जानिए पानी पीने से क्या फायदे होते हैं ? तथा पानी के बेहतरीन स्वास्थ्य वर्धक गुण

पानी को आप साधारण चीज न समझें। पानी प्रकृति का सबसे अनमोल उपहार है। पानी पीने से सिर्फ प्यास बुझाने की वस्तु मात्र नहीं है । बल्कि यह जीवनदाता है यानी इनसान की सबसे बड़ी जरूरत है। इसके बगैर जिंदा रहना मुश्किल है। हमारे शरीर में 70 प्रतिशत पानी का भाग है। यही कारण है कि इसकी कमी जहाँ अनेक रोगों का कारण बनती है, वहीं इसकी ठीक मात्रा रोगों से छुटकारा दिलाती है। यह हमारे शरीर को किस तरह से स्वस्थ और नीरोगी बनाता है। आइए, डालते हैं एक नजर पानी के इन्हीं चमत्कारिक औषधीय गुणों पर। एक वयस्क पुरुष के शरीर में पानी उसके शरीर के कुल भार का 65 प्रतिशत और एक वयस्क स्त्री के शरीर में उसके शरीर के कुल भार का 52 प्रतिशत तक होता है | मानव शरीर की हड्डियों में 22% तक पानी होता है हमारे दांतों में 10%, त्वचा में 20% मस्तिष्क में 74.5%, मांसपेशियों में 75.6% और खून में 83% पानी होता है | दिन में कम से कम 8 से 10 लीटर पानी पीना चाहिए।

पानी पीने के फायदे

pani peene ke fayde labh जानिए पानी पीने से क्या फायदे होते हैं ? तथा पानी के गुण

पानी पीने के फायदे

  • पानी पीने से थकान दूर होती है और शरीर को राहत मिलती है। इसलिए जब भी थके-माँदे घर लौटे तो एक गिलास पानी अवश्य पिएँ।
  • पानी पीने से तत्काल तनाव कम हो जाता है, इसलिए जब भी तनाव की स्थिति आए तो फौरन एक गिलास ठंडा पानी पिएँ।
  • यदि बुखार बहुत तेज हो तो रोगी को हर आधे घंटे में ठंडा पानी पिलाते रहना चाहिए।
  • यदि कोई व्यक्ति गर्मी से बेहोश हो गया हो तो उसके चेहरे पर ठंडे पानी के छींटे मारें या उसके माथे पर ठंडे पानी की पट्टीयां रखे।
  • साइटिका की शिकायत हो तो ठंडे पानी से सुबह-शाम स्नान करें, लाभ होगा।
  • आग से यदि शरीर का कोई अंग पानी या झुलस जाए तो तुरंत उस अंग पर ठंडा पानी डालें। उस पर पानी तब तक डालते रहें जब तक कि जलन पूरी तरह खत्म न हो जाए।
  • अस्थमा या दमा रोग में रोगी को रोजाना सुबह उठते ही एक गिलास ठंडा पानी पीने से लाभ मिलता है ।
  • पानी हमारे शरीर को अंदर से साफ करने के लिए आवश्यक है। कम पानी पीने से कई जहरीले तत्त्व शरीर से बाहर नहीं निकल पाते है और कई बिमारियों का कारण बनते है | पसीना और यूरिन भी तभी बनेगा जब आप पानी पिएँगे।
  • समुचित मात्रा में पानी पीने से खाए गए पोषक तत्वों का शरीर में ठीक से अवशोषण होता है।
  • रक्त बनाने में आँतों की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। यदि छोटी एवं बड़ी आँत सक्रिय बनी रहे तो रक्त निर्माण बिना रुके चलता रहता है अधिक मात्रा में पानी पीने से यह प्रक्रिया ठीक तरीके से चलती रहती है |
  • कम पानी पीने से पेट में कब्ज की शिकायत हमेशा बनी रहती है। पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने से आँतों की सक्रियता बढ़ती है तथा मल निष्कासन में परेशानी नहीं होती। कम मात्रा में पानी पीने से कई बीमारियाँ जैसे बवासीर, फिशर तथा फ्रिश्चुला जैसी बीमारियाँ भी शरीर को घेर लेती हैं |
  • मोटापे से परेशान हैं तो खूब पानी पिएँ। इससे पेट भरा-भरा लगता है और भूख कम लगती है जिससे आपको खाना खाने की जरूरत कम पड़ती है।
  • किडनी शरीर के महत्त्वपूर्ण अंग हैं। यदि आप पानी कम पीते हैं तो इससे उनकी कार्यक्षमता प्रभावित होती है, जबकि पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से वे ठीक तरह से कार्य करते हैं।
  • पीलिया रोग में भी पानी का सेवन बहुत लाभदायक है। इससे रक्त में व्याप्त अशुद्धियाँ बाहर निकल जाती हैं।
  • दिल घबराना या हृदय की धड़कन बढ़ने पर घूंट घुंटकर ठंडा पानी पीने से तुरंत राहत मिलती है।
  • बुखार होने पर रोगी के माथे व पेट पर ठंडे पानी की पट्टी रखनी चाहिए। इससे बुखार उतरने में मदद मिलती है।
  • ताँबे के बर्तन में रात भर रखा पानी पीने से पेट संबंधी रोगों से छुटकारा मिलता है।
  • अधिक मात्रा में पानी पीने से बुढ़ापा देर से आता है। ऐसे लोगो के चेहरे पर समय से पहले झुर्रियाँ भी नहीं पड़तीं है ।
  • गर्मियों में घर से बाहर निकलने पर लू लगने का अंदेशा रहता है। ऐसे में घर से निकलने से पहले एक गिलास ठंडा पानी पानी पीने से लू से बचाव होता है।
  • स्तनपान कराने वाली स्त्रियों को पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए। इससे उनमें दूध की मात्रा बढ़ती है।
  • नकसीर फूटने पर रोगी के सिर पर ठंडे पानी की पट्टी रखें। इससे नाक से होने वाला रक्तस्राव बंद हो जाएगा।
  • सुबह ठंडा पानी के छींटे आँखों पर मारने से आँखों की ज्योति बढ़ती है।
  • आई फ्लू यानी कंजेक्टिवाइटिस होने पर दिन में कई बार साफ, ठंडा पानी पीने से आँखें धोने से राहत मिलती है।
  • पानी ही शरीर के तापक्रम को नियमित करके शरीर की गर्मी को समान रूप से बनाए रखता है।
  • रक्त को तरल व गतिशील बनाए रखने में पानी विशेष उपयोगी है।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से ही शरीर की हड्डियाँ और जोड़ फिट रहते हैं।
  • डिहाइड्रेशन में तो पानी का सेवन किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं। उलटी, दस्त, लू आदि की वजह से हुए डिहाइड्रेशन से जान भी जा सकती है।
  • उलटी-दस्त होने पर पानी में ‘ओ.आर.एस’ का घोल बनाकर लेना चाहिए।
  • पानी में प्राकृतिक रूप से रोगों से लड़ने की शक्ति होती है। समुचित मात्रा में पानी पीने से आप रोगाणुओं के हमले से बचे रहेंगे ।
  • ठंडे पानी से नहाने पर न केवल शरीर का ऊपरी मैल, गंदगी ही दूर होती है बल्कि ताजगी एवं स्फूर्ति का एहसास भी होता है।
  • पानी के सेवन से शरीर की नाड़ियाँ उत्तेजित होती हैं तथा मांसपेशियाँ सिकुड़ती है ।
  • कम पानी पीने से जोड़ों को आधार प्रदान करनेवाली गद्दियों में लचीलापन समाप्त हो जाता है तथा वे सिकुड़ जाती हैं। पानी पीने से यह नए ऊतकों के निर्माण में सहायक होता है तथा उन्हें सुरक्षात्मक कुशन प्रदान करता है।
  • शरीर में लगातार मेटाबोलिक क्रिया चलती रहती है, जिसमें पानी की लगातार जरूरत होती है। इन्हीं क्रियाओं के फलस्वरूप हमें एनर्जी मिलती है। यह भी पढ़ें – पानी का सेवन करने के भी हैं कुछ खास नियम और सही तरीके
  • सुबह के समय पानी पीने से त्वचा में चमक और उम्र में वृद्धि होती है।
  • कम मात्रा में पानी पीने से याददाश्त कमजोर होती है।
  • पानी पीने से मुँह में लार बनता है। यह लार पाचन क्रिया में महत्त्वपूर्ण योगदान देता है।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीना बड़ी आँत के कैंसर से बचाता है।
  • सही मात्रा में पानी का सेवन स्तन कैंसर की आशंका कम करता है। ज्यादा पानी पीने से ब्लड कैंसर का खतरा 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है।
  • पथरी होने पर रात के भोजन के बाद एक गिलास गरम पानी पीना चाहिए।
  • यदि पैरों में सूजन आ गई हो तो गरम पानी में थोड़ा सा नमक डालकर उसमें पैर डुबोकर रखें, लाभ मिलेगा।
  • यदि कमर या पीठ दर्द सताए तो गरम पानी की थैली से सिकाई करने से फायदा होता है।
  • नमकीन पानी में नहाने से गठिया के दर्द में राहत मिल सकती है। हाल में हुए शोध से पता चलता है कि उच्च सांद्रतावाले नमक के घोल से सूजन के कारण फैली कोशिकाओं को राहत मिलती है और इससे किसी तरह का साइड इफेक्ट भी नहीं होता है।
  • यदि टॉन्सिल्स बनने की शिकायत हो तो गरम पानी में एक चुटकी नमक डालकर गरारे करने से लाभ होता है।
  • यदि कब्ज की शिकायत हो तो रात को सोते समय तथा सुबह उठने के बाद गरम पानी पीने से लाभ मिलता है ।
  • खाली पेट पानी पीने के लाभ – खाली पेट सुबह 1 ग्लास गर्म पानी में नींबू डालकर यह पानी पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और शरीर को विटमिन सी भी मिलता है।
  • सर्दियों में यदि कफ की शिकायत हो तो धूप में रखे पानी को पीने से लाभ मिलता है।
  • पीरियड्स के दौरान महिलाओं को अक्सर पेट दर्द की समस्या होती है।ऐसे में 1 गिलास गुनगुना पानी पीने से दर्द से राहत मिलती है।

शहद मिलाकर पानी पीने से फायदे

  • गर्म पानी के साथ शहद मिलाकर पीने से वजन कम होता है।
  • अगर आप पूरे दिन एनर्जेटिक रहना चाहते हैं, तो गर्म पानी के साथ शहद इसके लिए कारगर है।
  • शहद को गर्म पानी में मिलाकर पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

इस विषय से जुड़े अन्य आर्टिकल

Leave a Reply