बालों की देखभाल के हर्बल घरेलू नुस्खे -Hair Care Tips

चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने में बालों की भूमिका काफी अहम है, तभी तो कुदरत ने इन्हें काफी सोच समझ कर हमारे सिर पर सजाया है। बालों को सिर का मुकुट कहा जा सकता है, इसलिए इसकी चमक को बनाये रखने के लिए इनका ख्याल रखना बहुत जरुरी है |

बालों से संबंधित परेशानियां आमतौर पर प्रदूषण, मौसम में बदलाव और उसके अनुरूप देखभाल न होने से, सूर्य की किरणों के प्रभाव से असंतुलित आहार, समय पर मालिश व उचित उपचार न लेने से और बालों की देखभाल में की गई लापरवाही के कारण से होती हैं। वैसे तो ऑयलिंग, शैंपू व कंडीशनिंग— ये तीन मंत्र हैं, जिनका सही से प्रयोग किया जाए तो आपके बाल रेशमी और स्वस्थ रहेंगे।

शैंपू से बालों की केवल सफाई होती है। उससे न तो बालों को पोषण मिलता है और न ही वे लंबे होते हैं। बालों को ज्यादा ‘स्ट्रांग’ या केमिकल युक्त शैंपू से धोने से, उचित पोषण न मिलने से दो मुंहे और रूखे हो जाते हैं। इसके लिए आप हफ्ते में दो बार आंवला या भृंगराज तेल की मालिश करें। हर बार बाल धोने के बाद ‘कंडीशनर’ जरूर लगाएं। अपने बाल कोमल ‘माइल्ड’ हर्बल शैंपू से ही धोएं। दो मुंहे बाल किसी ब्यूटी पार्लर में जाकर निकलवा दें और उसे नीचे से कटा भी दें। दो मुंहे और रूखे बालों का कारण कुपोषण भी होता है। आप खाने में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, विटामिन व मिनरल लें।

जैसे त्वचा कई प्रकार की होती है ठीक उसी प्रकार बालों की भी अलग-अलग बनावट और प्रकार होते है। जिस प्रकार त्वचा को जानकर हम उसके हिसाब से ही उसकी देखभाल करते हैं, ठीक इसी प्रकार बालों की देखभाल का तभी कोई फायदा है, जब उसके संरचना को ध्यान में रखकर की जाए। आपके बाल किस प्रकार के हैं, ये हैं कुछ तरीके बालों की प्रकृति को पहचानने के और उसके अनुरूप ही उनकी सुचारू रूप से कदम उठायें |

बालों की देखभाल करने के टिप्स और घरेलू नुस्खे

Balo ki dekhbhal ke herbal tips बालों की देखभाल के घरेलू हर्बल नुस्खे – रूखे, तैलीय और सामान्य बाल

स्वस्थ बाल हर्बल उपायों से

सामान्य बाल

अगर बाल धोने के बाद गर्मियों में दो दिन और सर्दियों में तीन दिन बाद दोबारा बाल धोने की जरूरत महसूस हो, तो आपके बाल सामान्य हैं। Hairs

सामान्य बालों की देखभाल के लिए टिप्स

  • जरूरत और समय के अनुसार बालों को धोते रहें। हफ्ते में एक बार रात को तिल के तेल और बादाम के तेल को मिलाकर बालों की मालिश कीजिए। सुबह उठकर बाल शैंपू से धो लीजिए। Hairs को बहुत ज्यादा कसकर बांधकर न सोएं। इसके साथ ही बाल धोने के लिए गुनगुने पानी का प्रयोग करें।

तैलीय बाल

अगर बाल धोने के बाद गर्मियों में अगले दिन ही और सर्दियों में दो दिनों में ही आपको चिपचिपे लगें और उन्हें धोने की जरूरत महसूस हो, तो समझ जाइए कि आपके बाल तैलीय हैं।

तैलीय बालों की देखभाल के लिए कुछ बेहतरीन नुस्खे

  • बाल फूले-फूले व खिले हुए रहें, इसके लिए नींबू का प्रयोग कंडीशनर की तरह करें। एक मग पानी में आधा नींबू डालें। इस पानी को सिर धोते समय आखिर में डालें। यदि बाल अत्यधिक तैलीय होने के कारण आपके सिर में रूसी हो गई है, तो आप इसे आज़मा सकती हैं। एक चम्मच त्रिफला लेकर उसे आधा कप पानी में डालकर कुछ देर तक उबालें। जब यह उबल जाए, तब इसे ठंडा करके छान लें। इसमें 1 चम्मच सिरका मिलाएं और इसे लगाकर सिर की मालिश करें। सुबह किसी अच्छे शैंपू से बाल धो लें। इस पैक से सिर का तेल कम होगा, जिससे रूसी भी नियंत्रित होगी।
  • दो मुट्ठी पुदीने को आधे गिलास पानी में 20 मिनट तक उबाल लें, फिर उस पानी को छान कर फ्रिज में रख लें। जब भी बाल धोएं, तब बाल धोते वक्त इसे शैंपू के साथ मिला लें, उसके बाद बाल धोएं।
  • Oily Hairs के लिए शैंपू कंडीशनर रहित होना चाहिए। तैलीय या सामान्य बालों में अतिरिक्त चमक के लिए एक मग पानी में एक नींबू निचोड़ लें या उसमें एक चम्मच सिरका डालें। सिर धोने के बाद इस पानी से बालों को धो लें। बालों में चमक आ जाएगी।
  • बालों में तेल कम-से-कम लगाएं। तेल से सिर की मालिश जरूर करें, मगर किसी अच्छे हेयर आयल से। मालिश से रक्त संचार बेहतर हो जाता है।
  • आपने जो खाना खाया है, उसका फायदा बालों को जरुर मिलता है इसलिए खाने पीने का ध्यान रखना भी बहुत जरुरी है ।
  • Oily Hairs को ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। तैलीय बालों के लिए बने शैंपू से बालों को धोएं या फिर आंवले, रीठे और शिकाकाई से बालों को धोएं।
  • खाने में तली हुई चीजों और मसालों का इस्तेमाल कम करें। दिन में 10-12 गिलास पानी जरूर पिएं।
  • Oily Hairs के लिए बेहतर नुस्खा यह है कि आप दो मुट्ठी पुदीना लें, इसे आधा गिलास पानी में डालकर 20 मिनट तक अच्छी तरह उबालें, फिर छानकर रख लें, जब भी बाल धोएं, इसे शैंपू के साथ मिलाकर प्रयोग करें।

रूखे बाल –

बालों को शैंपू और कंडीशनर करने के बावजूद भी यदि बाल रूखे, सूखे और सख्त दिखाई देते हैं, तो समझे की आपके बाल शुष्क हैं। शुष्क बालों में शैंपू के बाद एक्स्ट्रा कंडीशनर लगाना बहुत जरूरी है। अगर बाल शुष्क हैं, तो क्रीमी कंडीशनर इस्तेमाल करने के बाद वे चिपचिपे नहीं, बल्कि चमकदार हो जाते हैं। अगर आपके बाल सामान्य हैं, तो सिर्फ कंडीशनर युक्त शैंपू ही काफी है।

रूखे बालों को कोमल व मुलायम बनाने के लिए नुस्खे-

  • बाल धोने से पहले ऑलिव ऑयल और कैस्टर ऑयल को मिलाकर सिर की मालिश कीजिए। घरेलू कंडीशनर के तौर पर अंडे में नींबू की कुछ बूंदें और जैतून के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर बालों में लेप की तरह आधा घंटा लगाकर रखें।
  • इसके बाद किसी कंडीशनर युक्त शैंपू से सिर धोएं ताकि अंडे की गंध चली जाए।
  • तौलिये से बालों को झटकना नहीं चाहिए; इससे बाल कमजोर हो जाते हैं। बालों में बार-बार कंघी करने में कोई बुराई नहीं है, इससे रक्त संचार अच्छा हो जाता है। याद रखें सिर की त्वचा पर कंधी के दांत जरुर टच होने चाहिए |

सूखे, सख्त और टेढ़े-मेढ़े  बालों के लिए उपाय

  • सप्ताह में तीन बार नारियल या जैतून का तेल लगाएं और फिर आंवले, शिकाकाई युक्त शैंपू से सिर धोएं। सिर धोने के बाद आप बालों में कंडीशनर लगाएं। इससे बाल मुलायम व सीधे हो जाएंगे और अड़ेंगे भी नहीं। आजकल बाजार में बहुत अच्छे कंडीशनर मिलते हैं। अगर आप घरेलू कंडीशनर इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो अंडे में नींबू की कुछ बूंदें और जैतून के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर बालों में लेप की तरह आधा घंटा लगाकर रखें। इसके बाद किसी कंडीशनर युक्त शैंपू से सिर धोएं, ताकि अंडे की गंध चली जाए। दही भी एक अच्छा कंडीशनर है, वह सिर को साफ भी करता है।

मेरे सिर में जुएं और लीखें भी होती है समस्या

  • इस समस्या का मुख्य कारण सफाई की कमी है। आप सप्ताह में तीन बार सिर धोएं। सिर धोने के लिए आप जूं नाशक शैंपू का इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • रुई की मदद से प्याज का रस स्कैल्प पर लगाएं। आधे घंटे के बाद शैंपू करें।
  • नींबू के रस के साथ अदरक का रस मिलाकर भी रुई से लगाया जा सकता है और आधे घंटे बाद धो दें, तो जुएं कम हो जाती हैं।
  • नीम और पुदीने की पत्तियों को पानी में उबाल लें। जब पानी आधा रह जाए, तब पानी के बराबर तिल का तेल मिलाकर उबालें। जब सारा पानी उड़ जाए, तो बहुत अच्छा तेल तैयार हो जाता है। इसे सिर में लगाने से जुएं भाग जाती हैं। और अधिक उपाय जानने के लिए पढ़ें ये पोस्ट – जूँ को दूर करने के लिए घरेलू उपचार

बालों में मेहँदी भी लगाए जरा संभलकर

  • काली मेहंदी बिलकुल ना लगायें, क्योंकि यह मेहंदी नहीं, एक प्रकार की ‘डाई’ है। काली मेहंदी की जगह पर आप हरी मेहंदी लगाएं।
  • मेहंदी में आप मेथी के पीसे हुए बीज, चायपत्ती का पानी, आंवला, शिकाकाई पाउडर मिला लें और एक काली लोहे की कड़ाही में उसे भिगोकर रख दें। 4-5 घंटे के बाद उसमें अंडा मिला लें और फिर बालों में लगाएं। इससे बाल एकदम काले तो नहीं होंगे, पर नियमित प्रयोग से बाल धीरे-धीरे काले दिखने लगेंगे। निश्चय ही इससे बालों के सफेद होने की रफ्तार भी कम हो जाएगी। हफ्ते में दो बार मेंहदी लगाएं।

सही भोजन भी जरुरी

  • ऊपरी देखभाल के अलावा बालों की सेहत हमारे खान-पान पर भी निर्भर करती है। बाल कैरेटिन नामक कठोर प्रोटीन से बनते हैं। इसकी पूर्ति के लिए अपने आहार में दूध, दही, सोयाबीन, अंकुरित अनाज, सूखे मेवे, दालें व हो सके तो अंडा व मछली लेना चाहिए। इनसे शरीर में प्रोटीन की पूर्ति होगी और बाल स्वस्थ व चमकदार दिखेंगे।
  • प्रोटीन के अलावा बालों को विटामिन ए व ई की भी खुराक देनी चाहिए। और साथ ही खाने के साथ आप भरपूर मात्रा में पानी भी जरूर पिएं।
  • आंवले का इस्तेमाल अपने खाने में भी करें। आप ताजा आंवला भी ले , आंवले के मुरब्बे का भी इस्तेमाल करें या फिर उसके चूर्ण को भी खा सकते हैं।

अन्य सम्बंधित लेख 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *