भी जरुर पढ़ें – टमाटर के जूस के फायदे तथा स्किन और चेहरे के लिए टमाटर के गुण
  • तेज खांसी में कच्चा टमाटर नहीं खाना चाहिए तथा पथरी के रोगी को भी टमाटर का सेवन नहीं करना चाहिए। शरीर में सूजन, अर्थराइटिस, शीतपित्त या कलेजे की जलन में टमाटर के नुकसान या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं |

अन्य सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply