Teeth Care-दांतों की देखभाल के लिए 21 टिप्स

दांतों की देखभाल (Teeth Care Tips) – दांतों का संबंध केवल स्वास्थ्य से ही नहीं, सौंदर्य व व्यक्तित्व से भी जुड़ा हुआ है। अपनी मुस्कराहट की छाप छोड़ने के लिए साफ, चमकदार मोती जैसे दांतों का होना जरूरी होता है | गंदे, अस्वस्थ दांत आपके खूबसूरत व्यक्तित्व पर धब्बे के समान होते हैं। दर्दयुक्त, अस्वस्थ दांतों से आहार ठीक से चबाया नहीं जा सकता है, जिसकी वजह से दांतों का काम आतों को करना पड़ता है। इससे पाचन शक्ति नष्ट होने लगती है।और पेट सम्बंधी अन्य बीमारियाँ जन्म लेने लगती है | अस्वस्थ दांत मुंह में दुर्गंध भी पैदा करते हैं। वैज्ञानिक अनुसंधानों से यह तथ्य सामने आया है कि मनुष्य के दांतों की मजबूती का सीधा सम्बन्ध उसके भोजन से होता है। आदि मानव के दांत काफी मजबूत होते थे, क्योंकि वह खाद्य पदार्थ के रूप में कठोर व कड़ी वस्तुओं का उपयोग करते थे |आजकल भोजन का स्वरूप मुलायम होने के साथ ही ‘स्टार्च’ से परिपूर्ण हो गया है। जो दांतों में ‘केविटी’ उत्पन्न होने का मुख्य कारण है।

दांतों की देखभाल करने के लिए इन बातों का ध्यान रखें / 21 Tips For Teeth Care

 

dental care and teeth care tips in hindi /दांतों की देखभाल

दांतों की देखभाल

  • दांतों की देखभाल (Teeth Care) के लिए दांतों की सफाई पर समुचित ध्यान दें। इससे दांत जीवन भर साथ देंगे, साथ ही आपके सौंदर्य को बढ़ाने में भी सहयोग देंगे।
  • मुंह में हमेशा लाखों बैक्टीरिया रहते हैं जो मुंह में किसी कड़ी सतह से जाकर चिपक जाना चाहते हैं और एक बड़ा समूह बनाने की कोशिश करते हैं | यह प्रक्रिया साल भर लगातार चलती रहती है | मुंह में यह कड़ी सतह हमारे दांत होते है जंहा ये बैक्टीरिया जाकर चिपकते है और एक अदृश्य सतह, जिसको कि “Teeth Plaque” कहते हैं, हमारे दांतों के चारों ओर बना देते हैं |दरअसल दाँतो की सफाई करने का मुख्य उद्देश्य ब्रश या फ्लोस की सहायता से इसी प्लेक को साफ़ करना होता है| याद रखें दांतों व् मसूड़ों के संक्रमण हमारे पूरे तंत्र को प्रभावित कर देते हैं। जो आपका दिल, दिमाग और खून के वेसेल्स सभी को प्रभावित कर सकता है। इसलिए दांतों की देखभाल (Teeth Care) के लिए इन Germs और Bacteria की सफाई नियमित रूप से जरुरी है|
  • दांतों की देखभाल (Teeth Care) के लिए ‘आयल पुलिंग’ थैरेपी एक बेहतर विकल्प है इसके लिए आप कोई भी खाद्य तेल जैसे -सरसों, सुरजमुखी, तिल का तेल या नारियल का तेल सुबह- सुबह खाली पेट 20 मिनट तक मुंह में रखकर कुल्ला करे इससे बैक्टीरिया मर जाते हैं ,और दांत और मसूढ़े भी मजबूत होते हैं। Oil Pulling therapy करने से पायरिया भी नहीं होता है साथ ही मुंह की बदबू भी दूर होती है। यह लगभग तीन सौ वर्ष पुरानी एक बेहतरीन आयुर्वैदिक तकनीक है। देखें –सांस की दुर्गंध- कारण , बचाव और 16 घरेलू नुस्खे |
  • दांतों की सफाई के लिए नियमित रूप से दो वक्त भली-भांति ब्रश करें। दांतों को इस तरह से साफ करें कि दांतों में फंसे हुए अन्न-कण निकल जाएं। जो साँस में दुर्गन्ध के लिए विशेष रूप से जिम्मेदार होते है |
  • मीठे खाद्य पदार्थ जैसे चोकलेट , कोल्ड ड्रिंक्स , मैदा वाले बिस्कुट ,आइस क्रीम , केक, चिप्स ,स्नैक्स, जंक फ़ूड आदि का अधिक मात्रा में इस्तेमाल न करें। यह सब चीजें दांतों को हानि पहुंचाती हैं। ऐसे पदार्थों का इस्तेमाल करने के बाद पानी से कुल्ला अवश्य कर लें।
  • वैसे तो दांतों की देखभाल (Teeth Care) और अच्छे स्वास्थ्य के लिए सोडा, कोला ,ठंडे पेय पदार्थ नहीं पीने चाहिए लेकिन अगर आपको पीना ही है तो straw (नली) डालकर पिए इससे कोल्ड ड्रिंक में मौजूद एसिड आपके दांतों पर नही लगेगा|
  • गरम पेय पदार्थ के तुरंत बाद  ठंडा पानी पीने से दांत हिलने लगते हैं। इसलिए Teeth Care के लिए गरम पेय पदार्थ पीने के तुरंत बाद ठंडा न पिएं।
  • दांतों की देखभाल के लिए ब्रश करने के बाद साफ पानी से अच्छी तरह कुल्ला करें। कुल्ला करते समय अपनी उंगली से मसूढ़ों की मालिश करें, इससे रक्त संचार तेज होगा और मसूढ़े सुंदर व दांत मजबूत होंगे।
  • दांतों को औजार के रूप में इस्तेमाल न करें। जैसे दांत से खींचकर कोई चीज निकालना, धागा तोड़ना, वायर छीलना आदि।
  • दांतों को पिन, सुई, तीली आदि से न कुरेदें। इससे मसूढ़ों में घाव हो जाता है, साथ ही सेप्टिक होने का भय रहता है।
  • अगर आपको नींद में दांत पीसने की आदत है तो आप Grind Mouth Guard को लगाकर सोए नहीं तो आपके दांत जल्द ही घिस जायेंगे और मसूड़े भी ढीले पड़ सकते है | इसके अलावा कुछ लोगो को गुस्से में दांत पीसने की आदत होती है जो दन्त स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होती है | यह भी पढ़ें – दांतों का पीलापन दूर करने के बेहतरीन घरेलू उपाय
  • धूम्रपान, मद्यपान, पान, तंबाकू, गुटखा आदि के इस्तेमाल से भी दांतों का सौंदर्य नष्ट हो जाता है। दांतों की देखभाल के लिए ऐसी चीजों के इस्तेमाल से बचें।
  • दूसरों के इस्तेमाल किए जाने वाले टूथब्रश का इस्तेमाल न करें। इससे दांतों में संक्रमण हो सकता है।
दांतों की देखभाल dental care and teeth care tips in hindi

teeth care tips

  • बेहतर Teeth Care के लिए एक वर्ष में दो बार दांतों का चिकित्सकीय परीक्षण अवश्य करवाना चाहिए, ताकि किसी भी प्रकार के रोग संक्रमण का समय पर पता लग सके।
  • अगर आप दंत-मंजन इस्तमाल करते है तो यह सुनिश्चित कर लें की मंजन उच्च गुणवत्ता का, नर्म हो, घटिया व खुरदरे दंत मंजन आपके दातों को स्थाई नुकसान पंहुचा सकते है |
  • दांतों की सफाई के साथ साथ जीभ की सफाई भी नियमित रूप से करें नहीं तो यह अधूरी सफाई ही मानी जाएगी |

दांतों की देखभाल के लिए क्या खाना चाहिए? /Best Foods For Dental Health and Teeth Care)

  • Teeth Care के लिए खाना खाने के बाद गाजर , मूली,ककड़ी , खीरा , अमरुद , सेब आदि खाने से दांत साफ होते हैं तथा दांत सुंदर व मजबूत भी होते हैं।
  • इसके अलावा हर रोज सेब तथा अंगूर खाएँ और अपने खाने में डेयरी उत्पाद जैसे दूध , दही आदि का सेवन भरपूर मात्रा में करें |
  • दांतों की देखभाल के लिए पेयजल के रूप में फ्लोराइडयुक्त पानी का उपयोग करें। इसमें एनेमल तत्व होते हैं, जो दांतो पर अम्ल के प्रभाव को कम करते हैं तथा दांतो को मजबूती प्रदान करते हैं।
  • गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान पूर्ण तथा संतुलित आहार नहीं लेने का सीधा असर गर्भस्थ शिशु के दांतो पर पड़ता है। इसलिए Teeth Care के लिए गर्भावस्था में जरुरी कैल्शियम और अन्य खनिज लेने चाहिए | अधिक जानकारी के लिए पढ़ें – गर्भावस्था में जरुरी आहार Diet Chart सहित |

यह भी पढ़ें



शेयर करें

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*