बीमारियाँ Archive

पीलिया कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

पीलिया गंभीर संक्रामक रोग है, जिसमें प्रमुख रूप से लीवर प्रभावित होता है। जो प्राय: गर्मियों और मानसून के सीजन में अधिक होता है। यह त्वचा, झिल्ली, जीभ, आँखों और मूत्र में पित्त से पीले पड़ने से होती है। पीलिया खून में बिलिरूबिन (Bilirubin) की मात्रा सामान्य से अधिक बढ़ जाने के कारण होता है।

हेपेटाइटिस बी के कारण, लक्षण और बचाव

हेपेटाइटिस बी (यकृत शोथ ) एक गंभीर बीमारी है जो विषाणु के संक्रमण से होती है। विषाणु से फैलने वाली बीमारी होने के कारण इस रोग का कोई विशेष इलाज नहीं है और रोग कई गंभीर साइड इफ़ेक्ट और अन्य बीमारियाँ भी पैदा करता है, हेपेटाइटिस बी का विषाणु लिवर को संक्रमित करता है इसलिए

एचआईवी एड्स के लक्षण और 4 मुख्य स्टेज

जैसा की हमने पिछले पोस्ट में बताया था की एड्स का वायरस अपने आप कोई रोग पैदा नहीं करता है वो केवल रोगी के शरीर को इतना कमजोर कर देता है की उसकी रोग प्रतिरोधक ताकत खत्म हो जाती है और अंत में मरीज किसी भी अन्य बीमारी से मारा जाता है | इसलिए देखा

जानिए एच.आई.वी एड्स कैसे होता है, कारण

एड्स की जानकारी :- एड्स दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारी बन चुकी है। शहर और यहाँ तक कि गाँव भी रोग से अछूते नहीं बचे हैं। दुनिया में रोजाना लगभग 16 हजार व्यक्ति एड्स संक्रमण के शिकार बन रहे हैं। आज दुनिया में साढ़े चार करोड़ से अधिक और भारत में पच्चीस लाख के ऊपर

हैजा कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

हैजा (Cholera) आंतों में होने वाला इंफेक्शन, जिसे गंभीरता से ना लिया जाए तो जानलेवा भी हो सकता है। यह एक एक संक्रामक रोग है जो अकसर दूषित खाने और पीने से होता है | पीने के पानी के पाईप गंदी नालियों में होकर जाने से गंदगी पानी के साथ प्रवेश कर जाती है। अब

टाइफाइड के लक्षण, कारण और बचाव के उपाय

टाइफाइड अथवा मोतीझरा क्या है – वैसे तो इस बुखार से प्राय: सभी लोग परिचित रहते हैं। यह एक लंबे समय तक परेशान करने वाला ऐसा बुखार है, जो व्यक्ति को कमजोर और चिड़चिड़ा बना देता है। यह रोग एस. टायफी या पेराटायफी नामक रोगाणुओं द्वारा फैलता है। यह मलमूत्र द्वारा दूषित भोजन या पानी

काली खांसी इलाज के 15 घरेलू उपाय – कुकुर खांसी

काली खांसी को (कूकर खांसी, कुक्कुर खांसी, कुकुर खांसी) (Whooping cough) भी कहा जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है ज्यादातर 5 से 15 वर्ष आयु तक के बच्चों को होती है। | काली खांसी के लक्षण : काली खांसी होने पर रोगी जोर-जोर खांसते हुए कई बार उल्टियाँ भी करने लगता है | काली

जानिए दिमागी बुखार के लक्षण व बचाव की जानकारी

जापानी दिमागी बुखार  (Japanese Encephalitis) – यह एक मच्छर द्वारा उत्पन्न खतरनाक रोग है, जो क्यूलैक्स ट्राइिरनोटिक्स नामक मच्छर द्वारा फैलाया जाता है और रोग का कारण होता है बी-अर्बोवाइरस, फ्लेविवायरस। वास्तव में यह जानवरों और पक्षियों को होने वाली बीमारी है, जो कभी-कभी मनुष्यों में भी फैल जाती है। इससे विश्व में लगभग 45