स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े आम भ्रम (भाग -1)

स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े आम भ्रम (भाग -1) – सौंदर्य ,स्वास्थ्य और मेकअप से जुडी बहुत सारी उलझने (confusions) और गलतफहमियां अक्सर देखने सुनने को मिलती है। इनमे से कुछ धारणाएं तो सही होती है और कुछ गलत, वेबसाइट के इस भाग में हम ऐसे ही कुछ भ्रमो का निवारण करेंगे |

Health Beauty Myths & Facts Part-1 – स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े आम भ्रम (भाग -1)

 

स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े आम भ्रम (भाग -1) / health-beauty-myths-facts-part-1-hindi-health-planet /

Health Beauty Myths & Facts Part-1

  • Myth (भ्रम) –टांगों पर शेव करने से बाल अधिक उगने लगते हैं।
  • Fact (वास्तविकता)- गलत : यह एक आम धारणा है जो बिल्कुल गलत है। शेव करने के बाद जो नए बाल उगते हैं वे पहले जैसे कोमल और महीन नहीं लगते क्योंकि वे बीच से कटे होते हैं। शेव करने से बालों की संख्या में कोई वृद्धि नहीं होती है।
  • Myth (भ्रम) –रोज एक सेब खाएं, डॉक्टर की दूर भगाएं।
  • Fact (वास्तविकता) – सही : लोक कथाओं में भी सेब के स्वास्थ्य और सौंदर्यवर्द्धक होने का जिक्र है। हालांकि खाते वक्त इसमें एसिड होता है जो शरीर में पहुंचने पर इसे एल्केलाइन में बदल देता है जो पाचन क्रिया को स्वस्थ रखता है और बदहजमी रोकता है।
  • Myth (भ्रम) – नाखूनों पर सफेद धब्बे, भोजन में कैल्शियम की कमी से होते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – गलत : यह चिंता का विषय नहीं है। यह सच है नाखूनों को मजबूत बनाने में कैल्शियम की आवश्यकता होती है, पर कभी-कभार जो सफेद धब्बे नजर आते हैं, वे नाखून उगते समय चोट लग जाने से भी हो सकते हैं। आप उन धब्बों को नेल-पॉलिश से ढक सकती हैं।
  • Myth (भ्रम) – एक सफेद बाल तोड़ने से उसकी जगह कई बाल उग आते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – गलत : बालों के प्रत्येक रोमछिद्र से सिर्फ एक ही बाल उगता है।
  • स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े सवाल-जवाब भाग-(1)
  • स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े भ्रम और तथ्य (भाग -2)
  • Myth (भ्रम) नियमित छंटाई से बाल तेजी से बढ़ते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – सही: ट्रिम करने से बालों के बेकार, सूखे छोर कट जाते हैं, जिससे वे मजबूत हो जाते हैं पर इससे उनकी बढ़ोतरी पर कोई असर नहीं पड़ता। हां! यह सच है कि सिर की हल्की मालिश करने से बाल अधिक उगते हैं और यह भी कि सर्दियों की अपेक्षा गर्मियों में बाल अधिक तेजी से बढ़ते हैं।
  • Myth (भ्रम) – एस्ट्रिजेंट (Astringent) से त्वचा के पोर बंद हो जाते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – गलत : त्वचा के छिद्र खिड़की की तरह खोले या बंद नहीं किए जा सकते। एस्ट्रिजेंट त्वचा को उकसाते हैं, जिससे छोटी-छोटी मांसपेशियां उभरकर तन जाती हैं। इससे रोमछिद्र कुछ देर के लिए दिखाई नहीं देते। अधिकांश एस्ट्रिजेंटों में अल्कोहल का अंश होता है, इसलिए त्वचा का तेल और पानी सूख जाता है। खुले छिद्रों को किसी कोमल बेस से ढकना चाहिए।
  • Myth (भ्रम) – चॉकलेट खाने से चेहरे पर दाग-धब्बे पड़ जाते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – गलत : विशेषज्ञों के अनुसार चेहरे पर दाग-धब्बों व झांइयों का चॉकलेट खाने से कोई संबंध नहीं है। इसका असल कारण है हारमोंस, जो चर्बी उत्पन्न करने वाले Glands में अधिक मात्रा में तेल उत्पन्न करने लगते हैं, जिससे रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और त्वचा में संक्रमण हो जाता है। पौष्टिक संतुलित भोजन ही स्वस्थ त्वचा का रहस्य है। संतुलित भोजन लीजिए जिसमें पर्याप्त मात्रा में ताजे फल, सब्जियां, दालें, अन्न, मछली तथा अंकुरित दालें शामिल हों।
  • Myth (भ्रम) – रोजाना 100 बार कंघी करने से बाल घने और चमकीले होते हैं।
  • Fact (वास्तविकता) – सही भी गलत भी : अच्छी तरह से कंघी करने से बालों में जमे धूल के कण निकल जाते हैं और सिर के रक्त संचार में सुधार होता है। इससे सीबम अर्थात बालों में प्राकृतिक तेल का उत्पादन होता है। फिर कंघी करते रहने से यह चिकनाहट या तेल बालों में फैल जाती है और वे चमकीले तथा घने लगते हैं फिर भी हल्के हाथ से थोड़ी देर की गई कघी 100 बार करने से ज्यादा लाभदायक है। अच्छे परिणाम के लिए अच्छा-सा ब्रश लें। पहले बालों को सुलझाते हुए कंघी करें, फिर ऊपर से नीचे तक कंघी करें। गीले बालों पर कभी न करें इससे बाल टूट सकते है | पढ़ें हमारा ये लेख – बालों की आम समस्याएं और उनके इलाज
  • हमे उम्मीद है की स्वास्थ्य और सौंदर्य से जुड़े आम भ्रम (भाग -1) आपको पसंद आया होगा |अगर आपका भी कोई सवाल या सुझाव है तो हमारी वेबसाइट पर दिए गये कमेंट बॉक्स के जरिये आप हमसे अपना सवाल पूछ सकते है |

अन्य सम्बंधित पोस्ट 

कमेंट करें | सवाल पूछे | फीड बैक दें |

%d bloggers like this: