दो मुंहे बालों की रोकथाम के लिए सुझाव

लम्बे बालो की इच्छा बहुत सारी महिलाओ की चाह होती है पर सही ढंग से बालो की गौर न करने के कारण अक्सर दो मुंहे बालो (split end hair) की समस्या से दो चार होना पड़ता है ! दो मुंहे बालों के कारण न केवल आपके बालो की खूबसूरती में एक दाग लगता है  बल्कि दो मुंहे बालो की वजह से ज्यादा लम्बे बाल बनाए रखना भी मुश्किल हो जाता है ! लेकिन समय रहते बालो की ठीक से देखभाल की जाये तो दो मुंहे बालों से छुटकारा मिल सकता है !

दो मुंहे बालों

Do muhe baal_split ends hair

दो मुंहे बालों की समस्या से बालों की खूबसूरती खत्म न हो जाए इसके लिए कुछ बातों का ख्याल रखा जा सकता है।

  • सबसे जरुरी बात अपने आहार में पर्याप्त मात्रा में Protein युक्त चीजे ले जैसे – सूखे मेवे, बादाम अखरोट, सोया मिल्क, कद्दू के बीज, मूंगफली, बादाम, अंकुरित दालें, दूध, पनीर आदि और कोशिश करे कि हमेशा संतुलित आहार ही ले क्योंकि बालों और चेहरे की खूबसूरती में वही झलकता है, जो आपके आहार में मौजूद होता है।
  • हफ्ते में कम-से-कम दो बार बालों की अच्छी तरह से तेल की मालिश करे और फिर hair Steam देकर उन्हें प्रकृति के अनुरूप शेंपू से धो दें।
  • अगर Hair Oil (तेल) लगाना पसंद नहीं है तो उसको जगह शहद का भी इस्तेमाल किया जा सकता हैं, क्योंकि शहद तेल का अच्छा विकल्प हैं और उसमें भी वे तत्व पर्याप्त मात्र में होते जो बालों की जरूरत को पूरा कर सके!
  • दो-मुंहे बालों से छुटकारा पाने के लिए बालों को सदैव धीरे-धीरे सुलझाएं। इससे बाल नीचे के सिरों से फटते नहीं हैं। बीच-बीच में गरम पानी से भाप लेती रहें।
  • सप्ताह में एक बार ट्रिमिंग करवाती रहें जिससे बाल दो-मुंहे न होने पाएं।
  • टैल्कम पाउडर में 2 प्रति प्रेथरम डस्ट मिलाकर या 10 प्रतिशत डी.डी. टी. मिलाकर प्रयोग में लाएं।
  • रात में एक चम्मच पाउडर सिर में अच्छी तरह रगड़ें और तेजी से रगड़कर मलें, जिससे यह बालों में खूब मिल जाए। इस पाउडर से आंख, नाक व मुंह का अच्छी तरह बचाव कर लें।
  • यदि सारे या कुछ बाल दोमुंहे हो गए हों, तो प्रात: अमरूद के ताजे पत्तों को पानी में उबालकर उसके काढ़े से बालों को प्रतिदिन धोएं।
  • दोपहर को नीम के ताजे पत्तों को पानी में उबालकर उसके काढ़े से बालों को प्रतिदिन धोएं। शाम को बालों में नियमित रूप से आंवला Amla या नारियल तेल और थोड़ा-सा पानी मिलाकर बालों की जड़ों में मालिश करें |
  • गीले बालों में कर्घी न करें।
  • जितना हो सके, बाल खुला न छोड़ें। बालों की धूल, धूप और धुएं आदि से बचाएं। किसी अच्छे कॉस्मेटिक क्लिनिक में बॉयोट्रान व ओजोन की सिटिंग लें |
  • हर बार बाल ‘धोने के बाद उन्हें कंडीशनिंग देना न भूलें। बाजार में वैसे तो काफी सारे अच्छी क्वालिटी के conditioner मोजूद है जो आमतौर पर दो तरह के हाते है, एक जिन्हें शेम्पू करने के तुरंत बाद लगाकर कुछ देर के लिए छोड़ दिया जाता है और फिर दोबारा पानी से धो दिया जाता है तथा दूसरी तरह के conditioners शेम्पू करने के बाद बालों को  सूखे तौलिए से पोंछकर गीले बालों पर ही लगाए जाते है। इनसे बालों पर एक हल्की नरम परत चढ़ जाती है, जो बालों को तो नरम और चमकीला बनाती है तथा धूल मिटटी से भी सुरक्षा कवच का काम करती है।
  • इसके अलावा conditioner का इस्तेमाल उस वक्त और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है जब बालों में किसी भी तरह का केमिकल ट्रीटमेंट लिया गया हो, यानी उनमें Hair colouring, hair Perming, straightening आदि करवाई गई हो । ऐसे ट्रीटमेंट के बाद बाल बहुत ही सेंसिटिव हो जाते है! और उन्हें विशेष देखभाल की ज़रूरत पड़ती है। ऐसे में जरा सी भी लापरवाही बालों को काफी है नुकसान पहुचा सकती है। इन सब टिप्स को ध्यान में रख कर आप दो मुंहे बालों से बच सकते है !
  • अपने बालों को अधिक तापमान से बचाएं। उलटी कंघी न करे, रबर बैंड भी न लगाये।  गीले बालों पर ब्रश या कंघी न करें ।
  • हर पांच या छह हफ्ते बाद सैलून जाकर दो मुंहे बालों को कतरवा लें।

अन्य सम्बंधित लेख 

No Responses

कमेंट करें | सवाल पूछे | फीड बैक दें |

%d bloggers like this: