Author Archive

पतंजलि दिव्य वटी : यौवनामृत, शिलाजीत रसायन,अश्वगंधा कैप्सूल के लाभ

इस लेख में पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित पतंजलि दिव्य वटी , क्वाथ और कैप्सूल की जानकारी दी गयी है | साथ ही यह भी बताया गया है की इन औषधियों का सेवन कैसे करें और क्या परहेज रखें ? इस लेख में पतंजलि आयुर्वेद के निम्नलिखित उत्पादों की जानकारी दी गयी है | पतंजलि दिव्य

एलोवेरा के नुस्खे : दाद, खुजली, घाव, फोड़े-फुंसियों और जली त्वचा के लिए

एलोवेरा (aloe vera) एक औषधीय पौधा है इसमें एक जड़ी-बूटी की तरह कई गुण होते हैं | एलोवेरा को हम बहुत से नामो से जानते है – ग्वारपाठा, चित्र कुमारी , धृत कुमारी आदि | बहुत से फायदों की वजह से तुलसी और नीम की तरह ही एलोवेरा को भी एक चमत्कारी पौधा कहा जाता

पतंजलि आयुर्वेद की दवाइयां : थायराइड, मोटापा, जोड़ों के दर्द, सर्वाइकल

पतंजलि आयुर्वेद की दवाइयां – इस लेख में पतंजलि आयुर्वेद में विभिन्न रोगों की चिकित्सा के लिए उपलब्ध दवाओ की जानकारी दी गयी है | साथ ही यह भी बताया गया है की इन औषधियों का सेवन कैसे करें और क्या परहेज रखें | इस लेख में निम्नलिखित बीमारियों के लिए आयुर्वेदिक औषधियां बताई गई

जानिए दिमागी बुखार के लक्षण व बचाव की जानकारी

जापानी दिमागी बुखार  (Japanese Encephalitis) – यह एक मच्छर द्वारा उत्पन्न खतरनाक रोग है, जो क्यूलैक्स ट्राइिरनोटिक्स नामक मच्छर द्वारा फैलाया जाता है और रोग का कारण होता है बी-अर्बोवाइरस, फ्लेविवायरस। वास्तव में यह जानवरों और पक्षियों को होने वाली बीमारी है, जो कभी-कभी मनुष्यों में भी फैल जाती है। इससे विश्व में लगभग 45

Tonic & Multivitamin Tablets: लाभ और साइड इफ़ेक्ट

आपने ऐसे अनेक व्यक्तियों को देखा होगा, जो शरीर की तंदुरुस्ती को बनाए रखने के लिए घूमना, दौड़ना, कसरत करना आदि से जी चुराते हैं और इसके बदले में बाजार में उपलब्ध Tonic के नाम से मिलने वाली रंगबिरंगी गोलियों, कैप्सूलों और सिरप की शीशियों में पैक दवाओं से अपनी तंदुरुस्ती कायम रखना चाहते हैं।

बाबा रामदेव आयुर्वेदिक दवा : हाई बीपी, बुखार, पेट के रोगों के लिए

बाबा रामदेव आयुर्वेदिक दवा – इस पोस्ट में पतंजलि आयुर्वेद में विभिन्न रोगों की चिकित्सा के लिए उपलब्ध दवाओ की जानकारी दी गयी है | यह जानकारी देने का उद्देश्य यह है की आप पतंजली की जो दवा ले रहे है वो किस बीमारी में काम आती है | कई बार मरीजो को दवा के

हाइपोग्लाइसीमिया : शुगर लेवल कम होने के लक्षण, कारण, उपचार

हाइपोग्लाइसीमिया, हाइपरग्लाइसीमिया और मधुमेह संबंधी बेहोशी  (Hypoglycaemia) उस स्टेज को कहते हैं जब खून में ग्लूकोज़ की मात्रा सामान्य से घट जाती है या शुगर लेवल कम हो जाता है। वैसे तो हाइपोग्लाइसीमिया के कई कारण होते हैं, परंतु मधुमेह (Diabetes) के मरीजो में इसके होने के प्रमुख कारण, लक्षण, प्राथमिक इलाज और शुगर कम

डायबिटीज में इंसुलिन इंजेक्शन : तरीका, सावधानी, साइड इफ़ेक्ट

पिछले पोस्ट में हमने रक्त से शुगर की मात्रा कम करने और कंट्रोल करने के लिए टिप्स बताये थे जिसमे मुख्य तौर पर सही खानपान और व्यायाम तथा योग के बारे में बताया था | इस पोस्ट में हम Insulin Dependent Diabetes में प्रयोग होने वाले इंसुलिन पेन के उपयोग से सम्बंधित जानकारी देंगे जिसमे

पतंजलि की दवा : गैस, कब्ज, बदहजमी, एसिडिटी के लिए

इस लेख में निम्नलिखित रोगों के उपचार के लिए उपलब्ध पतंजलि की दवा की जानकारी दी गयी है | साथ ही यह भी बताया गया है की इन औषधियों का सेवन कैसे करें और क्या परहेज रखें | नीचे दी हुई बीमारियों के लिए उपलब्ध पतंजलि आयुर्वेदिक की औषधियां बताई गई है | पेट की

जानिए नमक के फायदे ,नुकसान और कितना खाएं?

खाना चाहे कितना भी अच्छा क्यों न हो, बिना नमक के वह बेस्वाद और अरुचिकर ही लगता है। कभी-कभी सब कुछ ठीक-ठाक होने के बावजूद यदि नमक ज्यादा हो गया है, तो वह खाया नहीं जाता, इसलिए नमक के कम व उचित प्रयोग से भोजन न केवल स्वादिष्ट लगता है, बल्कि कई बीमारियों को भी