प्रोटीन के फायदे तथा कितना खाएँ और इसके स्रोत क्या है ?

प्रोटीन हमारे लिए बहुत आवश्यक है, इसे मांसपेशियों का भोजन कहा जाता है, लेकिन जब मांसपेशियों को आवश्यकता से अधिक भोजन खिलाया जाता है तो उसका प्रभाव बाहरी रूप से ही दिखाई नहीं देता, बल्कि शरीर के आंतरिक अंगों की कार्यप्रणाली भी गड़बड़ा जाती है। हमारी …

बादाम के तेल के फायदे तथा बेहतरीन औषधीय उपयोग जानिए

पोषक तत्वों से भरपूर बादाम को सेहत का खजाना भी कहा जाता है। इसीलिए आप बादाम के तेल का इस्तेमाल आप सेहत और खूबसूरती दोनों के लिए कर सकते हैं, बादाम के तेल को बादाम रोगन भी कहते हैं यह कच्चे बादाम से निकाला जाता है। …

खसखस के फायदे तथा खसखस खाने का तरीका -पोस्ता दाना लाभ

आजकल हर रोज नई-नई बीमारियां सुनने को मिल रही है। गलत खान-पान के कारण हर दूसरा इंसान किसी न किसी बीमारी से ग्रसित है। आज के समय में स्वस्थ रहने के लिए सही आहार और कुछ घरेलू उपाय बहुत जरूरी है। इसलिए डाइट में कोई ऐसी …

अम्लता (अम्लपित्त) बीमारी को दूर करने के लिए घरेलू आयुर्वेदिक उपाय

अम्लता जिसे एसिडिटी भी कहते है यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें शरीर के तरल पदार्थ में अम्ल की मात्रा अधिक हो जाती है। सामान्य तौर पर शरीर के तरल पदार्थों में 20 प्रतिशत अम्ल और क्षार का संतुलन रहता है। सामान्य रूप से स्वस्थ व्यक्ति …

PCOD पीसीओडी बीमारी क्या है? कारण, लक्षण तथा आधुनिक उपचार

पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम/पी.सी.ओ.एस./PCOD -Polycystic Ovarian Syndrome लक्षणों के एक समूह को कहते हैं, जिसमें एक लक्षण यह भी है कि ओवरी में अनेकों छोटे-छोटे सिस्ट (गांठे) दिखते हैं, जिनके कारण यह नाम पड़ा है। हालाँकि पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम में सिस्ट का होना आवश्यक नहीं है और …

मासिक धर्म में असामान्य या अधिक रक्तस्राव होने के कारण तथा जाँच

मासिक धर्म में असामान्य या अधिक रक्तस्राव होने के कई कारण हो सकते है, सामान्य मासिक चक्र 28 दिनों का होता है। इससे सात दिन कम या सात दिन अधिक का चक्र भी सामान्य ही माना जाता है। सामान्य मासिक स्राव में प्रतिमाह रक्त की मात्रा …

आयुर्वेद से करे हाइपर एसिडिटी की छुट्टी जानिए इसका आयुर्वेदिक इलाज

आज के भागदौड़ वाली जिंदगी में लगभग हर व्यक्ति हाइपर एसिडिटी यानि अम्लपित्त या GERD से परेशान हैं। खाली पेट ज्यादा देर तक रहने से या अधिक तला भुना खाना खाने के बाद खट्टी डकार व पेट में गैस आदि बनने लगती है। एसिडिटी होने पर …