डायबिटीज में क्या खाए और क्या नहीं-31 टिप्स-Diabetic Diet

डायबिटीज में क्या खाए इसकी सही जानकारी से शुगर को बढ़ने से रोकने तथा नियंत्रण और यहां तक कि काफी हद तक पूरी तरह से ठीक करने में काफी सहायक सिद्ध हो सकता है | मधुमेह के रोगियों को अपने भोजन को चुनने में बहुत सावधानी बरतनी चाहिए,जैसे कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट कम से कम लेना चाहिए |

इसलिए हम आपको बता रहे है एक आदर्श Diabetic Diet Plan जिसमे यह बताया गया है की मधुमेह से पीड़ित रोगी क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए | साथ ही साथ इससे उन लोगो को भी लाभ मिलेगा जो इस बीमारी से बचना चाहते है, क्योंकि “क्या न खाए” भाग में जिन चीजो को रखा गया है उनकी मात्रा आज ही अपनी थाली से कम करे , क्योंकि एक सही डायबिटीज डाइट इस रोग को काबू करने में काफी मदद करती है | वैसे भी रोगों से बचाव ही सबसे अच्छा उपचार होता है |

मधुमेह का एक संक्षिप्त परिचय -> शरीर में Pancreas Gland से इन्सुलिन न बनने के कारण मधुमेह रोग उत्पन्न होता है। यह हार्मोन शरीर में सेवन की गई चीनी का पाचन कर उसे ऊर्जा में परिवर्तित करता है और रक्त में ग्लूकोज की मात्रा एक निश्चित स्तर से अधिक नहीं बढ़ने देता। बाकि बची हुई फालतू शुगर की मात्रा इंसुलिन द्वारा ही ग्लाइकोजन में परिवर्तित करके पेट और मांसपेशियों में एकत्रित कर दी जाती है। आमतौर पर खाली पेट में रक्त की शुगर का स्तर 80 से 120 मिली ग्राम प्रति 100 सी.सी. के बीच होता है और खाना खाने के बाद यह स्तर 100 से 140 मिलीग्राम हो जाता है। अकसर यह रोग महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में तथा 35 से 60 वर्ष की आयु वालों में अधिक होता है। वैसे वंशानुगत (Hereditary Disease) की श्रेणी में आने कारण से यह रोग किसी भी आयु में हो सकता है। यानि जिनके माता-पिता या दादा-दादी को मधुमेह रोग रहा हो तो उन्हें तो बचपन से ही इस रोग के प्रति जागरूक हो जाना चाहिए और समय-समय पर अपनी जाँच करवाते रहना चाहिए |

डायबिटीज में क्या खाए 

डायबिटीज में भोजन, खाना
डायबिटीज में क्या खाएं
  • डायबिटीज में ज्यादा फाइबर युक्त भोजन -जैसे छिलके सहित पूरी तरह से बनी हुई गेहूं की रोटी, जई (Oats) इत्यादि जैसे जटिल कार्बोहाइड्रेट शामिल होनी चाहिए, क्योंकि वे खून के प्रवाह में धीरे-धीरे मिल जाते हैं। इस प्रकार इन्सुलिन उत्पादित ग्लूकोस का बेहतर ढंग से सामना कर सकती है।
  • गेहूं और जौ 2-2 किलो की मात्रा में लेकर एक किलो चने के साथ पिसवा लें। ऐसे चोकर सहित आटे की बनी चपातियां भोजन में खाएं।
  • डायबिटीज में सब्जियां : करेला, मेथी, सहजन , पालक, तुरई, शलगम, बैंगन, टिंडा, चौलाई, परवल, लौकी, मूली, फूलगोभी, बेलपत्र, ब्रोकली, टमाटर, बंदगोभी, Tofu, सोयाबीन की मंगौड़ी, जौ, बंगाली चना, पुदीना, हल्दी, काला चना, दालचीनी, फलीदार सब्जियां जैसे बीन्स, सैम फली, शिमला मिर्च, हरी पत्तेदार सब्ज़ियां शामिल करें तथा इन सब्जियों से बने पतले सूपों का जितना चाहें उतना सेवन करें।
  • तुलसी के बीज, जैतून का तेल (Olive oil),अलसी, बादाम का भी बेहिचक सेवन करें |
  • डायबिटीज में फल – फलों में जामुन, नींबू, आंवला, टमाटर, पपीता, सिंघाड़ा, खरबूजा , कच्चा अमरुद, संतरा, मौसमी, ककड़ी ,चुकन्दर , मीठा नीम, बेल का फल, जायफल तथा नाशपाती को शामिल करें। आम ,पका केला ,सेब, खजूर तथा अंगूर में शुगर होता है, लेकिन क्योंकि फलों में फाइबर ज्यादा होता है इसलिए ये अच्छे शुगर की केटेगरी में आते है | जिनको हाई लेवल मधुमेह नहीं है वो इनको कम मात्रा में ले सकते है| इनका जूस बिल्कुल ना पियें क्योंकि उससे फाइबर निकल जाते है | अधिक पके हुए फलों में अधिक शुगर होता है इसलिए कच्चे फलों का ज्यादा सेवन करें | आम की पत्तियों का सेवन भी लाभकारी है, इसके लिए 15-16 पत्तियों को एक कप पानी में उबाल लें और छान कर पियें |
  • ठीक इसी प्रकार हरे केले के छिलकों का प्रयोग भी डायबिटीज में किया जा सकता है |
  • मेथी दाना (बीज) 25 से 100 ग्राम तक प्रतिदिन सुबह खाली पेट या सब्जी बनाकर, आटे में मिलाकर अथवा दाल के साथ नियमित रूप से खाएं।
  • मक्खन एवं पनीर के बजाय नमक के पानी में डिब्बाबंद मशरूम, Salmon Fish, Tuna Fish के साथ उबले आलू का उपयोग करें। अगर आप मांसाहारी है तो मछली और मछली का तेल सिमित मात्रा में प्रयोग कर सकते हैं | लेकिन यह सावधानी रखें की मछली को तेल में फ्राई करने की बजाय भून कर, पकाकर या सेंक कर खाएं | मछली में फैट होता है |
  • एक सही Diabetic Diet के अनुसार भुने हुए खाने या उबले हुए भोजन को प्राथमिकता दें, भून कर खाने से आहार जल्दी ही पच जाता है | भुने हुए खाने में वसा कार्बोहाइड्रेट भी कम होती है | यदि संभव हो तो सब्जियों को बजाय तड़का लगाने और तरीदार बनाकर खाने के केवल नमक लगाकर भूनकर सब्जियों का सेवन करें |
  • खाने से पहले एक कटोरी सलाद जरुर लें।
  • Diabetic Diet में बादाम, चना दाल, लहसुन, प्याज, अंकुरित दाले, अंकुरित छिलके वाला चना , सत्तू,  बाजरा आदि शामिल करे |
  • कमजोरी दूर करने के लिए हरा कच्चा नारियल, अखरोट, मूंगफली के दाने, काजू, इसबगोल, सोयाबीन, मटन का सूप, दही, छाछ का सेवन करें।
  • इंसुलिन के बनने में क्रोमियम की कमी से रुकावट आती है। इसलिए इसकी कमी को पूरी करने के लिए फूलगोभी, मशरूम, चोकर सहित खड़े अनाज, खमीर, सूखे मेवे यानि ड्राई फ्रूट्स अधिक खाएं और दालचीनी (cinnamon), अजमोद का भी सेवन करें।
  • फलों का ताज़ा जूस न पीए इसकी बजाय फल खाएं क्योकि उसमे ज्यादा फाइबर होता है !
  • मधुमेह से ग्रस्त रोगियों को अधिकतर ताजी, हरी सब्जियां खानी चाहिए । प्रत्येक भोजन के साथ सलाद जरुर लेना चाहिए । खाने में आधिक मात्रा में फल एवं सब्जियां लेने से शरीर में अधिक पानी पहुंचता है। पानी की भरपूर मात्रा गुर्दों एवं यूरिन उत्सर्जन तंत्र के लिए आवश्यक है ।
  • Diabetic Diet में एलोवेरा को भी अवश्य शामिल करें | यहाँ पढ़ें – रेसेपी 
  • भोजन एक बार में न कर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में 4-5 बार करें।
  • किसी भी समय का भोजन न छोड़ें तीन बार बराबर-बराबर भोजन ले और यदि आवश्यकता हो तो शाम को हल्का नाश्ता ले
  • चीनी रहित चाय, कॉफी और दूध का सेवन करें। इसके मिठास के लिए “Artificial Sweeteners” या शूगर फ्री गोलियां उपयोग में लें सकते है। इसकी जानकारी के लिए पढ़ें यह आर्टिकल – शुगर फ्री |
  • ग्रीन टी का सेवन भी मधुमेह में बहुत लाभकारी है क्योंकि इसमें मौजूद Antioxidants Vitamin C और E से भी बेहतर होते हैं | ग्रीन टी और काली चाय दोनों का ही सेवन बिना दूध और चीनी के करने से और ज्यादा लाभ मिलेगा |
  • भोजन ठीक से चबा चबाकर खाएं, फ़ूड विशेषज्ञ इस बात की सलाह देते हैं कि, प्रत्येक खाने का ग्रास पंद्रह बार चबाया जाना चाहिए |
  • ख़ाली पेट न रहें और लिए जाने वाले भोजन की कुल मात्रा में कमी लाएं एवं नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • यदि आप अपनी सीमा से ज़्यादा खा लेते हैं तो अगले समय के भोजन में थोडा कम खाए |
  • आप Diabetic Diet में शहद और गाजर को कम मात्रा में शामिल कर सकते है क्योकि ये “Good Sugar Substitutes” श्रेणी में आते है | लेकिन इसके लिए अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें क्योंकि यह डायबिटीज के विभिन्न टाइप पर निर्भर करता है |
  • Diabetic Diet में मक्की या मकई (कॉर्नफ्लैक्स) शामिल की जा सकती है परंतु याद रखें कि यह एक साधारण कार्बोहाइड्रेट है । आप मकई को ओटमील या फलों के साथ खा सकते हैं। यदि आप मक्का की रोटी खाना चाहते हैं तो उसमें हरी पत्तेदार सब्जियां, प्याज, टमाटर तथा गाजर को भरकर खाएं और घी बिलकुल ना लगायें | मक्की की रोटी तथा सरसों का साग खाया जा सकता है पर साथ में सलाद अवश्य लें ।
  • तरबूज में फैट और कोलेस्ट्रॉल दोनों ही नहीं होते है बल्कि इसमें मौजूद पोटाशियम मांसपेशियों को ठीक से काम करने में मदद करता है |
  • डायबिटीज के रोगी आटे में 25 ग्राम अलसी पीसकर आटा गूंथकर रोटी बनायें। अलसी शुगर को को नियन्त्रित रखती है। डायबिटीज से शरीर के अंगो पर होने वाले साइड इफ़ेक्ट को कम करती है। डायबिटीज के रोगी को डॉक्टर कम चीनी और ज्यादा रेशा लेने को कहते हैं। रोगी की रोटी में 30-30 ग्राम ताजा पिसी अलसी आटे में मिलाकर दोनों समय दें तो शुगर कम व रेशा ज्यादा मिलेगा। अलसी व गेहूँ के मिलेजुले आटे में 50% कार्बन, 16% प्रोटीन व 20% रेशा होता है।
  • ठीक इसी प्रकार मधुमेह में गुड़ को लेकर अक्सर लोगो में शंका बनी रहती है | डायबिटीज में गुड खाने की सलाह नहीं दी जाती है लेकिन Glycemic Index के अनुसार गुड निश्चित रूप से Refined Sugar यानि चीनी से बेहतर होता है | लेकिन इसको आप अपनी डाइट में कितनी मात्रा शामिल कर सकते हैं ? या शामिल कर भी सकते हैं या नही ? यह आपके शुगर लेवल, डाइट चार्ट और आपकी कैलोरी की जरुरत पर निर्भर करता है | जो निश्चित रूप से सभी के लिए अलग- अलग होता है | वैसे आपके डॉक्टर आपको गुड लेने की सलाह दें तो तिल और गुड मिलाकर खाना बेहतर होता है |
  • आहार प्रबंधन और Diabetic Diet के माध्यम से अपना वज़न पर नियंत्रित रखें। एक संतुलित आहार का मुख्य गुण यह है कि उसमे भोजन की प्रकृति व्यक्ति विशेष की जरुरत के हिसाब से बदल जाती है |
  • डायबिटीज के रोगियों की कैलोरी की जरुरत ये होती है – बहुत मेहनती व्यक्ति (किसान, मजदूर)= 2600 कैलोरी, युवा जो व्यायाम भी करते हों = 2400, गर्भवती महिला = 2300, अधेड़ उम्र के मोटे व् सुस्त लोग =2000, मध्यम उम्र की घरेलू महिला = 1700, सामान्य सेहत के बुजुर्ग= 1500, मोटापे से पीड़ित बुजुर्ग = 1000-1200 | आगे आने वाले दिनों में हम कोशिश करेंगे की ऊपर दिए गए इन वर्गो के अनुसार अलग-अलग Diabetic Diet चार्ट पब्लिश करें |

—————————————————————————————————————————————–

मधुमेह से पीड़ित रोगियों को क्या नहीं खाना चाहिए 

    • Diabetic Diet प्लान में से घी और नारियल का तेल आदि चिकनाई युक्त चीजो को निकाल देना चाहिए। पूरी, कचौड़ी, समोसा, पकौड़े आदि खाने से भी बचना चाहिए।
    • गुड़, शक्कर, मिश्री, चीनी, शर्बत, मुरब्बा, शहद, पिज़्ज़ा, बर्गर, क्रीम रोल,आइसक्रीम तथा कोला जैसे ठंडे पेय से परहेज करें |
    • डायबिटीज नियंत्रण करने वाली औषधियों के प्रयोग के दौरान डायबिटीज रोगी भोजन नहीं छोड़ना चाहिए |
    • चिकन Leg piece को खाने से बचें ।
    • अधिक फैट वाला फ्राइड फूड, बकरे, भेड़, गाय, सूअर आदि का मांस (रेड मीट) ब्लड-वेसेल्स के साथ दिल की बीमारियों के खतरे को बढ़ा देते है |अन्य लोगो की तुलना में मधुमेह रोगी को दिल की बीमारी होने का खतरा बहुत ज्यादा होता है इसलिए रेड मीट का सेवन बिलकुल ना करें |
    • चावल और आलू का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए। खासतौर पर नए सफेद चावल न खाएं | Brown Rice, Unrefined Rice यानि भूरे चावल सिमित मात्रा में ले सकते हैं |
    • मैदे से बनी सफ़ेद रोटी (नान, तंदूरी रोटी ), नूडल्स, नाश्ते में अनाज, मीठे बिस्कुट, केक, मैगी, चिप्स, पास्ता, ज्यादा प्याज, टमाटर का मीठा सॉस, मीठी दही, परांठे, मैदे से बनी सफेद डबलरोटी एवं पेस्ट्री, कुलचे, बंद, कचौरी, चाट भी न खाएं।
    • चाशनी में परिष्कृत डिब्बाबंद फल न खाएं।
    • Diabetic Diet प्लान के अनुसार शराब, बियर, कॉफ़ी आदि पदार्थो का सेवन न करे |
    • मकई का आटा (बिना सब्जी मिलाए), सूजी, ज्यादा वसायुक्त पनीर, सॉस, cheese, फुल क्रीम मिल्क, मलाई, अचार, मुरब्बा , सीताफल, पेठा जैसे भोजन का सेवन न करें। एक सही Diabetic Diet प्लान के अनुसार कोई भी डब्बा बंद “Ready to Eat Food” नही खाएं |
    • सुनहरी चाशनी, च्यूइंगम, मीठे पेय, डब्बा बंद जूस, सोडा, मिठाइयाँ, Energy drinks एवं चीनी से बने जैम का सेवन न करें।
    • अगर आप यह समझना चाहते है की उपरोक्त चीजो को क्यों नहीं खाना चाहिए तो पढ़ें- यह पोस्ट
    • लैब में रक्त परीक्षण और मूत्र परीक्षण हर दूसरे-तीसरे महीने करवाते रहना चाहिए। इससे आपको शुगर लेवल की जानकारी रहेगी तथा आप सजग और सतर्क रहेंगे । घर पर ग्लूकोमीटर से जांचने पर कई बार सटीक जानकारी मिलने का अभाव होता है |
    • नियमित रूप से सुबह-शाम सैर करें और एक जगह बैठकर मानसिक परिश्रम कम से कम करें |
    • अगर आपका ब्लड शुगर कंट्रोल में है और आप को मिठाई खाने की ज्यादा इच्छा है तो मिठाई खाने से पहले एक चम्मच इसबगोल की भूसी एक कप दूध के साथ या पानी के साथ सेवन करें | इससे शुगर एकदम से नहीं बढ़ेगा क्योंकि इसबगोल अपनी रासायनिक सरंचना और ज्यादा फाइबर की वजह से ब्लड शुगर एकदम से नहीं बढने देता है |

    मधुमेह कम करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय  – साभार { पतंजलि आयुर्वेद }

    • खीरा, करेला और टमाटर एक-एक की संख्या में लेकर इसका जूस निकालकर, सुबह खाली पेट पीने से Diabetes में लाभ होता है |
    • जामुन की गुठली का पाउडर करके, एक-एक चम्मच सुबह-शाम खाली पेट पानी के साथ लेने से Diabetes नियंत्रित होती है।
    • नीम के 7 पत्ते सुबह खाली पेट चबाकर अथवा पीसकर पानी के साथ लेने पर डायबिटीज में लाभ मिलता है
    • सदाबहार के 7 फूलों को खाली पेट पानी के साथ चबाकर सेवन करने से भी डायबिटीज में लाभ मिलता है।
    • गिलोय , जामुन , कुटकी निम्ब पत्र, चिरायत, काल मेघ, सूखा करेला, काली जीरी, मेथी, इनको समान मात्र में लेकर पीस लें। फिर यह पिसा हुआ पाउडर  1-1 चम्मच सुबह-शाम खाली पेट पानी के साथ लेने  से डायबिटीज में विशेष लाभ मिलता है।
    • करंज बीज पाउडर को आधा-आधा चम्मच की मात्रा में सुबह –शाम गुन-गुने पानी के साथ सेवन करने से डायबिटीज में लाभ मिलता है।
    • डायबिटीज में सूर्यतापित हरे पानी का सेवन भी अच्छा रहता है इस पोस्ट के अंत में इसको बनाने की विधि दी गई है |

    अन्य सम्बंधित पोस्ट

    New-Feed

    55 thoughts on “डायबिटीज में क्या खाए और क्या नहीं-31 टिप्स-Diabetic Diet”

      • Hi
        Your post is very good I appreciate it . But I need some more information about blood sugar . My wife is pregnant (2nd) and now she having 2tyep of blood sugar and thyroid problem . Can you tell me that she can take milk , curd and paneer please send me the PDF file .deit chart for blood sugar and thyroid

        Thanks
        Sahil.bhinda@gmail.com

        Hi ,
        Foods to Include in thyroid are – Fortified milk /Cow Milk, yogurt, Whole Grains, Fruits & Vegetables, Beans , nuts. pls Avoid gluten rich food items ,fatty foods like too much Soya, cream milk , junk food , Sugary Foods, Maida etc
        Regards
        HBT

    1. Sir meri sugar kum nahi ho rahi . meri pancreas ke upper ek syst hai. Kisi ke batane per in dino maine desi medicine khai hai shayad wo kafi garm rahi hogi mujhe mera ser nose ear teeno block lagte hai bada uncomfortable feel karti hu kya kru Pl suggest.

      Reply
    2. Mam shugar vale patient ko baccha hone ka koi problem nahi hai na.?
      Matlab mere bhai ko shugar hai usake shadi ke baad usake life me bacche hone ka problem to nahi hota hai na?
      Please …..mam…
      nahi yeh koi jaruri nahi hai ki bache ko bhi sugar ho jayegi. Pregnancy ke time par Doctor se niyamit Diabetes ki janch karwaye aur khanpan ka khyal rakhe.

      Thanks

      Reply
      • Dear Sir,
        Agar Diet aur physical exercise se aapka sugar level control hai aur aap insulin nahi lete hai to Aap Apne Doctor se Advise lekar dhire- dhire medicine kam karke finally chhod bhi sakte hai | lekin ye sab bahut sari chijo par nirbhar karta hai jaise…!
        1. diabetes type
        2. Age / Weight
        3. Gestational diabetes Or diabetes due to temp. causes
        4. current sugar level
        ye sab analysis karne ke baad hi koi nirnay liya ja sakta hai.

        Thanks and Regards
        HBT Team
        “Prevention is better than cure”

    3. Sir mere age 30 h mujhe kafi weakness feel hote h or mera weight v lose hua h maine sugar check kiya khali pet toh 130 aaya Kya mujhe dieabites h Kya mujhe Oct mai Ivf treatment Lena h..

      Reply
      • Dimple ji,
        130 sugar normal hai. par sugar ka sahi test ghar par nahi, lab me hi hota hai. shuruwati diabetes “electronic sugar testing machine” se detect nahi hoga.

        Thanks and Regards
        HBT Team

    4. Hello Mam,Your Article Is Very Good And Very Nice,Hum Aapke Bataye Mutabik Hi Apni Diet Follow Karte Hai.Mujhe Aapse 1 Question Aur Puchna Hai Mujhe Puchna Tha Ki Kya Hum Diabetes Mai Rice And Meet Bhi Nahi Khaa Sakte Hai ? Please Reply Me.
      Thank You So Much Mam Itna Acche Article Ke Liye….

      Reply
      • चावल और रेड मीट इन दोनों का GI score बहुत high होता है| हो सके तो इनको ना ही ले तो अच्छा रहेगा |फिर भी आप इन्हें खाना ही चाहते है तो इन तीन चीजो का ख्याल रखें आपकी शुगर कंट्रोल में होनी चाहिए| आपकी उम्र 35 से कम होनी चाहिए तथा आप ज्यादा शारीरिक मेहनत करने वाले होने चाहिए | तो हफ्ते में दो बार बहुत ही सिमित मात्रा में इनका सेवन कर सकते है |
        धन्यवाद !!
        हेल्थ ब्यूटी टिप्स

      • Thank You So Mam For Answer And Jaruri To Nahi Hai Khana Bas Aise Hi Pucha Ki Agar Kabhi Galti Se Khaa Le To Koi Problem To Nahi Hai Na Isliye.
        Mujhe Ek Question Aur Puchna Hai Aapse Mujhe Puchna Tha Ki Aapne Isme Gehun,Joo And Chane Ka Aata Bataya Hai Na Usme Kounse Chane Ka Aata Lena Hai Black Ya White.

      • Ruksar Abbasi ji,
        kale Chane Ka Aata hona chahiye, jo Missi Roti me bhi paryog hota hai. chhilka hone ki vajah se “high fiber” usi me hota hai.

        Regards
        Seema

      • Thank You So Much Mam For Your Answer.
        Aapka Article Bahut Accha Hai And Aapke Article Se Bahut Kuch Janane Ko Mila Hai Jisse Humari Bahut Help Ho Gayi Hai So Uske Liye Thanks Again Mam ???

      • I am sugar patient or 27 years old and its normal 130-140 after lunch but very hardly pain in center in cheats i am use same medicine but they are not working.
        than what i do.

    5. Hello Mam How Are You.
      Mujhe Janana Tha Ki Kya Diabetes Mai Sans Lene Mai Bhi Problem Hoti Hai Jese Sans Ka Theek Se Na Aana Naak Band Ho Jana Aisa Bhi Hota Hai Kya Ya Fir Ye Kisi Aur Cheez Ki Nishani Hai.

      Reply
      • अंशिखा जी,
        मधुमेह में आँखों को स्वस्थ रखने का कोई एक शोर्ट कट नुस्खा नहीं होता हैं | इसके लिए आपको विभिन्न स्तरों पर प्रयास करने पड़ेंगे जैसे – अपने रक्त शर्करा को नियंत्रित करें, साल में एक बार आँखों की जाँच जरुर करवाए, सही रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल का स्तर बनाए रखें, व्यायाम जरुर करें | आंख के रेटिना को स्वस्थ रखने के लिए ये विटामिन अपनी डाइट में जरुर शामिल करें |
        Omega-3 , Vitamin C ,A, E . सबसे जरुरी है ब्लड में शुगर का लेवल नार्मल बना कर रखें | उसके लिए हमने कई पोस्ट लिखे हैं जैसे की ये – http://healthbeautytips.co.in/sugar-control-kaise-kare-in-hindi/

      • Aruna Ji,
        Itna high sugar hai to Docter ne bhi aapko Diet ke liye Advice jarur kiya hoga. Vaise high sugar me kaun si diet nahi leni chahiye ye maine iss post me pahle hi bata diya hai. yahan bataye gaye food items sabhi diabetics ke liye thik hai. Fir bhi aap chahe to Apne Dr. ki Advice le sakti hai.
        Thanks

    6. सर हमारे फुफा को सुगर है। और बुखार तीन महीने से नहीं जा रहा है। सबसे बड़ी बात है कि उनको 24 घंटे हिचकी रहती है हिचकी से साँस लेने में दिक्कत हो रही है।प्लीज सर कोई इलाज बताइए।

      दयानंद जी चूंके वो शुगर के मरीज है इसलिए किसी चिकित्सक को दिखाएँ ! तीन बीमारियाँ एक साथ है कोई घरेलू उपाय करने का जोखिम ना उठाये | वैसे हिचकी में निम्बू पानी, टमाटर और शहद से लाभ होता है |

      Reply
      • मनोहर जी,
        आपने जो लक्षण बताये है वो एक मधुमेह के रोगी में Polyphagia के लक्षण भी हो सकते है | इसके लिए आप किसी चिकित्सक से जांच करवाए कि क्या भूख मधुमेह से सम्बंधित है या किसी अन्य बीमारी के लक्षण है ?
        वैसे आप को जब भी भूख लगे तो दिन में थोडा-थोडा करके खाइए लेकिन ये याद रखे की कम कैलोरी वाला भोजन ही लें जैसे फल,सब्जी का सूप,फलियां और दलिया आदि |
        धन्यवाद !!

    7. Mam ji home ek sal se suger h or mujhe khane k bad pairo k tlwe bahut jalan si Hoti h m kya kru ? Or need m kbhi kbhi Dr gbraht si Hoti h kya kru mam pls rply me.
      Ranjeet Singh.
      Jharkhand

      Reply
      • रणजीत जी,
        पैरो की जलन दूर करने के लिए जैतून और नारियल का तेल मिलाकर गर्म करें और फिर ठंडा होने पर तलवो की सोने से पहले मालिश करें |
        अपना बी.पी और शुगर जरुर चेक करें अगर सामान्य नहीं है तो डाक्टर से संपर्क करें | अच्छी नींद के लिए पढ़ें यह आर्टिकल- http://healthbeautytips.co.in/get-deep-good-sleep-hindi/
        धन्यवाद

    8. Mam meri age 21 year hai or muje type 1 diabetes hai jisse muje daily 4 time insulin lena padta h kya iska koi or tarika nahi h insulin k alawa jisse muje insulin na lena pade koi medicine ho ??

      Reply
      • नितिन जी,
        अनुवांशिक मधुमेह में इन्सुलिन लेनी ही पडती है | लेकिन आप इन्सुलिन की मात्रा को कम अवश्य कर सकते है यदि आप अपने खानपान और मधुमेह से जुडी सावधानियों का पालन करें तो | इसके विषय पर हमने कई आर्टिकल लिखे है उस जानकारी को आजमाए| इन्सुलिन को आप एक दवा ना समझे यह हम सबके शरीर में कुदरती तौर पर बनता है बस मधुमेही को बाहर से लेना पड़ता है ये ही फर्क है | ये दो आर्टिकल पढ़ें –
        http://healthbeautytips.co.in/diabetes-side-effects-complications-hindi/

        http://healthbeautytips.co.in/sugar-control-kaise-kare-in-hindi/

        धन्यवाद

    9. Mam meri mummy ko sugar hai Mughe unke khane peene ke liye yani kya khana chahiye aur kya nhi khana chahiye uske liye ek chart bhej dijiye ya bata dijiye plz

      Reply
      • लीना जी,
        425 mg/dl बहुत हाई लेवल सुगर है ये Hyperglycemia है | आप अपनी माताजी को डाक्टर की सलाह से ही भोजन दें | कुछ फलो और सब्जियों की जानकारी इस पोस्ट में भी दी गई है इसे पढ़ें – http://healthbeautytips.co.in/top-19-blood-sugar-lowering-foods/
        धन्यवाद

      • सुमैया जी ,
        आपका शुगर थोडा बढ़ा हुआ है | इसे कम करने के लिए डाक्टर द्वारा जो भी उपचार बताया गया है उसे फोलो करते हुए कुछ और सावधानियां बरते जो इस पोस्ट में बताई गई है – http://healthbeautytips.co.in/sugar-control-kaise-kare-in-hindi/

    10. Mujhe 8 Sal se sugar hai. Meri age 40 year hai. Mai insulin subah 24 aur sham ko 14 leta hun. Lekin Meri sugar jaldi jaldi up down hoti hai. Sthir rakhne ke lie Mujhe kya karna hoga.

      Reply
      • विमलेश जी,
        शुगर कम करने तथा इसको कंट्रोल करने के विषय पर हमने कई पोस्ट पब्लिश किये है | शुगर को स्थिर रखने के लिए आपको कई स्तरों पर प्रयास करने पड़ेंगे, सिर्फ दवा के सहारे आप इसको सही लेवल पर नहीं रख सकते है | सही आहार, व्यायाम, अनुशासित दिनचर्या तथा स्वस्थ जीवनशैली इसके मुख्य कारक है| अधिक जानकारी के लिए पढ़ें यह पोस्ट – http://healthbeautytips.co.in/sugar-control-kaise-kare-in-hindi/

    11. hello mam, mera fasting me sugar 197 hai aur mere dahina haath me kandhe ka dard hai haath pura nahi utha pata hun plz main kya karu ki haath thik ho jaye?

      Reply
      • नितिन जी,
        ये जरुरी नहीं है की एक मधुमेही को होने वाली अन्य सभी बीमारियाँ मधुमेह से ही जुडी हो | यदि आपको यह समस्या कई हफ्तों से हो तो किसी हड्डी रोग विशेषज्ञ आप अपनी जाँच करवा ले | अगर आप दर्द से राहत पाने के लिए कुछ नुस्खे अजमाना चाहते है तो इस पोस्ट में कुछ उपाय बताये गए है जो कमर दर्द या अन्य हड्डियों के दर्द को ठीक करने में कामयाब है | http://healthbeautytips.co.in/back-pain-kamar-dard-ka-karan-ilaj/

    12. Mam, thanks for this important & useful article, soo many peoples are suffering from this desease, and this article giving them a good guidance. thanks again, and God Bless you.

      Reply
      • श्रीमान,
        यदि अस्थाई मधुमेह नहीं है जैसे गर्भावस्था में मधुमेह अस्थाई होता है, जो प्रसव के बाद ठीक हो जाता है, तो इस बीमारी को जड़ से खत्म करने के विषय में कुछ नहीं कहा जा सकता है क्योंकि इसका कोई वैज्ञानिक आधार नही है केवल दावे मात्र है | लेकिन 140 शुगर लेवल बहुत शुरुवाती है इसको बहुत आसानी से काबू किया जा सकता है इतना काबू में की आप इसे अप्रत्‍यक्ष रूप से पूरी तरह ठीक होना समझ सकते है | लेकिन रक्त की नियमित जाँच तथा उचित भोजन का पालन जीवन भर आपको करना पड़ेगा | इस पोस्ट को पढ़ें http://healthbeautytips.co.in/sugar-control-kaise-kare-in-hindi/

    13. क्या शुगर मरीज को आलू, पूरी, प्याज़, चावल मना होता है?

      Reply
      • आसिफ जी,
        घी, तेल में डीप फ्राइड पकवानों का सेवन ना करें जैसे पूरी, या कचोरी | चावल में पुराने ब्राउन राइस खाना चाहिए तथा आलू का सेवन कम करे तथा प्याज आप खा सकते है |
        यदि आपकी शुगर कंट्रोल में है तो किसी समारोह या त्यौहार में कभी कभार थोडा बहुत पकवान आप खा सकते है लेकिन इनके साथ कच्ची सब्जियों का सलाद जरुर खाएं और एक चम्मच इसबगोल की भूसी खाने से पहले पानी के साथ ले |

    14. Excellent article on Diabetes. Recently detected sugar. Fasting 388 on 8/3/18. HbA1C was 10%. After 15 days fasting was 224 & post lunch 296. Also sugar passing through urine. I have lost 7 kg in 25 days. Is this normal in Diabetes? Can I continue smoking & wine in this stage ? Please guide me Mam.

      Reply
      • संजीव जी,
        सिर्फ 25 दिनों में इतना अधिक वजन कम होना नार्मल नहीं है | शराब और स्मोकिंग लेने की सलाह आपको कोई हेल्थ केयर प्रोफेशन नहीं देगा भले ही आप कितने ही स्वस्थ क्यों ना हो |

        धन्यवाद !!

    15. Mujhe 3 saal se diabetes hai, 1 year se fasting 100 ke andar hi rahta hai, or pp kabhi 150 ya 170 ,mein glador m1 khata hu, baki khane me parhej krta hu, kya mujhe jym join krna chahiye

      Reply
      • रमन जी आप जिम ज्वाइन कर सकते है परंतु अधिक वजन उठाने वाले व्यायाम ना करें तो अच्छा रहेगा | इस विषय और अधिक जानने के लिए यह आर्टिकल पढ़ें – http://bit.ly/2lkpp8B

    Leave a Comment