बाल गिरने झड़ने का इलाज करने के लिए आजमाएं ये 23 घरेलू नुस्खे

बाल सभी इंसानो के झड़ते हैं, यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। बाल अपनी पूरी लम्बाई तक बढ़ जाने के बाद बाल गिरने लगते हैं, फिर उनकी जगह नए बाल उग आते हैं लेकिन यदि बहुत अधिक बाल गिरे तो यह जरुर एक समस्या होती है।

एक खास समय के बाद प्रत्येक बाल की बढ़ोतरी अपने आप रुक जाती है। हमारी शारीरिक स्थिति के अनुसार बालो की ग्रंथि जब कमजोर हो जाती है तो पुराना बाल, रोम कूप से अलग हो जाता है। इसी रोमकूप से अलग हो जाने की क्रिया को ‘बाल गिरने” या बालों का झड़ना कहा जाता है उसके बाद उसकी जगह नया बाल निकल आता है।

आमतौर पर एक महीने में बालों की लंबाई एक सेंटीमीटर बढ़ती है। रोजाना सिर के 10 बाल तक गिरना सामान्य माना जाता है क्योंकि सिर की उतने बालों को उगाने की क्षमता होती है और सामान्यतया बालों का एक जीवन चक्र होता है जिसके अनुसार हर बाल को 3-4 साल के अन्दर-अन्दर गिरना होता है और नये बालों का निर्माण होता रहता है। बाल गिरने का इलाज करने के लिए डॉक्टर आयरन के कैप्शूल और विटामिन की गोलियाँ देते रहते हैं, जो आयरन की कमी ना होने पर देना जरूरी नहीं हैं।

बाल गिरने के मुख्य कारण – शरीर में विटामिन एवं मिनरल्स की कमी हो जाना। लंबी या आंतरिक बीमारी से पीड़ित होना। नींद की गोली आदि का सेवन करना। मानसिक तनाव, चिंता या अत्यधिक गुस्सा होना। शरीर में हार्मोन की गड़बड़ी पैदा हो जाना। बालों में डैण्ड्रफ की समस्या रहना आदि बाल गिरने का कारण होते हैं बालों के झड़ने व टूटने के कारणों को हम अपने अगले आर्टिकल में विस्तार से बतायेंगे |

बाल गिरने का इलाज के आसान घरेलू उपाय 

बाल गिरने झड़ने का इलाज करने के लिए आजमाएं ये 23 घरेलू नुस्खे

hair-fall-control-tips

  • चाय– सिर धोने के बाद अन्त में चाय के पानी (बिना चीनी और दूध का) से सिर धोने से बालों में चमक आ जाती है और बाल गिरने की समस्या कम हो जाती हैं।
  • अमरूद, बेर और नीम की 50-50 ताजी पत्तियां लें। इन्हें 5 लीटर पानी में उबालें। जब पानी आधा रह जाए तो उसे उतार लें। ठंडा होने पर छानकर इस पानी से बालों की सफाई करें। इससे बालों का गिरना बंद हो जाता है। यह प्रयोग सप्ताह में 2 बार कर सकते हैं।
  • चार चम्मच परवल का रस लेकर बालों की जड़ों में अच्छी तरह लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें। यह प्रयोग सप्ताह में एक बार करने से बाल गिरने की समस्या से छुटकारा मिलता है।
  • दो चम्मच मुलतानी मिट्टी में चार चम्मच दही मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं। इसके बाद सिर पर टॉवल लपेट लें। आधे घंटे बाद बालों को ठंडे पानी से धो डालें। यह प्रयोग सप्ताह में दो बार करने से बाल गिरने बंद हो जाते है।
  • बरगद की जटाएँ 800 ग्राम छाया में सुखाकर कूट लें, फिर आधा किलो नारियल तेल में 15 दिनों तक रख छोड़े। रोजाना दो बार हिलाते रहें, फिर छानकर बोतल में भरकर रख लें। इस तेल को रोजाना सिर में लगाने से बाल गिरते नहीं, मजबूत हो जाते हैं। कम उम्र में बाल गिरते हों, सफेद पड़ गए हों तो तुलसी के पत्तों का पेस्ट तथा आँवले का चूर्ण समान मात्रा में लेकर, पानी में मिलाकर इसे बालों में लगाएँ। आधा घंटे बाद सिर धो लें। इससे बाल काले बने रहेंगे, झड़ेंगे भी नहीं |
  • नीम– सिर के बाल गिरने शुरू ही हुए हो तो नीम और बेर के पत्तों को पानी में उबाल कर बालों को धोयें। बाल गिरना बन्द हो जायेगा। बाल काले ही रहेंगे और लम्बे भी होंगे। इससे जुएँ भी मर जाती हैं। सावधानी रखें कि सिर धोते समय यह पानी आँखों में न जाये। सिर धोते समय आँखें बन्द रखें।
  • नींबू –(1) नीबू के रस की सिर में मालिश करके सिर धोने से बाल गिरने कम हो जाते है। (2) एक गिलास पानी में दो चम्मच चाय डाल कर उबालें और फिर उसे ठंडा होने दें। ठंडा होने पर छान कर इसमें नीबू निचोड़ें। बालों को अच्छी तरह से साफ करके धोने के बाद अन्त में इस पानी से बाल धोयें। फिर साफ पानी से धोयें। इस प्रकार बाल धोने से बाल चमकदार, रेशम की तरह मुलायम हो जायेंगे और गिरना भी रुक जायेगा।
  • आँवला–सूखे आँवले को रात में भिगो दें। सुबह इस पानी से सिर धोयें। इससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं जिससे बाल गिरने की बीमारी ठीक हो जाती है, बालों की प्राकृतिक सुन्दरता बढ़ती है। दिमाग व आँखों को लाभ पहुँचता है।
  • नारियल–नारियल का तेल सिर में लगाने से बाल गिरना बन्द होकर लम्बे होते हैं।
  • ककड़ी—ककड़ी के रस को बालों की जडो में लगाने से बाल घने होते हैं।
  • चुकन्दर– चुकन्दर के पत्ते मेहँदी के साथ पीस कर लेप करने से बाल गिरने बन्द हो जाते हैं। तेजी से बढ़ते और उगते भी हैं।
  • पत्ता गोभी के 50 ग्राम पत्ते रोजाना एक महीने तक खाने से गिरे हुए बाल उग जाते हैं।
  • ककड़ी- ककड़ी में सिलिकन (Silicon) और सल्फर अधिक मात्रा में मिलते हैं। यह बालों को बढ़ाते हैं। ककड़ी, गाजर और सलाद (Lettuce) और पालक सबको मिलाकर रस पीने से बाल बढ़ते हैं। यदि ये सब उपलब्ध न हों तो जो उपलब्ध हों, वे ही मिलाकर रस बना लें।
  • गेहूँ- गेहूँ के पौधों का रस रोजाना एक कप चालीस दिन पीने से बाल गिरना बन्द हो जाते हैं।
  • चोलाई– बाल गिरने पर चोलाई की सब्जी लाभदायक है। ठीक ऐसे ही बथुआ का सेवन भी जरुर करें |
  • तुलसी–कम उम्र में बाल गिरने की समस्या हो तो, बाल सफेद हो गए हों तो तुलसी के पत्ते और आँवले का चूर्ण पानी में मिलाकर सिर में मलें। दस मिनट बाद सिर धोयें। बाल गिरने बन्द हो जायेंगे। तथा बाल काले ही रहेंगे और लम्बे भी होंगे। इससे जुएँ भी मर जाती हैं।
  • दो चम्मच मुलहठी का पेस्ट लेकर बालों की जड़ों में ठीक से लगाएं। मुलहठी का पेस्ट बालों को मजबूत बनाता है। एक घंटे बाद बालों को पानी से साफ कर लें। इससे बालों को मजबूती मिलती है। बालों का गिरना भी बंद हो जाता है।
  • चार चम्मच प्याज का रस लेकर बालों की जड़ों में अच्छी तरह लगाएं। आधे घंटे बाद मुलतानी मिट्टी से बालों को धो डालें। यह प्रयोग सप्ताह में एक बार करने से बालों का गिरना झड़ना बंद हो जाता है।
  • दो चम्मच नारियल के तेल में 6-7 बूंद चंदन का तेल मिला लें। इसे रात में सोते समय बालों की जड़ों में लगाकर हल्के हाथों से मालिश करें। सुबह ठंडे पानी से धो लें। इससे बाल गिरने बन्द हो जाते हैं।
  • एक चम्मच जैतून का तेल और एक चम्मच लौकी का रस-दोनों को ठीक से मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं। आधे घंटे बाद बालों को साफ कर लें। यह प्रयोग सप्ताह में एक बार करें। इससे बालों की जड़ें मजबूत होती है और बाल गिरने की समस्या से छुटकारा मिलता है |
  • ककड़ी को कद्दूकस करके उसका रस निकाल लें। यह रस बालों की जड़ों में लगाएं। यह प्रयोग नियमित रूप से करने पर बालों का झड़ना गिरना रुक जाता है।
  • किसी भी प्रकार से बाल धोने के बाद अंत में चाय के पानी में नीबू निचोड़कर सिर धोने से बाल टूटते नहीं, चमकदार बनते हैं।
  • आधा कप दही में चौथाई चम्मच काली मिर्च मिलाकर बालों में लेप करें। बीस मिनट बाद सिर धो लें। इससे बाल गिरने बंद होते हैं और मुलायम तथा चमकदार हो जाते हैं।
  • भाप—बालों को भाप देने से बाल रेशम की तरह नरम एवं स्वस्थ रहते हैं। बाल गिरने समस्या कम होती है। एक बर्तन में गर्म पानी लें और एक तौलिया इसमें भिगोकर हल्का-सा निचोड़ कर सिर पर लपेटें। ठंडा होने पर दूसरा तौलिया भिगो कर लपेटें। इस तरह दस मिनट भाप दें। भाप देने से एक दिन पहले सिर में तेल जरुर लगायें।
  • अधिक बाल गिरने की अवस्था में सिर जल्दी-जल्दी धोना चाहिये बाल धोने के बाद जहाँ तक संभव हो गीले बालों को कंघी न करें, क्योंकि गीले बाल कमजोर होते हैं और आसानी से जल्दी टूट सकते हैं इसलिए बालों को कुछ देर तक सूखने दें और फिर कंघी करें।
  • बालों को सुखाने के लिये रोजाना हेयर ड्रायर का प्रयोग न करें क्योंकि उससे बाल की जड़े कमजोर पड़ जाती है और बाल गिरने लगते है। हेयर ड्रायर मशीन को बालों से 6-8 इंच की दूरी पर रखें। अधिक समय तक हेयर स्प्रे बालों में न रहने दें, क्योंकि इसमें कई हानिकारक रसायन होते हैं, जो बालों को नुकसान पहुँचाते हैं।

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

Leave a Reply