कोरोना वायरस के लक्षण तथा COVID-19 संक्रमण क्या है ?

कोरोना वायरस इंसानों तथा जानवरों में फ्लू के लक्षणों वाली बीमारी पैदा कर देता है | वैसे तो मनुष्यों में, कई तरह के कोरोना वायरस पहले से ही संक्रमण फैलाते आ रहे है जिनमे आम सर्दी, जुकाम से लेकर साँस लेने में कठिनाई जैसे लक्षण देखने को मिलते है MERS और SARS ऐसे कुछ वायरस से होने वाले रोग है हाल ही में खोजे गए नए कोरोना वायरस का नाम COVID-19 है। कोविड-19 एक नई बीमारी है, जो जो पहले मनुष्यों में नहीं देखी गई है, इसकी सबसे खास बात यह है की यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत तेजी से फैलता है, इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है।

क्या है COVID-19 ?

  • दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ ये COVID-19 कोरोना वायरस धीरे-धीरे दुनिया भर में फैला रहा है और लोगो को तेजी से संक्रमित कर रहा है ।

COVID-19 के लक्षण क्या है?

कोरोना वायरस के लक्षण तथा COVID-19 की जानकारी coronavirus ke lakshan kya hai COVID-19

  • इस बीमारी के लक्षण सामान्य सर्दी जुकाम या निमोनिया जैसे होते हैं। संक्रमित व्यक्ति के शरीर में पहुँचने के बाद कोरोना वायरस उसके फेफड़ों में संक्रमण करता है।
  • कोरोना वायरस के लक्षण दिखना शुरु होने में 5 दिनों से 14 दिनों तक का समय लग सकता है |
  • COVID-19 के सबसे आम लक्षण बुखार, जुकाम, बदन दर्द, थकान, बिना कफ वाली सूखी खांसी है |
  • कुछ रोगियों में गले में दर्द, नाक में दर्द, आँख आना, सिरदर्द, सूंघने की शक्ति में कमी, स्वाद का अनुभव नहीं होना हो सकता है |
  • छाती में भारीपन, नाक बहना, गले में खराश या दस्त लगना भी इस बीमारी के कुछ लक्षण हैं |
  • इसके सबसे गंभीर लक्षणों में शामिल है सांस लेने में कठिनाई, जल्दी-जल्दी सांस लेना, सीने में दर्द या दबाव तथा बोलने में या चलने-फिरने में कठिनाई होना | गंभीर लक्षण दिखाई देने पर बिना समय गवांए फ़ौरन स्पेशल कोरोना हॉस्पिटल में मरीज को दिखाएं |
  • शुरुवात में ये लक्ष्ण हल्के और धीरे-धीरे दिखाई देते हैं। कुछ लोग ऐसे होते है जो संक्रमित तो हो जाते हैं लेकिन उनमे किसी भी तरह के लक्षण दिखाई नहीं देते और ना ही वो मरीज अपने आपको अस्वस्थ महसूस करते है।
  • हालाँकि मौसमी सर्दी-जुकाम और फ्लू में भी अक्सर यही सब लक्षण होते है जो इस बीमारी पता लगाने में एक बड़ी समस्या बन जाती है
  • अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण महसूस होता है तो सतर्क हो जाएं और खुद की जांच कराएं।

कितना खतरनाक है कोरोना वायरस संक्रमण ?

  • कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजो में मरने वालों की संख्या को देखा जाए तो ये बेहद कम हैं। इन आँकड़ों के हिसाब से संक्रमण होने पर मृत्यु की दर केवल 1 से 5 फीसदी हो सकती है। यानि हर 100 मरीजो में से एक से पांच रोगीयो की म्रत्यु हो जाती है |
  • COVID-19 से संक्रमित ज्यादातर रोगियों (लगभग 80%) को किसी खास इलाज की जरुरत नहीं पड़ती वो खुद ही इस बीमारी से ठीक हो जाते है |
  • COVID-19 से संक्रमित हर 6 में से 1 व्यक्ति को अस्पताल में उपचार के लिए ले जाने की आवश्यकता पड़ती है खासतौर से उन मरीजो को जिन्हें साँस लेने में कठिनाई होती हो |
  • कोविड-19 वायरस, अलग-अलग लोगों को अलग-अलग तरह से प्रभावित करता है जैसे बड़ी उम्र के बुजुर्ग, या पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित जैसे मधुमेह, अस्थमा, उच्च रक्तचाप, तपेदिक, दिल के मरीजो में COVID-19 गंभीर लक्षण पैदा कर सकता है और ऐसे मरीजो को सांस लेने में समस्या आ सकती है इसलिए इन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करने की सबसे अधिक जरुरत होती है |
  • 56,000 संक्रमित रोगियों पर की गई एक रिसर्च के अनुसार विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह बताया है कि :
  • 6% लोग इस वायरस के कारण गंभीर रूप से बीमार हुए। इनमें फेफड़े फेल होना, सेप्टिक शॉक, ऑर्गन फेल होना और मौत का जोखिम था।
  • 14 % लोगों में संक्रमण के गंभीर लक्षण देखे गए। इनमें साँस लेने में दिक्कत और जल्दी-जल्दी साँस लेने जैसी समस्या हुई।
  • 80 % लोगों में संक्रमण के मामूली लक्षण देखे गए जैसे—बुखार और खाँसी। कइयों में इसके कारण निमोनिया भी देखा गया।
  • कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बुजुर्गो और पहले से ही साँस की बीमारी (अस्थमा) से पीड़ित लोगों, मधुमेह और हृदय रोग जैसी परेशानियों का सामना करने वालों के गंभीर रूप से बीमार होने की आशंका अधिक होती है।
  • कोरोना वायरस का इलाज इस बात पर आधारित होता है कि मरीज को साँस लेने में मदद की जाए और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाए ताकि व्यक्ति का शरीर खुद ही वायरस के प्रभाव को खत्म करके ठीक हो जाए ।

कई महीनो तक लॉकडाउन के बाद भी अब तक कोरोना की कोई दवा नहीं खोजी गई है | कई एक्सपर्ट के विचार अनुसार हमें कोरोना के साथ ही जीने की आदत डालनी होगी और पूरी सावधानी रखते हुए हम अवश्य ही कोरोना रोग से बचे रह सकते हैं और यदि ये बीमारी हो भी जाये तो भी कामयाबी से इसे हराकर इसको जीत सकते है । कोरोना से सजग, सतर्क और सावधानी से जुडी जानकारियों को हम आगे भी आपके साथ साझा करते रहेंगे | Read this article – जानिए कोरोना से बचाव के लिए सब्जियों और फलों कैसे धोएं ?

Reference:

अन्य संबंधित आर्टिकल

Leave a Reply