नींद की कमी से है परेशान तो आजमायें गहरी नींद के लिए ये उपाय

नींद की कमी या अनिद्रा को अंग्रेजी में (Insomnia) कहते हैं | विशेषज्ञों का मानना है कि एक वयस्क व्यक्ति के लिए 8 घंटे की नींद जरूरी होती है। दूसरी ओर यह भी सच है कि कुछ लोग केवल पाँच या छह घंटे ही सो पाते हैं, वह भी करवट बदल-बदलकर। विशेषज्ञों का मानना है कि नींद कितनी ज्यादा हो, महत्त्व इसका नहीं बल्कि नींद कैसी है, यह ज्यादा महत्त्वपूर्ण है। कई बार डिप्रेशन के कारण भी लोग नींद की कमी के शिकार हो जाते हैं। इसके अलावा यदि शरीर में जिंक और आयरन जैसे पौष्टिक तत्वों की कमी हो तो भी नींद की कमी की स्थिति बनी रहती है। एक नवजात शिशु आमतौर पर दिन भर में 18 घण्टे तक सोता है और वही जब 10-12 साल का किशोर बन जाता है, तो उसकी नींद 9-10 घण्टे की रह जाती है। वैसे वयस्क व्यक्ति के लिए 7-8 घण्टे की नींद ही काफी होती है। नींद की कमी के रोगियों को नींद की दवाइयों से बचना चाहिए तथा वैकल्पिक उपायों का उपयोग करना चाहिए नींद की दवा लेने से एक तो इसकी आदत पड़ जाती है और दूसरे दिमाग पर इस दवा के साइड इफ़ेक्ट बहुत अधिक पड़ते है | नींद की कमी से जूझ रहे व्यक्ति हो चाय और कॉफ़ी का सेवन शाम के वक्त बिलकुल नहीं करना चाहिए | इन्हें नियमित व्यायाम और समय पर सोने के लिए टाइम टेबल बनाना चाहिए। साथ ही, इन्हें दोपहर के समय सोने से बचना चाहिए। माँस पेशियों को आराम पहुँचाने वाली तकनीकों और आराम पहुँचाने वाले व्यायाम सिखाने चाहिए। नींद की कमी से जूझ रहे लोगो को अपने खानपान पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि सही खानपान अच्छी नींद लाने में बहुत सहायक होता है |

नींद की कमी दूर करने के लिए आजमायें खानपान के ये उपाय

नींद की कमी से है परेशान तो आजमायें ये गहरी नींद के उपाय neend ki kami Insomnia ka ilaj

  • दूध—रात को सोते समय दूध से बना मावा या खोवा 50 ग्राम खाने से नींद अच्छी आती है। रात को सोते समय एक गिलास दूध में शक्कर व एक चम्मच घी मिलाकर पीयें। नींद जल्दी ही  आयेगी।
  • जायफल- नींद की कमी होने पर इसे पानी या घी में घिस कर पलकों पर लगाने से नींद जल्दी आ जाती है।
  • धनिया- नींद की कमी होने पर हरा धनिया पीसकर चीनी और पानी मिलाकर पीयें। इससे अच्छी नींद आती है, आँखों के आगे अँधेरा आना और सिर-दर्द बन्द हो जाता है।
  • पत्तागोभी-नींद की कमी में पत्तागोभी लाभदायक है। इसकी सब्जी घी में छौंक कर खायें।
  • दही–दही में पिसी हुई काली मिर्च, सौफ तथा चीनी मिलाकर खाने से नींद अच्छी आएगी |
  • शहद- नींबू का रस और शहद 1-1 चम्मच मिलाकर रात को ये दो चम्मच पीने से नींद आ जाती है। नींद खुल जाने पर फिर से दो चम्मच पीने से नींद फिर आ जाती है। नींबू न हो तो पानी के गिलास में ही शहद की दो चम्मच डालकर पीने से नींद आ जाती है।
  • नींद की कमी में सेब का मुरब्बा खाने से लाभ होता है |
  • प्याज- यदि नींद नहीं आती हो तो कच्चा प्याज या पकाया हुआ प्याज या गरम राख में प्याज सेक कर इसका रस चार चम्मच पीयें या प्याज खायें। इससे नींद अच्छी आयेगी।
  • सरसों का तेल- पैरों के तलवों में तेल की मालिश करने से उनमें स्थिरता रहती है, नींद गहरी आती है और नींद की कमी दूर होती है ।
  • सौंफ-10 ग्राम सौंफ आधा किलो पानी में उबालें, चौथाई पानी रहने पर छानकर 250 ग्राम दूध और 15 ग्राम घी तथा स्वादानुसार चीनी मिला कर सोते समय पिलायें।
  • आम- रात को आम खायें व दूध पीयें इससे नींद अच्छी आती है।
  • गाजर- गाजर में सन्तुलित भोजन के तत्त्व होते हैं। इससे नींद की कमी दूर हो जाती है। रोजाना एक गिलास गाजर का रस पीयें।
  • नींद की कमी दूर करने के लिए भोजन में रेशे (फाइबर) युक्त पदार्थों जैसे–चोकर युक्त आटे की रोटी, दलिया, दालें, केला, आम, अमरूद, अंगूर, अंजीर, खजूर, पालक, आलू, कद्दू चुकंदर का अधिक सेवन करें, ताकि कब्ज की समस्या पैदा न हो।

नींद की कमी दूर करने के लिए ये उपाय भी आजमायें

  • सोने से पहले एक गिलास हल्का गरम दूध जरूर पिएँ। दिन में कोई-न-कोई व्यायाम जरूर करें और सोने से पहले सैर के लिए भी जरूर जाएँ।
  • सोने और जागने का समय तय कर लें।
  • सोने से पहले चाय, कॉफी, शराब आदि का सेवन न करें। रात को हल्का भोजन ही लें और कोशिश करें कि सोने के लिए जाने से डेढ़ घंटा पहले ही खाना खा लिया जाए।
  • स्वाभाविक नींद लेने की कोशिश करें, किसी गोली या कैप्सूल पर निर्भर न रहें।
  • दिन में घटित तनाव भरी घटना को भूल जाएँ और सामान्य रहने की कोशिश करें। यदि इन बातों को ध्यान में रखा जाए तो कोई कारण नहीं कि अच्छी और गहरी नींद न आए।
  • नींद की कमी से बचने के लिए सोने के पहले टीवी प्रोग्राम नहीं देखें और न ही वीडियो गेम खेलें, क्योंकि ये चीजें दिमाग को उत्तेजित एवं प्रोत्साहित करती हैं। और नींद पास नहीं फटक पाती।
  • सोने से पहले सोचे–लोग अपने रोजमर्रा के काम-काज में इतना व्यस्त रहते हैं कि जब सोने का समय आता है, तो बिस्तर पर लेटकर वे दिन भर के काम-काज के बारे में सोचने लगते हैं, जिससे उनका दिमाग बहुत ज्यादा सक्रिय हो जाता है और नींद आने में देर लगती है तथा नींद की कमी भी हो जाती है । इसलिए नींद की कमी दूर करने के लिए बिस्तर पर जाने से एक या दो घण्टे पहले ही अपने रोजमर्रा के कार्यों पर चिंतनमनन कर लें। इस दिमागी कसरत से सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि आपका दिमाग तनावों से मुक्त हो जाएगा चाहें तो सोते वक्त 1 गिलास गर्म दूध ले सकते हैं, लेकिन उसके साथ ही कोई मीठा स्नैक्स न लें, क्योंकि उसमें मौजूद शक्कर आपकी शारीरिक प्रणाली को उत्तेजित कर सकती है।
  • एक आरामदायक निद्रा व्यवस्था को प्राथमिकता दें यदि आप चाहते हैं कि गहरी नींद आए तो अपने बेडरूम को आरामदायक बना लें। रोशनी से परेशानी न हो इस बात का भी ध्यान रखें। आपका बिस्तर भी आरामदायक होना चाहिए। यदि आप ढीले-ढाले कपड़े पहनकर सोते हैं, तो निश्चित ही आपको चैन की नींद आएगी।
  • एक्ससाइज करिए–प्रतिदिन शाम ढलने से पहले हल्की-फुल्की एक्ससाइज करें, क्योंकि एक्ससाइज या मेहनत करने के बाद, जो माँसपेशियाँ टूटती हैं उन्हें रिपयेर करने के लिए शरीर अपने आप ही विश्राम लेता है जिससे नींद की कमी दूर होती है ।
  • गर्म पानी से स्नान करें–निद्रा विशेषज्ञों के अनुसार जैसे-जैसे शरीर का तापमान घटने लगता है। वैसे ही झपकियाँ आनी शुरू हो जाती हैं। लिहाजा सोने से 4 घण्टे पहले अगर गर्म पानी से नहा लिया जाए, तो शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा बढ़ेगा और तापमान में गिरावट आना शुरू हो जाएगी तथा झपकियाँ आने लगेंगी, नतीजतन आसानी से नींद आ जाएगी।
  • नींद की कमी दूर करने के लिए आप होम्योपैथिक दवा कैल्केरिया कार्ब-200 भी ले सकते है इससे अधिकतर रोगियों को नींद आने लगती है।
  • नींद की कमी दूर करने के लिए मालिश भी उपयोगी होती है -सोने से पहले गरदन, रीढ़ की हड्डी और कंधों की मालिश अच्छी तरह, दबा कर लगातार दस मिनट करें। रीढ़ की हड्डी पर नीचे से ऊपर व ऊपर से नीचे दोनों ओर मालिश करें।
  • नींद बीच में ना टूटे इसके लिए पेशाब करके सोयें। इससे अच्छी नींद आती है। यदि सोते ही तुरन्त नींद नहीं आये तो कुछ भी विचार, चिन्ता नहीं करें। यह विश्राम का अच्छा अवसर होता है। विश्राम के बाद अच्छी नींद आती है।
  • सोते समय सांस पर ध्यान रखते हुए उल्टी गिनती जैसे- 100, 99, 98 गिनें ।
  • नींद न आने पर सोने से पहले 10 मिनट तक गरम पानी में पिंडलियों तक दोनों पैर रखने चाहिए। इसे उष्ण-पाद-स्नान कहते हैं। यदि चक्कर आते हों तो सिर पर गीला रुमाल रखना चाहिए। गर्मियों में ठंडे पानी से पैर धोकर सोने से नींद की कमी दूर होती है।

अन्य सम्बंधित लेख 

Leave a Reply