चक्कर आने का कारण तथा घरेलू उपचार -Vertigo

चक्कर आने की बीमारी में रोगी को ऐसा महसूस होता है जैसे उसके चारो ओर की चीजे गोलाई में घूम रही हैं। यूं तो चक्कर आना एक आम समस्या है, लेकिन इसे मामूली कारण समझ कर गंभीरता से न लेना ठीक नहीं है । यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है। चक्कर का पहली बार आना भविष्य में बार-बार होने वाले चक्करों के दौरों का प्रतीक समझना चाहिए। बार बार चक्कर आना एक गम्भीर रोग की शुरुवात भी हो सकती है |

चक्कर आने के क्या कारण है ? / चक्कर क्यों आते हैं ?

chakkar aana reason home remedies चक्कर आने का कारण तथा घरेलू उपचार के टिप्स

चक्कर आने का कारण

Vertigo: Causes, Symptoms.

  • चक्कर आने के प्रमुख कारणों में खून में शूगर के स्तर में गिरावट, एनीमिया (खून की कमी), रक्तचाप का कम या ज्यादा होना (हाई और लो बी.पी ) |
  • अत्यधिक मानसिक या शारीरिक परिश्रम से उत्पन्न थकान, मानसिक तनाव, भय, सिर में चोट, हार्ट ब्लाक, हृदय की धड़कन में असामान्यता, कान में वायरल संक्रमण, नजर की कमजोरी में चश्मा न लगाना |
  • चक्कर आने के अन्य कारणों में जैसे – मस्तिष्क में रक्त की कमी, नस का फटना, ब्रेन हेमरेज, ब्रेन ट्यूमर, खाद्य पदार्थों, दवाओं से एलर्जी, माइग्रेन, व्रत से शारीरिक दुर्बलता, शराब, ड्रग्स आदि नशीली चीजों का अधिक मात्रा में सेवन आदि होते हैं।
  • गर्भावस्था निम्न रक्तचाप (लो ब्लड प्रेशर) थाइरोइड रोग, मासिक धर्म की वजह से भी चक्कर आते है |
  • उल्टी, दस्त, या बुखार से पीड़ित हों क्योंकि इन बीमारियों के कारण आपके शरीर में द्रव्य और पानी की काफी कमी हो सकती है |
  • शरीर में नमक की मात्रा कम होने पर भी चक्कर आने लगते हैं |
  • कान के अंदर मोजूद एंडोलिम्फ बढ़ जाने से भी चक्कर आने, सीटी बजने तथा कम सुनाई देने लगता है।
  • गर्भवती महिला (Pregnancy) में खून की कमी होने और हारमोंस में हो रहे परिवर्तन की वजह से कमजोरी में चक्कर आना एक आम समस्या होती है |

चक्कर आने के लक्षण : Vertigo Symptoms

  • चक्कर आने के प्रमुख लक्षणों में सिर चकराना, शरीर झूलने की अनुभूति, आंखों के आगे धुंधलापन, अंधेरा छाना, चेहरा फीका व शरीर ठंडा होना |
  • सिर का चक्कर आने के अन्य लक्षणों में शरीरिक कमजोरी महसूस होना , चक्कर खाकर गिरना, शरीर में झुनझुनी या सुन्नता, जी मिचलाहट, उबकाई, उलटी आना, कानों में घूं-घूं की आवाज, बोलने में कठिनाई, देखने में कठिनाई आदि देखने को मिलते हैं।

चक्कर आने पर घरेलू उपचार

Home Remedies for the Treatment of Vertigo.

  • जैसा की ऊपर बताया जा चुका है चक्कर आने के वैसे तो कई कारण होते है लेकिन मुख्यत स्त्रियों में चक्कर आने के कारण खून की कमी, थाईराईड, बीपी लो होना होता है और पुरुषो में चक्कर आने का मुख्य कारण मानसिक तनाव, शरीर में अत्यधिक गर्मी, आँखों की कमजोरी आदि होता है जब तक चक्कर आने का सही कारण पता नहीं चलेगा तब तक उचित उपचार भी संभव नहीं हो सकता है परंतु फिर भी सामान्य समस्याओं जैसे गर्मी, कमजोरी, गैस आदि की वजह से आने वाले चक्कर के लिए हम कुछ घरेलू उपचार बता रहे है, उम्मीद है इनसे आपको लाभ जरुर होगा |
  • घी में 50 ग्राम मुनक्का हल्की आंच पर सेंककर स्वादानुसार सेंधा नमक मिलाकर दिन में तीन बार में खाएं। इससे भी भी चक्कर आने की बीमारी से राहत मिलती है |
  • एक चम्मच तुलसी के रस में 2 काली मिर्च पीस कर मिला लें। सुबह-शाम इसका सेवन करें।
  • अगर आपको गर्मी की वजह से चक्कर आते है तो, गुठली रहित सूखा आंवला (Amla) और सूखा दानेदार धनिया दोनों को छह ग्राम की मात्रा में पीसकर रात को एक गिलास पानी में भिगो कर रख दें , सुबह इनको मसल कर छान लें फिर इसमें एक-दो चम्मच मिश्री पाउडर मिलाकर पिये | तीन चार दिन में चक्कर आना बंद हो जायेगा | यह चक्कर आने बीमारी में दवा की तरह काम करता है |
  • छिले हुए भीगे बादाम में मिस्री मिलाकर इसकी चटनी बनाकर कच्चे दूध में मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से भी गर्मी के कारण आने वाले चक्कर ठीक हो जाते है | इस पोस्ट को जरुर पढ़ें इसमें कुछ और घरेलू उपाय बताये गए है – सिर चकराना का इलाज तथा चक्कर के लिए घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे
  • मालकांगनी तेल मलाई या मक्खन में मिलाकर खाने से दिमागी कमजोरी दूर होकर चक्कर आना ठीक हो जाता है |
  • तुलसी का रस, अदरक का रस और शहद मिलाकर पीने से चक्कर आने की बीमारी में लाभ मिलता हैं।
  • आंवला, गिलोय और जटामांसी 50-50 ग्राम की मात्रा में पीसकर किसी शीशी में रख लें और रोजाना तीन ग्राम (लगभग एक छोटा चम्मच ) पानी के साथ इसका सेवन करें |
  • चीनी और सूखा धनिया 2-2 चम्मच मिलाकर लें ।
  • एक कप गर्म पानी में लगभग 2 चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से भी लाभ होता है।
  • 2 लौंग को 1 कप पानी में उबालकर पीने से चक्कर आना बंद होते हैं।
  • छोटी इलायची के काढ़े को गुड़ में मिलाकर सुबह-शाम पीने से बार-बार चक्कर आना बंद हो जाता है।
  • सौंफ को पीसकर सिर पर लगाने से गर्मी के कारण आनेवाले चक्कर और सिर दर्द ठीक हो जाते हैं। गर्मियों में चंदन घिस कर सर पर इसका लेप करने से भी गर्मियों में सिर चकराना बंद होता है |
  • स्त्रियों को विशेषतौर से सर्दियों में गाजर और चुकंदर के रस का सेवन जरुर करना चाहिए इससे रक्त की कमी और कई विटामिन की कमी दूर होती है |
  • 10 ग्राम आंवला, 3 ग्राम काली मिर्च और 10 ग्राम बताशे को पीस लें। 15 दिनों तक रोजाना इसका सेवन करें। इसके अलावा थकान दूर करने और शरीर को नयी उर्जा से भरने के लिए अजमाए ये 5 एनर्जी ड्रिंक जो रखे आपको तरोताजा बढाये स्टेमिना |

चक्कर आने की बीमारी में क्या खाएं

Diet for Vertigo

  • कम मिर्च मसाले वाला, आसानी से पचने वाला भोजन समय पर सेवन करें।
  • कमजोरी से चक्कर आने में एक कप पानी या दूध में एक चम्मच ग्लूकोज घोलकर पिएं।
  • गर्मी के मौसम में चक्कर आएं या घबराहट हो, तो आंवले का शर्बत पिएं।
  • अगर गर्मी से चक्कर आते हों या गर्मी में जी मिचलाता हो तो आंवले का शर्बत पीना चाहिए।
  • बहुत अधिक और चटपटा तेल घी वाला भोजन न करें।
  • एलोपैथिक दवाएं अपनी मर्जी से न खाएं। खासकर पेन किलर दवा |
  • हर दिन 6-8 गिलास पानी पियें और शरीर में पानी की कमी ना होने दें |
  • नाश्ते में ताज़ा फलों का जूस अवश्य पीना चाहिए।

चक्कर आने पर क्या करे

What to Do During Vertigo Attack

  • बार-बार चक्कर आते हों, तो अकेले बाहर न घूमें। ऊंची-नीची जगहों, अंधेरे, फिसलन भरी राहों में न चलें।
  • चक्कर आने पर तुरंत सावधानी बरतते हुए बैठ जाएं। सुविधा होने पर बिस्तर पर लेट जाएं। आंखें बंद कर लें।
  • सोने की कोशिश करें। नींद पर्याप्त मात्रा में लें।
  • नियमित रूप से व्यायाम या योगासन करें और सुबह की सैर करें। पढ़ें यह पोस्ट – जॉगिंग करें फिट रहें
  • मधुमेह को नियंत्रण में रखें। एनीमिया का इलाज कराएं। पढ़ें यह पोस्ट जाने डायबिटीज़ के 10 शुरुआती लक्षण
  • सिर पर बादाम के तेल की मालिश करें।
  • आखों की कमजोरी में उचित नंबर का चश्मा लगाएं।  आंखों की आम समस्याओं के लिए कुछ आसान उपाय
  • आंखों, गर्दन और सिर की कसरतें Physiotherapist से सीखकर रोज करें।
  • चक्कर आने पर धीरे-धीरे, गहरी साँस लेने की कोशिश करें |
  • चाय, बीड़ी-सिगरेट का सेवन न करें। जानिए चाय पीने के फायदे और नुकसान
  • साइकिल, स्कूटर, कार न चलाएं।
  • बालकनी या किसी ऊंचे स्थान से नीचे न झांकें।
  • चक्कर आने का एहसास हो रहा हो तो तेज चमक वाली रौशनी, या टेलीविज़न और लैपटॉप से आने वाली रौशनी से दूर रहें |
  • धीरे-धीरे चले-फिरें: अगर आपको चक्कर आते रहते हैं तो अचानक से कोई शारीरिक गतिविधि क्योंकि इससे आपका Blood Pressure बढ़ सकता है |
  • कठिन मानसिक व शारीरिक परिश्रम न करें। मानसिक तनाव से मुक्ति पाने के उपाय
  • आग व जलाशय (नदी, नाले, तालाब ) से दूर रहें।
  • तैरना छोड़ दें।
  • और अंत में अगर आपको बार-बार चक्कर आने की बीमारी हो तो स्वयं चिकित्सा न करें Doctor से सलाह लेने में देर न करें। क्योंकि इस समस्या में दुर्घटना वश कोई बड़ा हादसा भी हो सकता है जैसे रोगी को वाहन चलाने के दौरान चक्कर आना |

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

13 Comments

  1. Diwakar Dev
  2. Yogita rathore
  3. saiqa
  4. shahid
  5. Kiran
  6. krishan
  7. Pradeep

Leave a Reply