Author Archive

हेयर कलर कैसे करें- जानिये बाल कलर करने का तरीका

बालों को नई लुक देने के लिए हेयर कलर से बाल रंगने के अलावा और कोई विकल्प नहीं होता है पर हर बार ब्यूटी सलून में जाकर हेयर कलर करवाना भी मुमकिन नहीं होता है | क्योंकि इससे पैसों के साथ ही समय की भी बर्बादी होती है | ऐसे में घर पर ही बाल

हेयर डाई और कलर करने से पहले जाने ये 25 जरुरी टिप्स

बालों के असमय सफेद होने का कारण यह है कि हमारी त्वचा और बालों का रंग एक ही मेलिनिन से निर्धारित होता है। उम्र बढने के साथ-साथ पिगमेंट का बनना भी कम होते-होते रुक जाता है, जिसकी वजह से बाल धीरे-धीरे सफेद हो जाते हैं। यह प्राकृतिक क्रिया होती है कि एक बार बाल सफेद

पतंजलि दिव्य: स्वर्ण भस्म,च्यवनप्राश, बादाम पाक और शिलाजीत के लाभ

Reference – इस पोस्ट में पतंजलि दिव्य आयुर्वेद दवाओ की समस्त जानकारी बाबा रामदेव जी के दिव्य आश्रम प्रकाशन की पुस्तक (आचार्य बाल कृष्ण द्वारा लिखित “औषधि दर्शन”, मई २०१६ के २५ वें संस्करण से ली गई है ) Disclaimer – यह जानकारी केवल आपके ज्ञान वर्धन और दवाओ की जानकारी के लिए है |

मेकअप किट – क्रीम, रूज और फाउंडेशन की जानकारी

मेकअप का सामान भाग -1 में हमने आँखों, बालों, चेहरे,होंठ और नाखूनों के मेकअप में उपयोग होने वाले प्रसाधनो की जानकारी दी थी | इस पोस्ट में मेकअप किट बनाने के लिए क्रीम, रूज और फाउंडेशन के बारे में विस्तार से जानेगें | चेहरे की त्वचा को सुन्दर और स्वस्थ बनाने के लिए कोल्ड क्रीम,

मेकअप का सामान -मेकअप किट लिस्ट

सजने संवरने के लिए विभिन्न cosmetics का प्रयोग बहुत पुराने समय से होता आ रहा है, किंतु आधुनिक युग में इनकी संख्या बहुत बढ़ गई है। देसी व विदेशी दोनों प्रकार के प्रसाधनों की विभिन्न किस्में इन दिनों प्रचलन में हैं। त्वचा के हिसाब से सही और मेकअप का सामान का प्रयोग ही ठीक रहता

पतंजलि आयुर्वेद दवा की जानकारी- वटी, गुग्गुलु ,अरिष्ट

Reference – इस पोस्ट में पतंजलि आयुर्वेद दवाओ की समस्त जानकारी बाबा रामदेव जी के दिव्य प्रकाशन की पुस्तक (आचार्य बाल कृष्ण द्वारा लिखित “औषधि दर्शन” , मई २०१६ के २५ वें संस्करण से ली गई है ) Disclaimer – यह जानकारी केवल आपके ज्ञान वर्धन और दवाओ की जानकारी के लिए है | बिना चिकित्सक

सफेद दाग होने के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

सफेद दाग (Leucoderma )- इस रोग में त्वचा का प्राकृतिक रंग बदल जाता है और वहां सफेदी आ जाती है। सफेदी के कारण इसे शिवत्र भी कहते हैं। इस रोग को हिन्दी में ‘श्वेत कुष्ठ’ अथवा ‘सफेद कोढ़’ के नामों से भी जाना जाता है, परंतु कुछ चिकित्सक इसे ‘कोढ़” न मानकर एक अलग ही

गर्भकालीन मधुमेह: कारण लक्षण बचाव और सावधानियां

गर्भकालीन मधुमेह, जैस्टेशनल डायबिटीज गर्भावस्था के दौरान विकसित होता है। आमतौर पर गर्भावस्था समाप्त होने पर यह अपने आप ही ठीक हो जाता है | जिन महिलाओं में प्रेगनेंसी के दौरान डाइबिटीज़ रोग होता है उनके  अपने जीवन में आगे 5 से 10 वर्षों में मधुमेह की बीमारी फिर से होने का 20 से 50

कब्ज का रामबाण इलाज – 22 आयुर्वेदिक उपचार

पिछले पोस्ट में हमने कब्ज होने के प्रमुख कारण, लक्षण, कब्ज से बचने के लिए क्या खाना चाहिए, क्या नहीं खाना चाहिए, कब्ज न हो इसके लिए सही दिनचर्या क्या होनी चाहिए, भोजन कैसे करें, कुछ आसान घरेलू उपाय, और पांच योगासन बताये थे | इस पोस्ट में हम कब्ज का इलाज करने के लिए

दस्त के घरेलू उपचार

दस्त के घरेलू उपचार – अतिसार अर्थात दस्त होने का मुख्य कारण दूषित पानी और भोजन खाने से , बेक्टीरिया इन्फेक्शन, संक्रमण और ज्यादा गर्मी या लू लगना होता है | कई बार भोजन में तेल, लाल मिर्च, घी, और गरिष्ठ खाद्य-पदार्थ खाने से भी पेट खराब हो जाता है। छोटे बच्चे हर समय कुछ-न-कुछ