गर्मियों में स्वास्थ्य की देखभाल के लिए टिप्स

गर्मियों में भूख कम लगती है, तली-भुनी चीजें खाने का कम मन करता है। इस मौसम में अगर संतुलित, पौष्टिक आहार न लिया जाए तो शरीर तो बेडौल होता ही है, स्वास्थ्य भी बिगड़ जाता है। डायरिया, फ्लू, डिहाइड्रेशन, हैजा जैसी बीमारियां इसी मौसम में सिर उठाती हैं। गर्मियों में स्वास्थ्य की देखभाल के लिए यह जरूरी है कि आप खानपान पर उचित ध्यान दें।

गर्मियों में स्वास्थ्य की रक्षा के लिए टिप्स

Summer Health Care Tips.

  • गर्मियों में स्वास्थ्य की देखभाल के लिए खूब पानी पीएं, जिससे शरीर की सारी गंदगी निकलती है, पाचन क्रिया ठीक रहती है और त्वचा भी निखरी रहती है। ध्यान रखें कि शरीर में पानी की कमी न हो । दिन में कम-से-कम आठ से दस गिलास पानी पीएं। इससे लू से बचने में भी सहायता मिलेगी।
  • कच्चे प्याज का सेवन करें, इससे भी लू से निजात मिलेगी।
  • बाहर जाने से पहले खूब पानी पीएं। पानी को शुद्ध करने के लिए उबालकर इस्तेमाल करें।
  • गर्मियों में नींबू का शरबत, आम का पन्ना, जीरे की शिकंजी, ठंडाई, हरे नारियल का पानी, फलों का ताजा रस, दूध आदि जलीय पदार्थों का सेवन करें।
  • कच्ची सब्जियां और कच्चे फल कभी एक साथ न खाएं, क्योंकि दोनों को पचाने के लिए अलग-अलग तरह के एंजाइम की जरूरत होती है।
health care tips in summer गर्मियों

health care tips in summer

  • विटामिन और खनिज तत्वों से भरपूर भोजन करें। क्योंकि पसीने के जरिए शरीर से मैग्नीशियम आदि तत्व निकल जाते हैं, जिसके कारण थकान और मांसपेशियों में दर्द हो जाता है।
  • गर्मियों में मौसमी फल और हरी सब्जियां भी खूब खाएं। संतुलित आहार लें। इससे पाचन क्रिया ठीक रखने में बहुत मदद मिलेगी।
  • सूखा धनिया व चावल बराबर मात्रा में लेकर फुला लें। प्रातः पीसकर गरम करके पिएं। जलन शांत होती है। सत्तू खाने से भी शरीर को ठंडक मिलती है |
  • गर्मियों में विटामिन-बी का जितना हो सके, सेवन करें। इससे मांसपेशियों के दर्द और थकान में राहत मिलती है। साबुत अनाज, बीज, मेवे और अंकुरित दालों में प्रचुर मात्रा में विटामिन-बी होता है।
  • दिन में थोड़ा-थोड़ा खाएं, जरूरत से ज्यादा न खाएं, इससे बदहजमी हो सकती है। पालक, ककड़ी, खीरा, अंगूर, तरबूज, खरबूजा, पपीता, संतरा, लौकी, नीबू आदि का सेवन त्वचा के लिए फायदेमंद रहता है। इससे त्वचा की अंदरूनी सुरक्षा मिलती है।
  • गर्मियों में पेट में एसिड जल्दी बनते हैं, इसलिए दिन में एक बार चीनी और नमक मिलाकर नीबू का पानी जरूर पीएं, इससे शरीर में नमी रहती है और टॉक्सिन भी बाहर निकल जाते हैं।
  • गर्मी में ज्यादा भारी,बासी भोजन नहीं करे,क्योंकि गर्मी में शरीर की जठराग्नि मंद रहती है ,इसलिए वह भारी खाना पूरी तरह पचा नहीं पाती और जरुरत से ज्यादा खाने या भारी खाना खाने से उलटी-दस्त की शिकायत हो सकती है,गरम मसालों का उपयोग: लौंग, जायफल, दालचीनी का प्रयोग कम करें।
  • बाहर की तेज धूप से आकर एकदम से ठण्डा पानी या अन्य ठन्डे पेय का सेवन नहीं करना चाहिए
  • तेज धूप से आकर सीधे AC या कूलर में बैठना या ठंडे कमरे से सीधे उठकर धूप में जाना आपके स्वास्थ्य को नुकसान पंहुचा सकता है |
  • गर्मियों में दिन लंबे तथा राते छोटी होती है इसलिए दिन में थोडा बहुत सो लेना चाहिए जिससे नींद की कमी न हो |

गर्मियों में व्यायाम

  • गर्मियों में नियमित रूप से व्यायाम करें। इससे रक्त संचार अच्छा होता है और शरीर की गंदगी पसीने के रूप में बाहर आ जाती है। रस्सी कूदना, तेज चलना, स्विमिंग आदि शरीर में ऊर्जा भरते हैं तथा भूख भी लगती है।
  • व्यायाम के बाद ठंडा पानी या फलों का रस पीएं। घंटे-भर बाद संतुलित भोजन करें।
  • आप नियमित योग भी कर सकती हैं, इससे शरीर भी स्वस्थ रहता है और मानसिक शांति भी मिलती है।
  • गर्मियों में व्यायाम करते समय चेहरे पर मेकअप न हो। इससे त्वचा के रोमछिद्र खुल नहीं पाएंगे और चेहरे की गंदगी बाहर नहीं निकल पाएगी। गर्मियों में चेहरे की देखभाल के लिए टिप्स
  • व्यायाम करने के बाद अपनी त्वचा के लिए उपयुक्त क्लींजर से चेहरा जरूर साफ कर लें। बहुत स्ट्रॉन्ग क्लींजर या साबुन का इस्तेमाल न करें, इससे त्वचा की प्राकृतिक नमी छिन जाती है।

कैसा हो गर्मियों में पहनावा

  • हल्के रंगों की सूती पोशाक इस मौसम के लिए उपयुक्त है। सूती कपड़ों में हवा आसानी से आ-जा सकती है और ये पसीना भी सोख लेते हैं।
  • नायलॉन या सिंथेटिक कपड़ों में पसीना सूख नहीं पाता, जिससे त्वचा पर घमौरी और दूसरी बीमारियां हो जाती हैं।
  • अगर आप स्कर्ट या छोटी बांहों का कुर्ता या ब्लाउज पहन रही हैं तो ध्यान रखें कि धूप से शरीर का खुला हिस्सा झुलस सकता है, इस हिस्से की नियमित मालिश करवाएं। जरूरत महसूस हो तो ब्लीच भी करवाएं।
  • कपड़े ढीले हों। कसे कपड़ों में हवा का प्रवाह रुक जाता है।
  • बच्चों को बनियान या कमीज जरूर पहनाएं। इससे त्वचा धूप के सीधे प्रकोप से बची रहती है।
  • गर्मियों में जूते या बंद सैंडिल न पहनें, इससे पांवों में पसीना भरता है और उंगलियां कट सकती हैं। नायलॉन के मोजों की जगह सूती मीजे पहनें ।
  • गर्मियों में शाम ढलते ही घर की खिड़कियां और दरवाजे कुछ देर के लिए बंद कर दें। यही वक्त है, जब मक्खी मच्छर और दूसरे कीड़े-मकोड़े घर के अंदर प्रवेश करते हैं। जब घर के अंदर बल्ब जलाएं तो बाहर की लाइट बंद कर दें।
  • गर्मियों में आखों की देखभाल आंखों पर सूर्य की सीधी किरण न पड़ने दें। आंखों को पूर्ण विश्राम दें। आंखों के लिए धूप का चश्मा अवश्य खरीद लें |
  • गर्मियों में खान-पान में स्वच्छता बरते, खान-पान से पूर्व हाथ अवश्य धोएं। हमेशा ताजा और गर्म भोजन ही खाएं। पीने का पानी सदा शुद्ध बर्तन से ही लें। भोजन सदैव शांत और एकाग्र-चित्त से करें।

गर्मियों में खानपान में स्वच्छता बरतिए

  • पेट की देखभाल अच्छे स्वास्थ्य के लिए पेट साफ रखना जरूरी है। प्रात:काल तांबे के गिलास में पानी पीने से भी पेट साफ रहता है।
  • निद्रा, विश्राम और व्यायाम प्रत्येक वयस्क के लिए 8 घंटे की नींद लेना अनिवार्य है। प्रत्येक कार्य के बाद विश्राम भी आवश्यक है।
  • प्रात:काल देर तक सोना स्वास्थ्य के लिए अति हानिकारक है। प्रात:काल व्यायाम करना अपनी दिनचर्या का एक अंग बनाएं। कहते हैं ‘शरीर फिट तो परिवार फिट’ इसलिए व्यायाम की आदत डालें। व्यायाम भी उतना ही करें, जितना शरीर सहन कर सके। पैदल चलना सबसे अच्छा व्यायाम है। यह भी पढ़ें – लू लगने पर उपचार तथा लू से बचने के उपाय- 40 टिप्स |
  • गर्मियों में स्वास्थ्यवर्धक है संतरा गर्मियों में संतरा स्वास्थ्यवर्धक फल है। संतरा सेहतमंद ही नहीं खूबसूरत भी बनाता है। इसमें विटामिन ‘सी’, ‘ए’, ‘बी-2, कोलिक अम्ल, सोडियम, कैलिशयम, लोहा, प्रोटीन और गंधक प्रचुर मात्रा में होते हैं।
  • संतरे का नियमित सेवन मोटापा कम करता है। पसीने की बदबू दूर करने के लिए उपाय |
  • गर्मियों में सौंफ का चूर्ण दूध में मिलाकर पीने से शरीर में जलन नहीं होती |
  • संतरे का एक गिलास रस तन-मन की थकान व तनाव से दूर करके चुस्ती-फुर्ती प्रदान करता है।
  • अधिक प्यास लगने पर संतरे का जूस अवश्य पीएं। इससे बार-बार प्यास नहीं लगेगी।
  • अपच, पेचिश व सूखी खांसी में यह अत्यंत फायदेमंद है। यह भी पढ़ें – दस्त के घरेलू उपचार -27 बेहतरीन अतिसार उपचार
  • संतरे के छिलके पानी में उबालकर, चीनी मिलाकर पीने से भूख खुलकर लगती है।
  • अगर आपको ह्रदय सम्बंधी रोग है तो गर्मियों में संतरे के रस में शहद मिलाकर पीएं तो आश्चर्यजनक लाभ होता है।

अन्य सम्बंधित पोस्ट 



शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*