Category: Pregnancy

6 से 9 महीनो की गर्भवती का आहार चार्ट – तीसरी तिमाही डाइट चार्ट

6 से 9 महीनो की गर्भवती का आहार चार्ट – तीसरी तिमाही यानि (6 -9 महीनो के दौरान आपको भरपूर ऊर्जा चाहिए। इस डाइट चार्ट में हमने ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल किया है जो आपको भरपूर ऊर्जा देंगे। यह गर्भवती का आहार चार्ट विटामिन K …

सिजेरियन ऑपरेशन से जुडी समस्याएं तथा उनके समाधान

आजकल की भागदौड़ भरी जीवनशैली में न ही व्यायाम के लिए किसी के पास समय है और न ही सही खानपान के लिए यही कारण है कि ज्यादातर महिलाएं सामान्य और सेहतमंद तरीके से बच्चे को जन्म देने में असमर्थ रहती हैं, आधुनिकता के नाम पर …

जानिए सिजेरियन डिलीवरी आपरेशन क्या है तथा इसके कारण, साइड इफ़ेक्ट

सिजेरियन आपरेशन या सिजेरियन डिलीवरी से सभी गर्भवती महिलाएं जरुर बखूबी वाकिफ होंगी | सिजेरियन डिलीवरी एक आपरेशन होता है जिसमे नार्मल डिलीवरी (डिलीवरी) की बजाए पेट में चीरा लगा कर शिशु को बाहर निकाला जाता है | सिजेरियन सेक्शन का मतलब है पेट को खोल …

जानिए क्या होते हैं प्रसव पीडा के लक्षण : Signs and Symptoms of Labor

गर्भावस्था का लंबा सफर तय करने के बाद एक दिन वह घड़ी आ ही जाती है जिसमे स्त्री को थोड़ी खुशी और थोड़ी चिंता की एक मिलीजुली एक नई अनुभूति का अहसास होता है इस अनुभूति के साथ ही प्रत्येक गर्भवती स्त्री को इस दिन का …

गर्भावस्था के लक्षण : जानिए प्रेगनेंसी के पहले सप्ताह में शुरुआती लक्षण क्या होते है ?

गर्भावस्था के लक्षण क्या है ? इस सवाल को लेकर अकसर नवयुवतियों तथा पहली बार गर्भधारण करने वाली स्त्रियों में बहुत उलझन रहती है क्योंकि प्रेगनेंसी के लक्षण और आम बिमारियों में होने वाले लक्षणों में काफी कुछ समानता होती है इसलिए इस आर्टिकल में हमने …

महिलाओं में हाई रिस्क प्रेगनेंसी : थाइराइड और खून की कमी (एनीमिया) क्या है ?

महिलाओं में हाई रिस्क प्रेगनेंसी के इस आर्टिकल में हम आज जानेंगे की गर्भवती स्त्रियों के एनीमिया और थाइराइड कैसे उनके स्वास्थ्य को प्रभावित करता है, इनका उपचार क्या होता है आपको क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिए | तो आइये सबसे पहले थाइराइड के बारे में जानते …

जानें हाई रिस्क प्रेगनेंसी किसे कहते है तथा इसके मुख्य कारण क्या है ?

हाई रिस्क प्रेगनेंसी डेफिनिशन : उच्च जोखिम गर्भावस्था क्या है?   उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था उसे कहते है जिसमें माँ या शिशु या दोनों में सामान्य गर्भावस्था की तुलना में अधिक जटिलता (कॉम्प्लीकेशन्स) विकसित होने की सम्भावना होती है। इसका मतलब यह की हाई रिस्क प्रेगनेंसी …

सवाल : बेरियाट्रिक सर्जरी के कितने सालो बाद प्रेगनेंसी प्लान करनी चाहिए

बेरियाट्रिक सर्जरी क्या है ? – कई बार मोटापे की समस्या इतनी ज्यादा बेकाबू हो जाती है की सर्जरी के अतिरिक्त कोई अन्य दूसरा विकल्प नहीं बचता है ऐसे में, मोटापे को कम करने का मॉडर्न साइंस ने एक नया तरीका खोज निकाला है। लिमिट से …

जानिए गर्भवती महिला के लिए संतुलित भोजन कैसा होना चाहिए

गर्भावस्था में गर्भस्थ शिशु के शरीर निर्माण के लिए ज्यादा पौष्टिक तत्वों की आवश्यकता होती है। गर्भवती महिला को संतुलित पौष्टिक आहार की जरूरत होती है। उनके आहार में प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स शामिल होना चाहिए। गर्भावस्था के अंतिम तीन महीनों में आयरन, फोलिक एसिड की …

प्रेगनेंसी में क्या खाएं क्या ना खाएं

प्रेगनेंसी में सेहतमंद रहने के लिए उचित आहार लेना बेहद जरूरी होता है। एक गर्भवती महिला को एक दिन में 200 से 300 तक एडिशनल कैलोरी लेनी चाहिए | माँ के आहार का संतुलित और पौष्टिक होना पल रहे बच्चे के लिए बहुत जरूरी है | …

गर्भकालीन मधुमेह: कारण लक्षण बचाव और सावधानियां

गर्भकालीन मधुमेह, जैस्टेशनल डायबिटीज गर्भावस्था के दौरान विकसित होता है। आमतौर पर गर्भावस्था समाप्त होने पर यह अपने आप ही ठीक हो जाता है | जिन महिलाओं में प्रेगनेंसी के दौरान डाइबिटीज़ रोग होता है उनके  अपने जीवन में आगे 5 से 10 वर्षों में मधुमेह …

गर्भावस्था की पहली तिमाही में देखभाल

गर्भावस्था में पहले तीन महीनो को गर्भावस्था की पहली तिमाही कहा जाता है यद्यपि कई महिलाओं को पहली तिमाही में कोई समस्या नहीं होती परंतु कुछ अन्य महिलाओं के लिए पूरा गर्भकाल परेशानियों से भरा हो सकता है। जी-मिचलाने और थकान की दुनिया में आपका स्वागत …

गर्भावस्था में त्वचा और बालों की देखभाल के लिए टिप्स

गर्भावस्था में अधिकांश महिलाओं की त्वचा पहले से अधिक चिकनी, चमकदार और साफ हो जाती है, पर कुछ महिलाओं को गर्भधारण के फ़ौरन बाद ही त्वचा की कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। उनकी त्वचा तैलीय या रूखी हो जाती है। ऐसी हालत में त्वचा की …