Heart (हृदय ) Archive

हार्ट अटैक के लक्षण, कारण, बचाव और फर्स्ट एड

आज के भौतिकतावादी युग में हार्ट अटैक (दिल का दौरा) पड़ने की घटनाएँ अत्यंत सामान्य हैं। इसके बावजूद हममें से ज्यादातर लोग यह नहीं जानते कि जब खुद को या अपने किसी प्रियजन को अचानक हार्ट अटैक पड़े तो क्या किया जाए, हार्ट अटैक के लक्षण क्या है ? देखा यह गया है कि जब

दिल के रोगी क्या न खाएं, परहेज

दिल के रोगी, हाई ब्लड प्रेशर,मोटापे और बढ़े कोलेस्ट्रॉल से जूझ रहे लोगो के खानपान में ये चीजे बिलकुल शामिल नहीं होनी चाहिए : चीनी, आइस क्रीम, डीप फ्राई लिया हुआ खाना, ज्यादा नमक, चिप्स, घी तेल वाले स्नैक्स, पेस्ट्री, बेकिंग उत्पाद, सॉस, पनीर, मीट, हॉट डॉग्स, हैम्बर्गर, फैट और शुगर से बने कुकीज, सिगरेट,

जाने क्या है बाईपास सर्जरी-Open Heart & Bypass Surgery

Bypass Surgery – ह्रदय रोग आजकल दुनियाभर में बहुत तेजी से फ़ैल रहे है | दिल की बीमारी प्रमुख कारण और बचाव के उपाय हमने आपको अपने पुराने पोस्टो के जरिये बता दिए थे | इस लेख में हम एक और कदम आगे बढ़ाते हुए ह्रदय रोगों को ठीक करने के लिए आधुनिक चिकित्सा प्रणाली

हृदय रोग में भोजन : कौन-कौन से फल और सब्जियां खाएं

हृदय रोग में भोजन का सही चुनाव इस रोग को रोकने में काफी महत्त्वपूर्ण होता है | हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना और हृदय रोग एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं, इसलिए यहां हम इन तीनों समस्याओं को कम करने वाले भोज्य पदार्थों की चर्चा करेंगे। मोटापा और डायबिटीज की समस्या भी इन्हीं रोगों से

लो ब्लड प्रेशर का घरेलू आयुर्वेदिक उपचार : Cure Low BP

आजकल हर किसी को ब्लड प्रेशर की समस्या होती है। किसी को लो ब्लड प्रेशर तो किसी को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है। ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम आज के समय में एक सामान्य सी बात हो गई है। हालाँकि यह बीमारी सामान्य नहीं है | देखा जाए तो हर दूसरे इंसान को ब्लड

हाई ब्लड प्रेशर कम करने वाले 13 फल-सब्जियां

हाई ब्लड प्रेशर कम करने वाले फल, सब्जियां और हर्ब्स – उच्च रकतचाप (High Blood Pressure) को साइलेंट किलर या खामोश मौत का नाम दिया जाता है। यह दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखने या बिगाड़ने का सबसे बड़ा कारण है। दिल धड़कने के दौरान रक्त के दबाव को सिस्टोलिक रक्तचाप कहा जाता है और

हाई ब्लड प्रेशर कम करने के उपाय- हाई बीपी के कारण लक्षण

हाई ब्लड प्रेशर – ह्रदय  के निचले भाग के प्रकोष्ठ में संकुचन (Systole) होकर हृदय की मांसपेशियों के फैलने और सिकुड़ने के समय जो कम-ज्यादा दबाव बनता है, उसे डायस्टोलिक प्रेशर कहते हैं। सामान्य तौर पर इन दोनों के संतुलित दबाव को ही ब्लडप्रेशर के नाम से जाना जाता है। ब्लड प्रेशर कितना होना चाहिए

दिल की बीमारी से बचाव के उपाय-Heart Disease Prevention

दिल की बीमारी या हृदय के रोग गत सौ वर्ष पूर्व घातक रोगों की सूची में छठे क्रम पर था, लेकिन अब यह एक नंबर पर आ गया है। इसकी वजह यह है कि आजकल की मशीनी रफ्तार वाली जिंदगी में बढ़ रहे मानसिक तनाव, दूषित वातावरण तथा चका चौंध भरे कृत्रिम जीवन में गलत

ह्रदय रोग में लौकी के बेहतरीन फायदे

ह्रदय रोग में लौकी के लाभों को लेकर तरह-तरह के विचार है पर इसमें कोई शक नहीं है की लौकी में काफी मात्रा में ऐसे तत्व मौजूद होते है जो न सिर्फ ह्रदय के लिए बल्कि पूरा स्वास्थ्य पर लाभकारी प्रभाव डालते है | राष्ट्रीय शाकाहार शोध संस्थान और पतंजली आयुर्वेद द्वारा किए गये रिसर्च

हृदय रोग के कारण,लक्षण और बचाव की जानकारी

हृदय रोग  – हृदय शूल (Angina pectoris) और दिल का दौरा (Heart Attack) जैसे दिल के रोगों का फैलाव बड़ी तेजी के साथ हो रहा है खास तौर से भारत जैसे विकासशील देशो में यह बीमारी हर साल लाखो लोगो की जान ले लेती है क्योंकि ज्यादतर विकासशील देशो में या तो उन्नत मेडिकल सुविधाए