Category: Herbs

राई के फायदे तथा 25 बेहतरीन औषधीय गुण : राई मसाला

राई के कई फायदे होते है यह एक गुणकारी मसाला है। इसमें भी काफी औषधीय गुण मौजूद होते हैं। इसका लगभग सभी तरह के आचारो को बनाने में प्रयोग किया जाता है यह रसोई की शान तो है ही, साथ ही अनेक रोगों को भी भगाती …

महुआ के फूल के फायदे तथा बेहतरीन औषधीय गुण

महुआ के फूल की बहार मार्च-अप्रैल में आती है और मई-जून में इसमे फल आते हैं। इसके पेड़ के पत्ते, छाल, फूल, बीज की गिरी सभी औषधीय रूप में उपयोग की जाती है। इसके पत्ते हथेली के आकार और बादाम के जैसे मोटे होते हैं। महुआ …

करी पत्ते के फायदे तथा 15 बेहतरीन औषधीय गुण

करी का पेड़ साल भर हर भरा रहता है। यह नीचे झुका हुआ संतरे की नस्ल का पेड़ है। इसकी पत्तियों को को ही करी पत्ते के नाम से जाना जाता है, जिसमें “किओनिजिन’ नाम का ग्लूकोसाइड रहता है। यह थोड़ा कड़वा और सुगंधित होता है …

जानिए अलसी के 41 घरेलू नुस्खे जो कई रोगों का करे उपचार

अलसी के चिकित्सीय उपयोग हमारी कई संहिताओं जैसे-चरक संहिता, सुश्रुत संहिता, अष्टांग संग्रह में बताए गए है। आयुर्वेद के साथ-साथ अन्य चिकित्सा पद्धतियों जैसे यूनानी चिकित्सा एवं प्राकृतिक चिकित्सा में भी अलसी का जिक्र मिलता है तथा इसके चिकित्सीय गुणों एवं महत्वों का बहुत विस्तार से …

अलसी के बेहतरीन औषधीय गुण तथा फायदे – Health Benefits of Flaxseeds

अलसी (flax seed) कई रोगों की रामबाण दवा है, अलसी के नियमित सेवन से कई प्रकार के रोगों से बचा जा सकता है। इसलिए इसे जीने की राह अथवा लाइफ लाइन तक कहा गया है। यह हमें अनेक रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करती है। …

केसर का औषधीय उपयोग, फायदे तथा केसर की पहचान के तरीके

केसर का अंग्रेजी नाम (Saffron) है | केसर के पौधे का वानस्पतिक नाम क्रोकस सैटाइवस है इसके अन्य नाम है कुंकुम, जाफरान। इसकी प्रकृति खुश्क और गर्म होती है इसलिए सर्दी के मौसम में रोजाना इसका सेवन करना चाहिए । केसर अपनी सुगंध और स्वाद के …

हींग का उपयोग तथा हींग के औषधीय गुणों के फायदे

हींग (Asafoetida) कोई फल या फूल नहीं होता है,यह तो पेड़ के तने से निकली हुई एक गोंद होती है। इसका पेड़ 5 से 9 फीट ऊंचा होता है। इसके पत्ते 1 से 2 फीट लम्बे होते हैं। हींग का प्रयोग भोजन को स्वादिष्ट व सुगंधित …

अजमोद (पार्सले) के फायदे तथा इसके बेहतरीन औषधीय गुणों का उपयोग

अजमोद (Celery Seeds) या पार्सले को संस्कृत में ‘अजमोदा’, ‘बस्तमोदा’, ‘ब्रह्मकुशा’ आदि नामों से भी जाना जाता है। यह पंजाब और बंगाल में विशेषरूप से बोई जाती है। इसके पौधे छोटे-छोटे अजवायन के पौधों की तरह होते हैं ये 1 फीट से 3 फीट तक ऊंचे …

जटामांसी हर्ब के फायदे तथा 24 बेहतरीन औषधीय गुण जो कई रोगों को करे दूर

आयुर्वेद में जटामांसी का प्रयोग अनेक बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है खासतौर पर बालों से जुडी समस्याओं के निवारण के लिए | यह औषधि दिमाग तेज करने में रामबाण उपाय है यह याद रखने की क्षमता बढ़ती है साथ ही यह तनाव, …

गेहूं के जवारे का रस के फायदे : व्हीट ग्रास जूस के औषधीय गुण

गेहूं के जवारे का रस पौष्टिक, विशेष रूप से रक्त तथा शुक्र धातु को बढ़ानेवाले, वायुनाशक, बलकारक, पित्त को शांत करने वाला, शरीर का रंग निखारने वाला और जीवनीय गुणों से भरपूर होता हैं | यह  विटामिन्स और मिनरल्स का सबसे बढ़िया स्रोत हैं। जवारे का …

गेहूं के जवारे का रस बनाने की विधि तथा घर पर व्हीटग्रास उगाने के तरीके

हरा रक्त यानि ( गेंहू के जवारे अंग्रेजी में इसे Wheat grass कहते हैं ) लम्बे तथा स्वस्थ जीवन के लिए  प्रकृति का दिया हुआ एक अमृत है, जो सभी के लिये लाभकारी है। गेंहू के जवारे का सेवन सभी व्यक्तियों के लिये बहुत उपयोगी है। …

जीरा के औषधीय गुण, फायदे तथा जीरे की तासीर – Cumin Seeds Benefits

जीरा रसोई में दैनिक उपयोग में आने वाला एक बहुत पोपुलर और सुगंधित मसाला है। आयुर्वेदिक औषधि विज्ञान में भी जीरे को महत्त्वपूर्ण स्थान प्राप्त है अपने देश में यह सब जगह पैदा होता है। इसके पौधे एक-डेढ़ फीट तक ऊंचे होते हैं जो अत्यंत मनमोहक …

दूब घास के फायदे तथा औषधीय गुण जो कई रोगों को करे दूर

दूब घास या (दुर्वा घास) घरों के बाहर लॉन में, मैदानों में और मिट्टी में एक घास की तरह जमीन पर फ़ैल जाती है। दूब घास अपने-आप पैदा हो जाती है दूब के रस को हरा रक्त भी कहा जाता है, क्‍योंकि इसे पीने से एनीमिया …